बेटियों से दुराचार चिंताजनक : संत गोपालराम

ब्यावर, 12 जून। शहर के रामद्वारा में श्रीमद भागवत कथा का आयोजन किया जा रहा है। कथा के पंचम दिवस की कथा में संत गोपालराम महाराज ने बेटियों पर बढ़ रहे अत्याचार पर चिंता जताई। उन्होंने कहा कि समाज में बेटियों के साथ दुराचार की घटनाएं दिनोंदिन बढ़ रही है। अपराधियों में सजा का भय समाप्त सा हो गया है। इसे रोकने के लिए युवा पीढ़ी को धर्म से जोड़ना जरूरी है। बच्चों को किताबी ज्ञान के साथ सामाजिक शिक्षा देना बेहद आवश्यक है। उन्होंने मोबाइल के बढ़ते उपयोग को भी घातक बताया। वे बोले, मोबाइल आने से मुस्कुराहट खो गई है। माता-पिता से ज्यादा प्यारा मोबाइल हो गया है। कथा प्रसंग सुनाते हुए कहा कि जो आनंद दे वही नंद और जो यश दे वही यशोदा है। कृष्ण की बाल लीलाओं के साथ गोवर्धन लीला का गुणानुवाद किया गया। विष्णु चतुर्वेदी ने बिरज की गलियन में नाचे जोगी मतवाला.., आज म्हारा कानूड़ा ने कई हो ग्यो.., सांवरिया थारा नाम हजार.. जैसे भजनों की प्रस्तुति दी तो भक्त झूम उठे। मंच संचालन सुमित सारस्वत ने किया। रामद्वारा महिला मंडल, रामअवतार अग्रवाल, गोपाल मित्तल, अशोक अग्रवाल, रुद्र झंवर, गोपाल चतुर्वेदी ने महाराज का स्वागत कर आशीर्वाद लिया। कथा में आयोजक सीता देवी, अजय, ललित, रमेश, सत्यनारायण, विष्णु, रानी, मोनिका, सीमा, निधि, प्रेम जिंदल, निखिल जिंदल, अनिल खींचा, अमित बंसल सहित बड़ी संख्या में भक्तों ने धर्मलाभ लिया। गुरुवार को कृष्ण-रुक्मणि विवाह उत्सव मनाया जाएगा।

Leave a Comment

error: Content is protected !!