एम्वे इंडिया को मिला सीएसआर अवार्ड

दृष्टिबाधित लोगों के कल्याण हेतु अपने प्रयासों के लिये स्पेशियली-एबल्ड श्रेणी में ‘बेस्ट कॉर्पोरेट’ के रूप में सम्मानित किया गया
भारत सरकार के माननीय वाणिज्य, उद्योग एवं नागरिक उड्डयन मंत्री श्री सुरेश प्रभु ने एम्वे को यह पुरस्कार प्रदान किया

नई दिल्ली, सितंबर, 2018ः देश की अग्रणी एफएमसीजी डायरेक्ट सेलिंग कंपनी एम्वे इंडिया को सीएसआर टाइम्स द्वारा आयोजित प्रतिष्ठित नेशनल सीएसआर समिट एंड अवार्ड्स 2018 में ‘स्पेशियली-एबल्ड’ श्रेणी में ‘बेस्ट कॉर्पोरेट’ का अवार्ड मिला है। भारत सरकार के वाणिज्य, उद्योग एवं नागरिक उड्डयन मंत्री श्री सुरेश प्रभु ने एम्वे इंडिया में कॉर्पोरेट कम्यूनिकेशंस एवं कॉर्पोरेट सामाजिक उत्तरदायित्व की राष्ट्रीय प्रमुख सुश्री सिमरत बिश्नोई को यह पुरस्कार प्रदान किया। इस अवसर पर शीर्ष नेतृत्वकर्ता और निर्णायक मंडल के सदस्य, जैसे भारत सरकार में राष्ट्रीय बाल अधिकार सुरक्षा आयोग की चेयरपर्सन स्तुति नारायण काकेर, पद्मश्री डॉ. के. के. अग्रवाल, वर्ल्ड माइनिंग कॉन्ग्रेस के वाइस चेयरमैन डॉ. एम.पी. नारायणन और सीएसआर टाइम्स के संपादक श्री हरीश चंद्रा उपस्थित थे।

संस्थानों के उत्कृष्ट और खोजपरक सीएसआर अभ्यासों को सम्मानित करने पर लक्षित, इस पुरस्कार ने दृष्टिबाधित लोगों के कल्याण की दिशा में एम्वे के निरंतर योगदान और कार्य को सम्मानित किया।

पुरस्कार प्राप्त करने पर एम्वे इंडिया में कॉर्पोरेट कम्यूनिकेशंस एवं कॉर्पोरेट सामाजिक उत्तरदायित्व की राष्ट्रीय प्रमुख सुश्री सिमरत बिश्नोई ने कहा, ‘‘हम पिछले दो दशकों से दृष्टिबाधित लोगों के लिये कार्यरत हैं, जिसके लिये यह पुरस्कार प्राप्त कर वाकई में सम्मानित महसूस कर रहे हैं। दिव्यांगों के लिये अवसरों के विस्तार पर लक्षित भारत सरकार की ‘एक्सेसिबल इंडिया’ पहल के अनुसार एम्वे दृष्टिबाधित लोगों की शिक्षा और शैक्षणिक सामग्री के डिजिटाइजेशन द्वारा उन्हें सशक्त कर रहा है। यह पुरस्कार ‘बेहतर जीवन जीने में लोगों की मदद’ के लिये और परियोजना के अंतर्गत करीब 2.5 लाख दृष्टिबाधित लोगों के जीवन को प्रभावित करने के लिये एम्वे की प्रतिबद्धता का प्रमाण है। कॉर्पोरेट सामाजिक उत्तरदायित्व एम्वे के मूल्यों का प्रमुख घटक है। हम इस देश में कंपनी की शुरूआत से ही सीएसआर गतिविधियों में संलग्न हैं। यह पुरस्कार एम्वे के डायरेक्ट सेलर्स, कर्मचारियों, संबद्धों और ग्राहकों के लिये गर्व का विषय है, जो व्यवसाय से परे हैं।’’

एम्वे इस विश्वास के साथ दृष्टिबाधित लोगों के लिये अथक परिश्रम कर रहा है कि शिक्षा और ज्ञान से शारीरिक अक्षमताओं पर विजय प्राप्त की जा सकती है। एम्वे इंडिया ने वर्ष 1999 में दृष्टिबाधित लोगों के लिये नेशनल प्रोजेक्ट के साथ सीएसआर पहलों की शुरूआत की थी, ताकि उन्हें गुणवत्तापूर्ण शिक्षा मिल सके और उनके लिये रोजगार के अवसर उत्पन्न हों। इस परियोजना के अंतर्गत एम्वे ने ब्रेल पाठ्यपुस्तकें, ऑडियो बुक्स और लाइब्रेरीज, कंप्यूटर टेªनिंग सेंटर, बीपीओ और कई अन्य पहलें शुरू कीं, जिससे दृष्टिबाधित लोगों को शिक्षा के अवसरों तक पहुंच बनाने में मदद मिली। इस प्रोजेक्ट ने अभी तक 2.50 लाख से ज्यादा दृष्टिबाधित लोगों का जीवन सकारात्मक रूप से प्रभावित किया है।

About CSR Times Awards:

The CSR TIMES Awards encourages Corporate, Corporate Foundations, NGO’s, Government and Public Sector Undertakings, Individuals or Group of Individuals to deliver high impacts through CSR projects and adopt multi-stakeholder approach leading to excellence in project outcomes. CSR TIMES Awards is one of the most prestigious recognitions, honoring the outstanding and innovative CSR practices at PAN India level, to encourage Sustainability and Social Enterprise Projects and leadership in CSR that contribute to the dedicated cause of developing our nation together.

Amway India’s CSR initiatives
Amway India’s CSR initiatives are based on the belief that social responsibility is much more than the incurrence of a cost or a resource on a charitable/ philanthropic act of social benefit. It is an opportunity to bring in social innovation and change. This belief is articulated in Amway’s vision of helping people live better lives. When it comes to commitment to corporate citizenship, Amway India makes a serious and concentrated effort to reach out and help people improve their lives.

Amway India supports a comprehensive CSR programme covering a gamut of initiatives including a water conservation project to improve the ground water level in 7 villages in the Dindigul district located around the manufacturing plant. Amway Opportunity Foundation launched a village health program targeted at 26 villages in the Dindigul district, to provide quality healthcare to the underprivileged. A total of 144 health check-up camps (12 camps in a month) are being conducted within a span of 12 months. The treatment includes general health check-up, select pathological tests and medicines at zero cost to the beneficiaries.

As a key focus area, Amway has taken various initiatives to support the cause of visually impaired. Amway also supports underprivileged children in education, health and hygiene under a project titled ‘Sunrise’. Under this project, the company currently supports more than 15 NGOs across the country.

Community Health and Entrepreneurship Program: Amway has been promoting self-employment among women community health facilitators. Under this initiative, the underprivileged women are provided with training on entrepreneurship skills and business fundamentals to enhance affordable healthcare outreach program in few underserved rural areas of Bihar and Uttar Pradesh.

Leave a Comment

error: Content is protected !!