क्या डॉक्टर मुकुल राजवंशी (पेथेलोजी) PMO का पद ग्रहण करेंगे?

*PMO के पद पर नियुक्ति के आदेश के बाद क्या डॉक्टर मुकुल राजवंशी (पेथेलोजी) PMO का पद ग्रहण करेंगे???*

हेमेन्द्र सोनी
ब्यावर/ एक डॉक्टर के जीवन मे PMO बनने की उसकी हार्दिक इच्छा होती है और डॉक्टर के लिए एक सौभाग्य की बात होती है ।
PMO बनने के लिए डॉक्टरों को कई जतन तक करने पड़ते हे, ओर कई बार सीनियर डॉक्टरों को आपस मे प्रतिस्पर्धा भी करनी पड़ती है।
विश्वस्त सूत्रों से जानकारी मिली है कि इस AKH अस्पताल को मिले नवनियुक्त PMO डॉक्टर मुकुल राजवंशी ने अभी तक पद ग्रहण नही किया और छुट्टी पर चले गए है, इसका क्या अर्थ लगाया जाय कि क्या वो इस पद को लेने के इच्छुक नही है?
क्या है इसके पीछे का कारण? ओर क्या है इसके पीछे की राजनीति?
सोचने वाली बात यह है कि जब इस AKH अस्पताल में एक से एक सीनियर डॉक्टर मौजूद है, मेरे अनुमान से इस समय AKH में 7-8 सीनियर डॉक्टर ऐसे होंगे जिनकी वरिष्ठता ओर अनुभव डॉ. मुकुल राजवंशी से काफी अधिक है लेकिन वो कोई भी इस पोस्ट के लिए प्रयास नही कर रहे है ओर तो ओर अभी कुछ दिन पहले डॉक्टर दिलीप चौधरी को कार्यवाहक PMO की पोस्ट पर नियुक्ति मिली उन्होंने भी ना जाने क्यों इस प्रतिष्ठा पूर्ण पद को पाने के लिए प्रयास नही किया । विचार करने योग्य बात है ।
एक बात पर ओर विचार किया जाना चाहिए कि ब्यावर में ऐसा क्या है जो यहां पर जो भी डॉक्टर आता है वो यहां पर ही बस जाने की सोचता है, ओर ऐसा कोनसा फार्मूला है कि वर्षो तक जमे रहने के बाद भी उनका यहा से तबादला तक नही होता ।
*देखने वाली बात यह है कि डॉक्टर मुकुल राजवंशी PMO की पोस्ट को ग्रहण करेंगे या नही ।*
यदि ग्रहण नही करते हे तो अब ब्यावर में किस सीनियर डॉक्टर को यह पोस्ट मिलेगी ?
ब्यावर के इस AKH अस्पताल को मिलने वाले नए PMO द्वारा यहां पर आने मरीजो को कितनी बेहतर चिकित्सा सुविधा उपलब्ध कराई जाएगी, आने वाले समय मे देखने वाली बात होगी ।
*BDN को अपने विश्वसनीय सूत्रों से मिली जानकारी पर आधारित ।*
*हेमेन्द्र सोनी @ BDN जिला ब्यावर*

Leave a Comment