“साहित्य और पत्रकारिता के सम्बन्ध अतीत एवम् वर्तमान” विषय पर दो दिवसीय राष्ट्रीय संगोष्ठी

राजस्थान साहित्य अकादमी उदयपुर एवम श्रमजीवी महविद्यालय,अजमेर के सयुंक्त तत्वाधान में दिनांक 23 व 24 जनवरी 2020को “साहित्य और पत्रकारिता के सम्बन्ध अतीत एवम् वर्तमान” विषय पर दो दिवसीय राष्ट्रीय संगोष्ठी का आयोजन किया जा रहा है |
संगोष्ठी का लक्ष्य साहित्य एवं पत्रकारिता के अतीत में रहे गहरे रिश्ते को लक्षित कर उन्हें वर्तमान सन्दर्भों में परिभाषित करना है |
संगोष्ठी के द्वारा इलेक्ट्रॉनिक, प्रिन्ट व सोशल मीडिया के वर्तमान परिदृश्य की विवेचना करते हुए इनमें साहित्य के विस्तार की संभावनाओं को खोजने का प्रयास भी किया जाएगा |
संगोष्ठी में मुख्य रूप से “स्वाधीनता आन्दोलन में साहित्य व पत्रकारिता का अवदान”, ‘वर्तमान समय में साहित्य व पत्रकारिता के अंत: सम्बन्ध’, ‘इलेक्ट्रॉनिक व प्रिन्ट मीडिया में साहित्य की उपस्थिति’ तथा ‘सोशल मीडिया का साहित्य व पत्रकारिता’ पर प्रभाव आदि विषयों पर विभिन्न सत्र आयोजित किये जायेंगे |
आपका साहित्य एवम् पत्रकारिताके क्षेत्र में सुदीर्घ अनुभव रहा है हमारी आकांक्षा है कि संगोष्ठी को आपकी सहभागिता व मार्गदर्शन का लाभ प्राप्त हो |
आप इस संगोष्ठी में सादर आमंत्रित है | संगोष्ठी में आपका आतिथ्य हमारा सोभाग्य होगा |
कृपया उक्त संगोष्ठी में भाग लेने की स्वीकृति प्रदान करने की कृपा करें |
संगोष्ठी में देश के अनेक प्रतिष्ठित साहित्यकार व पत्रकार भाग लेने अजमेर आ रहे हैं।
संगोष्ठी का उद्घाटन 23 जनवरी को प्रातः 11 बजे महाविद्यालय सभागार में होगा।

डॉ. अनंत भटनागर
प्राचार्य व संयोजक

Leave a Comment

error: Content is protected !!