एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन

जिला विधिक सेवा प्राधिकरण एवं संस्था सेन्टर फॉर एडवोकेसी एण्ड रिसर्च द्वारा संचालित ‘सहाय‘ एकल खिड़की के संयुक्त तत्वाधान में एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन सोशल डिसटेन्सिग का पालन करते हुए किया गया। कार्यशाला का मुख्य उद्धेश्य महिला सशक्तिकरण नालसा स्कीम, रालसा स्कीम, की जानकारी सामाजिक सुरक्षा योजनाओं में समावेशन, कोराना महामारी से बचाव हेतु जागरूकता, कोरोना महामारी के कारण योजनाओं को लेने में आ रही चुनौतियां और बुनियादी सुविधाओं का शहरी गरीब समुदाय तक पहंुच का आकलन सम्बन्धित विभाग के साथ साझा करना था।

डॉ शक्ति सिंह शेखावत, सचिव, अपर जिला एवं सेशन न्यायाधीश, जिला विधिक सेवा प्राधिकरण ने महिला सशक्तिकरण कार्यक्रम की गतिविधियों की जानकारी देते हुए उपस्थित विभागीय अधिकारी, स्वयेसेवी संस्थाओं, सामाजिक संगठनों और समुदाय के लोगों को नालसा और रालसा द्वारा चलायी जा रही सेवाओं, योजनाओं तथा जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के तहत दी जाने वाली विधिक सेवाओं और स्थायी लोक अदालत की जनोपयोगी सेवाओं की जानकारी दी और उपस्थिति विभागीय अधिकारियों को सरकार द्वारा चलायी जा रही सामाजिक सुरक्षा योजनाओं का लाभ अधिक से अधिक पात्र और वंचित समुदाय तक पहंुचाने में पूर्ण सहयोग देने का आग्रह किया।

कार्यशाला में समुदाय हेल्प डेस्क सदस्यों के सहयोग एंव ‘सहाय‘ एकल खिडकी के माध्यम से अजमेर शहर के वंचित समुदाय को कोरोना महामारी के कारण बुनियादी सेवाओं, कानूनी संरक्षण, राशन, पेंशन, सामाजिक सुरक्षा योजना, आवास, कौशल विकास, वंचित समुदाय को बुनियादी सेवाओं, प्राथमिकताओं, योजनाओं की पहंुच में आने वाली चुनौतियों एवं समस्याओं का पहचान कर सम्बन्धित विभिन्न विभाग जैसे सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग, श्रम विभाग, जिला मेडिकल एवं स्वास्थय विभाग, रसद विभाग, अजमेर नगर निगम, एनएलयूएम, सूचना एवं प्रौद्योगिकी, महिला एवं बाल विकास विभाग, महिला अधिकारिता विभाग तथा जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के साथ किया।

कार्यशाला में विभिन्न विभागीय अधिकारियों ने अपने विभागीय द्वारा चलायी जा रही विभिन्न जन कल्याणकारी सरकारी योजनाओं और सामाजिक सुरक्षा योजनाओं की विस्तृत जानकारी दी तथा समुदाय से उपस्थित प्रतिनिधियों और समुदाय हेल्प डेस्क सदस्यों को योजनाओं और सेवाओं के लाभ लेने में आ रही समस्याओं का निराकरण किया तथा भविष्य में भी योजनाओं सम्बनिधत किसी भी सहायता के लिए पूर्ण विभागीय सहयोग का आश्वासन दिया, जिससे पात्र लोगों तक योजनाओं का लाभ पहंुचाया जा सके।

कार्यशाला में डॉ शक्ति सिंह शेखावत, सचिव, अपर जिला एवं सेशन न्यायाधीश, जिला विधिक सेवा प्राधिकरण, अजमेर, श्रीमती ममता पूनिया, अधिक्षक नारी निकेतन सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग, श्रीमति सुषमा शर्मा, श्रम निरीक्षक, श्रम विभाग अजमेर, अतिरिक्त मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ सम्पत सिंह जोधा, सामाजिक संगठनों, समुदाय हेल्प डेस्क सदस्य एवं समुदाय प्रतिनिधि सहित लगभग 25 लोग उपस्थिति थे।

Leave a Comment

This site is protected by reCAPTCHA and the Google Privacy Policy and Terms of Service apply.

error: Content is protected !!