सांसद साइकिल से पहुंचेंगे पार्ल्यामेंट

हो सकता है आप इस खबर को पढ़कर चकित हो जाएं। जी हां, शुक्रवार को हमारे सांसद पार्ल्यामेंट महंगी गाड़ियों से नहीं बल्कि साइकिल से आएंगे। कई राजनीतिक दलों के सांसदों के एक समूह ने पर्यावरण और पार्ल्यामेंट को क्लीन और ग्रीन रखने के वास्ते संदेश देने के लिए साइकिल से संसद पहुंचने का निर्णय लिया है। इस पहल से हमारे सांसद रोड पर साइकिल यात्रियों के हकों का भी अहसास कराना चाहते हैं। शुक्रवार को दिन में 10 बजे सांसद एमपी पार्किंग कार्नर के पास विजय चौक पर जुटेंगे। गेट नंबर 3 पर लोकसभा अध्यक्ष मीरा कुमार 10:30 सांसदों से मिलेंगी। यहीं पर सांसद विनम्रता से यह संदेश देंगे कि हम पर्यावरण की सफाई और हरियाली को लेकर बेहद चिंतित हैं और इसे दुरुस्त करने के लिए देश में साइकिल की बड़ी भूमिका हो सकती है।

शहरी भारत का पिछले एक दशक में व्यापक विकास हुआ है। वहीं दूसरी तरफ विकास के साथ कई तरह की चुनौतियां भी आईं हैं। इन चुनौतियों में ट्रैफिक जाम, जीवन शैली से जुड़ी बीमारियां, प्रदूषण और बढ़ती आबादी अहम हैं। ऐसे में इन चुनौतियों से निपटने के लिए वक्त रहते सही कदम उठाने की सख्त जरूरत है। इस गलत धारणा से तत्काल बाहर निकलने की जरूरत है कि साइकिल की सवारी केवल गरीब लोग करते हैं। सच तो यह है कि साइकिल इन चुनौतियों से निपटने में सबसे सुविधाजनक सवारी बन सकती है। सही मायने में यह स्वागत योग्य कदम होगा कि आप ऑफिस साइकिल से पहुंचेंगे जो कि शहर की सफाई, हरियाली और सेहत तीनों के लिए ऑक्सिजन की तरह है। इससे आपकी सेहत दुरुस्त रहती है, पर्यावरण प्रदूषित नहीं होता है और ट्रैवेल में पैसे भी खर्च नहीं होते हैं।

देश में कई सामाजिक संगठन साइकिल की लोकप्रियता बढा़ने के लिए काम कर रहे हैं। इसमें ‘पैदलयात्री’ संगठन दिल्ली और एनसीआर में साइकिल की सवारी की वकालत करता है। इसी तरह ‘इंडिया साइकिल सर्विस’कुछ सालों से दिल्ली, पुणे, बेंगलुरु और मुंबई में साइकिल सर्विस प्रदान कर रही है। देश में राजनीतिक इच्छाशक्ति के अभाव में इन सारी कोशिशों के असर नाकाफी मालूम पड़ रहे हैं। ऐसे में हम भी खुद को साइकिल की सवारी के लिए तैयार करें। इसी कड़ी में देश के 16 सांसदों ने संदेश देने के लिए साइकिल की सवारी के लिए हामी भरी है।

Leave a Comment

error: Content is protected !!