विज्ञानं में रूचि और इनका ज्ञान

महेन्द्र सिंह भेरूंदा
मोदीजी के साक्षात्कार में केवल बादल और रेडार ही हास्यपद नही था हमले का समय भी बहुत रोचक था उसमे प्रधानमन्त्री जी ने यह बताया की हमारे प्लानिंग के मुताबिक हमले का समय रात्रि के 2 बजकर 50 मिनट या 55 मिनट था क्योकि इस वक्त का कारण सेटेलाईट के ऐंगल की स्थिति कुछ ऐसी थी ।
मोदीजी के ऐंगल वाली बात की स्थिति मेरी समझ से उस वक्त सैटेलाईट की पीठ पाकिस्तान की तरफ रही होगी या इस वक्त सेटेलाईट के झपकी का वक्त रहा होगा ऐसे में हमारे विमानो का पाकिस्तान में घुसना और बादलों की ओट में रेडार की आँख में धूल झोंक कर बम्बारी करके सुरक्षित वापसी , वाह मोदीजी कितनी मेहनत की और कितना दिमाग लगया होगा मोदीजी आपने यह बहुत साईंटिफिक ऐंगल को पकड़ा तभी हमले की भनक संसार भर को नही लगी ।
हे महाज्ञानी आप अपने इस ज्ञान से इस देश का विकास कर रहे हो या विनाश कर रहे हो हम अन्धो को तो कुछ भी दिखाई नही दे रहा है आज देश भगवान भरोसे है

Leave a Comment

error: Content is protected !!