कांग्रेस ने नोटबंदी की दूसरी बरसी पर प्रदर्शन किया

अजमेर। कांग्रेस ने नोटबंदी की दूसरी बरसी पर प्रदर्शन करते हुए भाजपा पर आरोप लगाया कि मोदी सरकार ने नोट बंदी करके देश को आर्थिक आपातकाल जैसी स्थिति में झोंक दिया था, सरकार के जल्दबाजी में लिए गए इस फैसले से देश की अर्थव्यवस्था पूरी तरह चरमरा गई है जिसका खामियाजा सीधे तौर पर उद्योग धंधों पर पड़ा है।
नोट बंदी के निर्णय के 2 साल होने पर शहर देहात कांग्रेस द्वारा संयुक्त रूप से किए गए प्रदर्शन के बाद कांग्रेस अध्यक्ष विजय जैन ने कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि देश में नोट बंदी के कारण आर्थिक आपातकाल जैसी स्थिति हो गई है सरकार के इस निर्णय से देश की अर्थव्यवस्था पूरी तरह चरमरा गई है इसका बड़ा असर मैन्युफैक्चरिंग क्षेत्र पर भी पड़ा है कई औद्योगिक क्षेत्रों में तो मांग घटने के चलते उत्पादन में 30 फ़ीसदी तक की कमी आ गई है जिसका सीधा असर उद्योग धंधों पर पड़ा है। उन्होंने कहा कि नोटबंदी के निर्णय से देश भर नहीं पाया है क्योंकि भाजपा सरकार ने जिस तरह इसका क्रियान्वयन किया है उससे गरीब किसान मजदूर वर्ग को काफी उठानी पड़ी है।
उन्होंने कहा कि नोटबंदी का फैसला ‘आजाद भारत का सबसे बड़ा घोटाला’ है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को नोटबंदी की विफलता की जवाबदेही स्वीकार करनी चाहिए। कांग्रेस अध्यक्ष जैन ने इसे देश का काला अध्याय करार देते हुए देश में आर्थिक अराजकता का आरोप आरोप लगाया और देश की जनता से माफी मांगने की सलाह दी। उन्होंने कहा प्रधानमंत्री को देश को बताना चाहिए कि इससे कितना कालाधन वापस आया और कितने नकली नोट पकड़ाए? आतंकी और नक्सली घटनाओं में कितनी कमी आई? कितने खातों में 15-15 लाख रुपये जमा किए गए? देश की अर्थ व्यवस्था में कितना सुधार हुआ?
कांग्रेस के देशव्यापी आवान के तहत कांग्रेस कार्यकर्ता शुक्रवार को सुबह 11 बजे पटेल मैदान के सामने मुख्य मार्ग पर जमा हुए और शहर अध्यक्ष विजय जैन देहात अध्यक्ष भूपेंद्र सिंह राठौड़ के संयुक्त नेतृत्व में जुलूस के रूप में नोटबंदी के विरुद्ध नारे लगाते हुए जिला कलेक्टर मुख्यालय पहुंचे जहां कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने भाजपा सरकार के विरुद्ध जमकर नारेबाजी करते हुए प्रदर्शन किया कांग्रेस के प्रदर्शन के कारण कलेक्ट्रेट के मुख्य द्वार पर पुलिस का भारी बंदोबस्त था कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के विरुद्ध जमकर नारेबाजी की।
प्रदर्शन में प्रमुख रूप से पूर्व मंत्री ललित भाटी कमल बाकोलिया पूर्व विधायक गोपाल बाहेती नाथूराम सिनोदिया महेंद्र गुर्जर कुलदीप कपूर प्रताप यादव श्याम प्रजापति फखरे मोईन महेश ओझा गुलाम मुस्तफा गिरधर तेजवानी सुरेश लद्दड़ वैभव जैन आरिफ हुसैन ललित भटनागर देशराज मेहरा सुकेश कांकरिया इमरान सिद्दीकी रवि शर्मा बलराम शर्मा राकेश सांखला राजकुमार तुलसियानी कैलाश कोमल अशोक सुकरिया लक्ष्मण फामड़ा शैलेश गुप्ता मुनीम चंद तंबोली शमशुद्दीन मनीष शर्मा सबा खान मनोज कंजर महेंद्र कटारिया मनोज सोनी कमल गंगवाल विश्वास तंवर राकेश सिवासिया मंजू सोनी गीता गुर्जर अरुणा का कच्छावा गंगा गुर्जर दिनेश वासन दयाशंकर मंजू बलाई रश्मि हिंगोरानी श्रवण टोनी राकेश चौहान बालमुकुंद टांक नीरज यादव बशीर मोहम्मद दयानंद चतुर्वेदी निमेष चौहान दौलत ना वरिया निशा जेसवानी लक्ष्मी बुंदेल रमेश सोलंकी मुकेश सबलानिया राजेश कुमार गोठवाल हेमंत जसोरिया राजकुमार गर्ग मुख्तार अहमद नवाब सहित सैकड़ों की संख्या में कांग्रेसी कार्यकर्ता शामिल थे।

Leave a Comment

error: Content is protected !!