स्टाॅप फार अस्थमा जागरुकता वाॅक निकली

चिकित्सकों और चिकित्सा कर्मियों ने लिया भाग
अजमेर, 6 मई( )। विश्व अस्थमा दिवस (7 मई) के उपलक्ष्य में सोमवार को सुबह मित्तल हाॅस्पिटल एंड रिसर्च सेंटर, अजमेर प्रांगण सेे चिकित्सकों व चिकित्सा कर्मियों ने जागरुकता वाॅक निकाली। जवाहरलाल नेहरू आयुर्विज्ञान महाविद्यालय एवं चिकित्सालय के वक्ष एवं क्षय रोग विशेषज्ञ डाॅ नीरज गुप्ता एवं सेवानिवृत्त प्रोफेसर मेडिसिन विभाग, जेएलएन डाॅ एस.के. अरोड़ा ने फीता काट कर जागरुकता वाॅक को रवाना किया।
वल्र्ड हैल्थ आॅर्गनाईजेशन (डब्ल्यूएचओ) के मुताबिक इस बार वल्र्ड अस्था दिवस की थीम स्टाॅप फार अस्थमा रखी गई है। मित्तल हाॅस्पिटल के पल्मनोलाॅजिस्ट डाॅ प्रमोद दाधीच का कहना है कि वातावरण में बढ़ते प्रदूषण के कारण अस्थमा व श्वास रोगियों की संख्या में इजाफा हो रहा है। इससे बचाव का मार्ग पर्यावरण संरक्षण के प्रति व्यक्तिगत और सामूहिक प्रयास से ही निकलता है। उन्होंने बताया कि पर्यावरण प्रदूषण घर के अंदर और बाहर दोनों तरफ हो रहा है। इस पर सभी को ध्यान देने की जरूरत है। घर और घर के आसपास साफ सुथरा वातावरण बनाएं। अपनी जीवन शैली में छोटे छोटे बदलाव कर खुशनुमा माहौल बनाएं व नियमित योगा-प्राणायाम करें, नियमित श्वास क्रियाएं करें, व्यायाम एवं ध्यान क्रियाएं कर करीब आठ से दस बार शंख बजाएं। प्रसन्न रहने के प्रयत्न करें।
जागरुकता वाॅक मित्तल हाॅस्पिटल से निकलकर माहेश्वरी पब्लिक स्कूल से यू टर्न कर वापस हाॅस्पिटल पहुंचकर समाप्त हुई। वाॅक में शामिल सभी चिकित्सकों व चिकित्साकर्मियों के फेफड़ों की कम्प्यूटर द्वारा स्पाइरोमिट्री जांच की गई व स्वस्थ फेफड़ों वाले चिकित्सक एवं चिकित्साकर्मी को पुरस्कृत किया गया।
फोटो-वल्र्ड अस्थमा दिवस के अवसर पर मित्तल हाॅस्पिटल प्रांगण से स्टाॅप फार अस्थमा जागरुकता वाॅक का फीता काट कर शुभारंभ करते जेएलएन काॅलेज एवं हाॅस्पिटल के वक्ष एवं क्षय रोग विशेषज्ञ डाॅ नीरज गुप्ता एवं सेवानिवृत्त प्रोफेसर मेडिसिन डाॅ एस के आरोड़ा।

सन्तोष गुप्ता
प्रबंधक जनसम्पर्क/9116049809

Leave a Comment