नरेन्द्र मोदी सरकार की बड़ी उपलब्धियां

▪सरदार पटेल की मूर्ति – ऊंचाई -182 फिट
लागत- 2979 करोड़ रु.
(पता नही चीन से बनकर कब आएगी )
▪शिवाजी की मूर्ति – ऊंचाई- 312 फिट
लागत-3600 करोड़ रु.
(एक ईंट भी नही लगी)
भगवान राम की मूर्ति – ऊंचाई -108 फिट
लागत- 195 करोड़ रु.
(अभी जमीन तक नही चिन्हित की गई )
▪बीजेपी का 7 स्टार मुख्यालय लागत- 1350 करोड़ और 12 महीने मे
बनकर तैयार,अब न कहना कि हमने Make in India के नाम पर कुछ नही बनाया !
खंड खंड पाखंड , मित्रों और भाईयों व बहनों , अब इस पाखंडी का चश्मा देशवासियों की नजर से उतर गया है ,इसलिये ये बार बार विदेश भागता है क्योंकि वहाँ लोगों को यहां की जमीनी हकीकत पता नहीं , वो इस धुर्त के लोक लुभावन नारों और बातों में विदेशी आ जाते हैं क्योंकि एक तो उन्हें हिंदी आती नहीं जो ये बोलता है , दूसरा इसकी ड्रामेबाजी और हावभाव से जो ये बनाता है प्रभावित हो जाते हैं ,

भारत में तो अब तो इस महान धुर्तराज की सभाओं में उतनी भीड भी नहीं जाती जितनी पहले जाया करती थी ,इसकी काठ की हांडी जितनी चढनी थी उतनी चढ चुकी , आने वाले चुनावों में इसका नतीजा देख लेना देशवासियों पहले राज्यों में और फिर केंद्र में , ये मेरी धारणा है कि चुनाव के बाद यह पाखंडी मोदी देश छोड कर विदेश भाग जायेगा , जैसा हमारे पडौसी देशों में अक्सर होता है वहाँ के राज नेता विदेशों में शरण लेते हैं ,
चंद परीवारों को पनपाने की इस धुर्तराज की स्कीम अब आम देशवासियों को समझ आने लगी है यह चौकीदार नहीं हिस्सेदार है , अपनो पे कर्म गैरों पे सितम ऐ जाने वफा ये जुल्म ना कर ,

घर पर जब बीबी नहीं होती है तो मन की बात रेडियो पर ही करनी पडती है , पत्नी का ऐक्सिडेंट हो जाये और उसके पीहर वाले दुर्घटना में मर जायें और प्रधानमंत्री निवास से कोई संवेदना का शब्द ना हो , धुर्तराज यह हमारी संस्कृति नहीं है , ऐसी संवेदनहीनता देशवासियों ने इससे पहले कभी नहीं देखी थी , और अगर किसी ने देखी हो समृति ईरानी की कसम खा कर बताए की इससे पहले उसने कब और कहां किस राजनेता या सार्वजनिक जीवन जीवन जीने वाले के यहां देखी , मै उसका जीवन भर ऋणी रहूंगा गुलाम रहूंगा , भारत में तो मरे बाद हर व्यक्ति स्वर्गीय है जाता है कभी देखा क्या किसी के नाम के आगे नरकीय लिखा हुआ , सुसराल पक्ष में दुर्घटना और रिश्तेदारों की मौत पर और खुद की पत्नी के दुर्घटनाग्रस्त हो जाने पर देखना जाना तो दूर संवेदना का एक शब्द मुहं से नहीं फूटा मित्रों और प्यारे देशवासियों ऐसे आदमी को आप क्या कहोगे ये तो आप ही जानो , जय हिंद , वंदेमातरम ,

आपका अपना राजेश टंडन वकील अजमेर ।

Leave a Comment