भारतीय रेलवे आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति के लिए 24 घण्टे काम कर रही है।

देश में मालगाड़ियों का परिचालन जारी है जिनमें खाद्यान्न, नमक, चीनी, दूध, खाद्य तेल, प्याज, फल और सब्जियाँ, पेट्रोलियम उत्पाद, कोयला, उर्वरक आदि, रेलवे टर्मिनलों पर लोड किया जा रहा है। जबकि यात्री ट्रेन सेवाओं को कोरोनावायरस (COVID-19) के मद्देनजर निलंबित कर दिया गया है।

कोरोनावायरस की महामारी के कारण, भारतीय रेलवे ने 31 मार्च 2020 तक देश भर में यात्री ट्रेन सेवाओं के संचालन को निलंबित कर दिया है। वर्तमान में, भारतीय रेलवे देश भर में केवल माल गाड़ियों का परिचालन कर रही है। भारतीय रेलवे आवश्यक वस्तुओं की उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिए सभी प्रयास कर रहा है जिसमें इसकी निर्बाध माल ढुलाई सेवाएं शामिल है।
विभिन्न राज्यों में लॉक डाउन की स्थिति के दौरान, विभिन्न गुड्स शेडों, स्टेशनों और नियंत्रण कार्यालयों में तैनात भारतीय रेल कर्मचारी यह सुनिश्चित करने के लिए 24 घंटे काम कर रहे हैं ताकि राष्ट्र के लिए आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति प्रभावित न हो।
23 मार्च 2020 को, आवश्यक वस्तुओं खाद्यान्न, नमक, खाद्य तेल, चीनी, दूध, फल और सब्जियां, प्याज, कोयला और पेट्रोलियम उत्पाद के कुल 474 रेक लोड किए गए। । इस दिन, भारतीय रेलवे द्वारा कुल 891 रेक लोड किए गए जिसमें अन्य महत्वपूर्ण वस्तुएं भी शामिल हैं जैसे लौह अयस्क के 121 रेक, स्टील के 48 रेक, सीमेंट के 25 रेक, उर्वरक के 28 रेक कंटेनर के 106 रेक आदि। राज्य सरकारों के साथ घनिष्ठ समन्वय बनाए रखा जा रहा है ताकि कोविड -19 के मद्देनजर लगाए गए विभिन्न प्रतिबंधों के बीच, आवश्यक वस्तुओं को बिना किसी देरी के आसानी से न भेजा जा सके। भारतीय रेलवे ने वस्तुओं और पार्सल के लिए डेमरेज और वरफेज की दरों में 31.03.2020 तक निर्धारित दरों के आधे की कमी कर दी है।

माल / कंटेनर यातायात से संबंधित दर नीतियों की वैधता भी एक महीने यानी 30.04.2020 तक बढ़ाया गया है। दिनाँक 24.03.2020 से 30.04.2020 तक खाली कंटेनर की आवाजाही के लिए कोई शुल्क नहीं लिया जाएगा।
वैगनों के लोडिंग / अनलोडिंग के लिए समय और रेलवे परिसर से माल हटाने के समय को दिनाँक 31.03.2020 तक दोगुने तक बढ़ा दिया गया है।आवश्यक वस्तुओं की निर्बाध आवाजाही की निगरानी के लिये रेलवे प्रणाली पर रेल मंत्रालय में एक आपातकालीन माल नियंत्रण कक्ष काम कर रहा है और अधिकारियों द्वारा बहुत वरिष्ठ स्तर पर माल ढुलाई पर कड़ी नजर रखी जा रही है।

Leave a Comment

error: Content is protected !!