बलात्कारी को पूरी उम्र के लिए नपुंसक बना दिया जाए

sohanpal singh
ज़िवित प्राणी ही नही वनंस्पती यानि पेड पौधों मे भी प्रागण क्रिया होती है जो जीव विकास को निरंतर आगे बढाने के लिए ही प्रकृतिक की देंन है | लेकिन मनुष्य जो संसार मे सबसे समृद्ध ओर बुद्धिमानं होने के बाद भी घृणित कार्य करने से भी पीछे नही रहता क्योंकी रेप यानि ब्लातकार तो ब्लातलार ही होता है जो इंसान की एक प्रकृतिक क्रिया है जीव विग्यान के अनुसार सभी ज़िवित प्राणीयों मे योंन क्रिया एक स्वाभविक और सामान्य क्रिया है | इस लिए इस समाजिक बुराई को समाजिक स्तर पर ही साल्व किया जाना चाहिए | यौन शिक्षा को स्कुली स्तर से आरम्भ किया जाना चाहिए और अब तो परीवारिक स्तर भी बच्चों को शिक्षित किया जाना चाहिए | क्योंकी कानून कितना भी सख्त हो कानून से कोई आपराध नहीं रुकता अगर रुक सकता तो निर्भया कांड के बाद कानून मे कुछ संसोधन किए गए थे तो क्या ब्लातकार मे कमीआइ शायद नही इस लिए अगर सरकार फांसी की सजा का प्रावधान करने को कृत संकल्प है तो उसे एक प्रवधान और जोड देना चाहिए की 12 वर्ष से कम उम्र के बच्चो के साथ जो भी व्यक्ति ब्लातकार करे उसे पूरी उम्र के लिए नपुंसक बना दिया जाए जो अपने आप मे एक उदाहरण और चेतावनी होगा इस प्रकार के अपराधो की ओर अग्रसर होने वाले लोगो के लिए | हम यानि मैं फांसी की सजा का समर्थन किसी भी दसा मे नहीं करता हूँ
SPSingh/Mrt

Leave a Comment