व्यावसायिक गतिविधियाँ बिना रोक टोक के संचालित की जा रही हैं

अजमेर 25/05//2019, अजमेर जिला कांग्रेस कमेटी के सीए प्रकोष्ठ के जिलाध्यक्ष सीए विकास अग्रवाल व प्रदेश राजीव गाँधी यूथ फेडरेशन के प्रदेश संयोजक कमल गंगवाल ने जिला कलेक्टर अजमेर का ध्यान कल सूरत में हुई भयावह और विचलित कर देने वाले ह्रदयविदारक दर्दनाक हादसे की और आकर्षित करते हुए बताया कि इसी प्रकार अजमेर में भी ऐसे कई आवासीय परिसर हैं जिनमें कईयों का तो नगर निगम या एडीए से नक्शा भी स्वीकृत नहीं है जिनमें धडल्ले से व्यावसायिक गतिविधियाँ बिना रोक टोक के संचालित की जा रही हैं जिनमे कोचिंग सेंटर, योग क्लासेज, जिम, फिटनेस क्लब, आदि अनेक व्यावसायिक गतिविधियाँ चल रही है जिनका उद्देश्य मात्र पैसा कमाना है जिनमे न ही सुरक्षा हेतु किसी प्रकार के उपकरण लगे हुए हैं और ना ही दुपहिया व चौपहिया वाहनों के लिए पार्किंग का स्थान है |
गंगवाल व अग्रवाल ने बताया को समाज सेवक व जागरूक लोगों द्वारा कई बार सम्बंधित विभागों जैसे नगर निगम आदि में शिकायते करने के बावजूद मिलीभगत के चलते निगम और अन्य विभागों के अधिकारीगण इनके विरुद्ध कोई क़ानूनी कार्यवाही नहीं करते हैं | ऐसे में अजमेर में भी सूरत की तर्ज पर किसी भी समय भयावह हादसा घटने की आशंका से इनकार नहीं किया जा सकता है | जिला कलेक्टर अजमेर से मांग की है कि जिन आवासीय परिसरों में व्यावसायिक गतिविधियाँ संचालित हो रही हैं जिनकी शिकायतें नगर निगम या अन्य विभागों में लंबित हैं उन पर अविलम्ब तुरंत कार्यवाही करवाई जाये जिससे सूरत में हुए हादसे की पुनरावृत्ति अजमेर में ना हो | इसके अतिरिक्त नगर निगम अजमेर व अन्य को निर्देश देने की मांग की है कि सर्वे करके ऐसे भवनों को चिन्हित किया जाये जो बिना भू उपयोग परिवर्तन कराये आवासीय परिसर में व्यावसायिक गतिविधियों को अंजाम दे रहे हैं उनके खिलाफ ठोस एवं प्रभावी कार्यवाही करने की मांग की है |
मांग करने वालों में कमल गंगवाल, सीए विकास अग्रवाल, विजयश्री, राजकुमार गर्ग, विजय पांड्या, शैलेश गुप्ता, अनुपम शर्मा, डा. सैयद मंसूर अली, जुल्फिकार चिश्ती, युग जैन, योगेश तांतेड, मनीष सेन, नीरू दोसाया, शरद कपूर, प्रहलाद माथुर, प्रेमसिंह गौड, संयम गंगवाल, संजय बाकलीवाल, सुदेश पाटनी आदि ने मांग की है |

Leave a Comment

error: Content is protected !!