पुष्कर विधानसभा क्षेत्र से भी भंवर सिंह पलाड़ा ने जताई मजबूत दावेदारी

◆ बीजेपी आलाकमान के समक्ष मसूदा के साथ साथ पुष्कर विधानसभा क्षेत्र से भी भंवर सिंह पलाड़ा ने जताई मजबूत दावेदारी , बीते 15 सालों से पुष्कर क्षेत्र में मजबूत पकड़ रखते है पलाड़ा ••••*

◆ *पलाड़ा द्वारा चुनावी मैदान में ताल ठोकने से बढ़ेगी संसदीय सचिव सुरेश सिंह रावत की मुश्किलें , रावत समाज मे पहले से ही हो रहा है सुरेश रावत का जमकर विरोध •••*

राकेश भट्ट
बीजेपी के दबंग और ईमानदार नेता के रूप में अपनी एक अलग पहचान रखने वाले युवा नेता भंवर सिंह पलाड़ा ने वैसे तो बीते पांच सालों में मसूदा विधानसभा क्षेत्र के प्रत्येक गावँ और ढाणी में जमकर विकास कार्य करवाये है , साथ ही साथ सभी जाति और धर्मो के लोगो की समस्याओं को भी त्वरित गति से मिटाने के भरपूर प्रयास किये है । यहां तक कि पूरे क्षेत्र में उन्होंने अपने बलबूते पर ही मोदी के सबका साथ सबका विकास नारे को सार्थक करते हुए हर वो काम किये जिससे आम जनता को राहत मिल सके । खास बात यह है कि पलाड़ा ऐसे नेता है जिन्होने ईमानदारी के साथ जनता की सेवा करने का जज्बा दिखाते हुए पांच साल दिल खोलकर जनता की समस्याओ का समाधान किया है । चूंकि अब आने वाले 7 दिसम्बर को पूनः राजस्थान विधानसभा के चुनाव होने है ऐसे में अन्य नेताओं की तरह भंवर सिंह पलाड़ा ने भी बीजेपी आलाकमान के समक्ष पूनः अपनी दावेदारी जता दी है ।

लेकिन खास बात यह है कि पलाड़ा ने मसूदा के साथ साथ पुष्कर विधानसभा क्षेत्र से भी अपनी मजबूत उम्मीदवारी जताकर कई बीजेपी नेताओं में हलचल मचा दी है । वैसे इसमे कोई शंका भी नही है कि पुष्कर क्षेत्र में आज भी पहले की तरह पलाड़ा की मजबूत पकड़ बनी हुई है । वे पिछले 15 सालों से लगातार इस क्षेत्र में ना सिर्फ चुनाव लड़ते आ रहे है बल्कि आज भी यहां के आम लोगो की दुःख तकलीफ में शामिल होते है , एक तरह से पलाड़ा आज भी यहां काफी लोकप्रिय भी है और सक्रिय भी । पलाड़ा पुष्कर से साल 2003 और 2008 में विधानसभा चुनाव लड़ चुके है । साल 2013 के चुनाव में भी इन्होंने पुष्कर से दावेदारी जताई थी लेकिन बीजेपी ने इनकी पत्नी सुशील कंवर पलाड़ा को मसूदा से उम्मीदवार बनाकर भेजा । वहां भी इन्होंने विपरीत परिस्तिथियों के बावजूद अप्रत्याशित जीत दर्ज करके अपने राजनैतिक कौशल का लोहा मनवाया था ।

*पलाड़ा की दावेदारी ने बढ़ाई संसदीय सचिव सुरेश रावत की मुश्किलें ••••*
रावत समाज के साथ साथ कई अन्य समाजो और आम लोगो की नाराजगी झेल रहे विधायक सुरेश सिंह रावत इस वक्त वैसे ही खासे परेशान चल रहे है और जैसे तैसे सभी रूठो को मनाने में जुटे हुए है । लेकिन अब अन्य नेताओं के साथ साथ पलाड़ा के द्वारा भी एक बार फिर पुष्कर से दावेदारी जताए जाने के चलते उनकी मुश्किलें बढ़ती नजर आ रही है । रावत भी जानते है कि यदि पलाड़ा ने एक बार पुष्कर से चुनाव लड़ने की बात मन मे ठान ली तो फिर बीजेपी का कोई नेता उन्हें डिगा नही सकता है । वही पुष्कर विधानसभा क्षेत्र के लोगो ने भी श्री मति सुशील कंवर पलाड़ा द्वारा जिला प्रमुख पद पर रहते हुए करवाये गए सैकड़ों विकास कार्यो को अपनी आंखों से देखा है । साथ ही आज भी पुष्कर क्षेत्र के प्रत्येक गावँ और ढाणियों में रहने वाले हजारो लोग पलाड़ा से सीधे संपर्क में है । इसलिए बीजेपी आलाकमान भी इनकी उम्मीदवारी को गंभीरता से ले रहा है ।

*यदि मौका मिला तो पुष्कर तीर्थ की मर्यादा के साथ साथ सम्पूर्ण क्षेत्र का होगा चहुंमुखी विकास – पलाड़ा •••*
पॉवर ऑफ नेशन से बातचित के दौरान पलाड़ा ने बताया कि उनके मन मे बीते कई सालों से इच्छा है कि पुष्कर तीर्थ के पवित्र सरोवर और यहां के तीर्थ की मर्यादा बनाये रखने के साथ साथ सम्पूर्ण क्षेत्र का विकास करूं । पुष्कर तीर्थ का गौरव बनाये रखना हमारा फर्ज भी है और कर्तव्य भी । यदि उन्हें यहां की सेवा करने का अवसर मिलता है तो यहां आने वाले लाखों करोड़ों लोगों की धार्मिक भावनाओं को कभी आहत नही होने दिया जायेगा , इस तीर्थ का आध्यात्मिक दृष्टिकोण से विकास करने के साथ साथ पवित्र सरोवर का जल सदैव स्वच्छ और निर्मल बनाये रखने के हर हाल में प्रयास किये जायेंगे एवं सम्पूर्ण क्षेत्र ला चहुंमुखी विकास करवाया जाएगा ।

पुष्कर क्षेत्र से बीजेपी का टिकिट किसे मिलेगा यह तो आने वाले कुछ सप्ताह में ही साफ हो पायेगा लेकिन फिलहाल पलाड़ा के द्वारा अपनी दावेदारी जताए जाने के बाद पुष्कर क्षेत्र के राजनैतिक हलकों में जबरदस्त हलचल मच गई है और टिकिट की आस लगाए बैठे सभी दावेदारों के माथे पर चिंता की लकीरें उभर गई है ।

*राकेश भट्ट*
*प्रधान संपादक*
*पॉवर ऑफ नेशन*
*मो 9828171060*

Leave a Comment