नारी, पुरूषों पर भारी

अजमेर। जयपुर की महिला सब इंस्पेक्टर बबीता ने राजस्थान पुलिस में अपनी हिम्मत के झंडे गाड़ दिए हैं । 50 लाख रूपये की रिश्वत मांग कर उसने अपने समकक्ष पुरुष पुलिसकर्मियों के समक्ष यह चुनौती पेश कर दी कि क्या वह इससे अधिक की रिश्वत मांगने की हिम्मत रखते हैं?

ओम माथुर
यूं पुलिस की रिश्वतखोरी आए दिन सामने आती रहती है ,लेकिन बबीता के स्तर के पुलिसकर्मी इतना बड़ा हाथ एक साथ मारने की कल्पना भी नहीं करते हैं । ऐसे पुलिस वालों के सामने बबीता ने यह मिसाल कायम की है कि अगर रिश्वतखोरी करनी है,तो छोटी मोटी रकम पर मुंह मत मारो ,लंबा हाथ मारो और अपनी वर्दी की इज्जत रखो । महज 7 साल की नौकरी में बबीता की डिमांड 50 लाख तक पहुंच गई । सोचिए,जैसे-जैसे उसकी नौकरी की अवधि बढती, वह रिश्वत की राशि लेने के नए आयाम स्थापित कर देती। लेकिन एसीबी ने उसे अपनी प्रतिभा दिखाने का मौका हाथ से छीन लिया और कल पांच लाख रूपए की पहली किस्त लेते हुए दबोच लिया ।
आज कुछ पुलिस वालों से इस बारे में बात की तो उन्हें बबीता के साहस पर गर्व था और उनका कहना था कि भले ही बबीता खुद रिश्वत लेते हुए पकड़ी गई हो। लेकिन बाकी पुलिस वालों के लिए रिश्वत की रेट जरूर बढ़ा गई है । अब जब हम रिश्वत मांगेंगे तो कम से कम उसका उदाहरण देखकर यह तो कह सकेंगे कि पुलिस में सब इंस्पेक्टर तक 50 लाख की रकम मांग सकता है । पुलिस की ये साहसी सब इंस्पेक्टर पहले दुष्कर्म का मुकदमा दर्ज नहीं करने के मामले में सस्पेंड हो चुकी है । जाहिर है उसमें भी इसने सौदेबाजी करके मोटी रकम कमाई होगी । महिला मुख्यमंत्री वाले राजस्थान में महिला सशक्तिकरण का इससे बड़ा उदाहरण और क्या मिलेगा। यानि अब रिश्वतखोरी में भी नारी पुरूषो पर भारी।

ओम माथुर/ 9351415379

Leave a Comment