बड़ी चर्चा थी देवनानी व भदेल के हटने की

a bhadel-devnaniराजस्थान मंत्रीमंडल के विस्तार से पहले यह चर्चा खूब थी कि शिक्षा राज्य मंत्री प्रो. वासुदेव देवनानी व महिला व बाल विकास राज्य मंत्री श्रीमती अनिता भदेल को हटाया जा रहा है। इस बात के पक्ष में दलील ये दी जा रही थी कि किशनगढ़ के विधायक भागीरथ चौधरी व केकड़ी के विधायक शत्रुघ्न गौतम को जयपुर बुलाया गया है और उनको मंत्री पद से नवाजा जा रहा है। जैसे ही इलैक्ट्रॉनिक मीडिया पर मंत्रीमंडल विस्तार की खबरें आने लगीं, हर एक की नजर इसी चर्चा पर भी थी। जैसे ही श्रीचंद कृपलानी को मंत्री बनाए जाने की खबर आई, हर एक की जुबान पर था कि प्रो. देवनानी की छुट्टी पक्की, क्योंकि सिंधी कोटे से एक ही मंत्री होने का अनुमान था, मगर जल्द ही अफवाह झूठी साबित हो गई।
असल में अजमेर के दोनों मंत्रियों के हटने की चर्चा पिछले काफी दिन से चल रही थी। कई बार प्रिंट मीडिया में भी छपा। इसके पीछे दलील ये दी जा रही थी कि दोनों के बीच छत्तीस का आंकड़ा होने का नुकसान भाजपा संगठन को हो रहा है। हालांकि साथ ही यह चर्चा भी थी कि प्रो. देवनानी को हटाना आसान काम नहीं है, क्योंकि वे संघ लॉबी में शीर्ष के नेता हैं। उधर श्रीमती भदेल में पक्ष में तर्क ये था कि वसुंधरा ने खुद की पसंद से उन्हें देवनानी को बैलेंस करने के लिए बनाया है, इस कारण उन्हें नहीं हटाया जाएगा। यदि एक हटा तो दूसरा भी हटेगा। मगर मंत्रीमंडल विस्तार के साथ ही यह साफ हो गया है कि अब वे अपना कार्यकाल पूरा करेंगे।

Leave a Comment

error: Content is protected !!