अब ऑनलाइन बेचें घर का सारा कबाड़

1. घर के रद्दी माल को ऑनलाइन बेचने की सुविधा दे रहा कबाड़ ऑनलाइन डॉट कॉम (Kabadonline.com)
2. (Kabadonline.com) या मोबाइल ऐप से ऑनलाइन बेंचे घर का रद्दी माल
3. मार्केट से 10 फीसदी अधिक रेट मिलने की गारंटी
4. थोक में रद्दी माल बेचने पर स्पेशल ऑफर्स का लाभ
5. पुलिस वैरिफिकेशन वेंडर्स सर्टिफाइड वेंडर्स आएंगे रद्दी सामान लेने
6. डिजिटल वेट मशीन, कस्टमर सर्विस

अब घर में पड़े स्क्रैप (रद्दी) माल को बेचना बेहद आसान हो गया है। कबाड़ ऑनलाइन डॉट कॉम (Kabadonline.com) व मोबाइल ऐप, घर बैठे कबाड़ का माल बेचने की सुविधा दे रहा है। इंदौर स्थित कबाड़ ऑनलाइन डॉट कॉम, देश की अपने आप में ऐसी पहली संस्था बन गई है जो घर पर पड़े कबाड़ी माल को ऑनलाइन माध्यम से बेचने की सुविधा देती है। इसके जरिए कोई भी सेलर सीधे बाजार से संपर्क करके रद्दी माल बेच सकता है। इसके अलावा थोक में रद्दी माल बेचने पर स्पेशल ऑफर्स का लाभ भी उठाया जा सकता है। खास बात यह कि संस्था के सभी वेंडर्स जो कस्टमर्स के घर रद्दी माल की बिक्री करने के लिए पहुंचते हैं, उनका पुलिस वैरिफिकेशन होना अनिवार्य है, जो कि हफ्ते के सातों दिन चैबीस घंटा आपकी सेवा में उपलब्ध रहते हैं। रिश्ते, सुरक्षा और विश्वास की अवधारणा के साथ आगे बढ़ रही कबाड़ ऑनलाइन डॉट कॉम (Kabadonline.com), कबाड़ के माल पर मार्केट रेट से 10 फीसदी अधिक दाम देने का वादा करती है। इसके अतिरिक्त संस्था के वेंडर्स डिजिटल वेट मशीन के जरिए स्क्रैप माल का सटीक भार मापते हैं। कंपनी का दावा है कि कबाड़ ऑनलाइन के भरोसेमंद वेंडर्स शहर के हर इलाके में कस्टमर सर्विस के लिए उपलब्ध हैं, जिनके जरिए स्क्रैप माल को कही से कभी भी बेचा जा सकता है। कबाड़ डॉट कॉम की वेबसाइट या मोबाइल ऐप से जुड़ना भी बेहद आसान है।
महिला सशक्तिकरण का एक बेमिसाल उदाहरण पेश करते हुए डायरेक्टर्स लातिसा राजन व जसनिधि कौर ने संयुक्त रूप से कबाड़ ऑनलाइन डॉट कॉम की स्थापना की है। लातिसा राजन के अनुसार, “ज्यादातर घरों को मैनेज करने वाली महिलाएं होती हैं। उन्हें घर पर पड़े रद्दी अखबार, प्लास्टिक के बेकार डब्बों, खाली बोतलों या लोहा लक्कड़ आदि जैसे बेकार सामानों की पक्की जानकारी होती है लेकिन उनके लिए इन सामानों को सही मूल्य पर बेच पाना बहुत कठिन हो जाता है। उदाहरण के लिए कबाड़ ऑनलाइन ऐसी महिलाओं को सुरक्षित तरीके से स्क्रैप माल बेचने की सुविधा देता है। हालांकि इसका लाभ कोई भी उठा सकता है। हम आपके कबाड़ का पूरा रिकॉर्ड मेंटेन करके रखते हैं।
जसनिधि कौर ने बताया,”कभी-कभी स्क्रैप माल से घर का स्टोर रूम पूरी तरह पैक हो जाता है। लेकिन इस कबाड़ को ठिकाने लगाने के लिए अब आप बिना किसी झंझट अपने कंप्यूटर या मोबाइल का इस्तेमाल कर, इंटरनेट के जरिए कबाड़ का भाव पता कर, इसे अपने घर से उठा ले जाने के लिए रिक्वेस्ट पोस्ट कर सकते हैं। थोड़े समय में आपके पास एक कॉल आता है, जिस पर आप अपने कबाड़ का सौदा तय करने के लिए समय फिक्स कर लेते हैं। आपके बताए समय पर एक वेंडर इलेक्टॉनिक तराजू लेकर आपके घर पहुंच जाता है और बिना किसी बेईमानी के आपको उस कबाड़ का सही दाम दे जाता है। कबाड़ ऑनलाइन डॉट कॉम इसी आसान तरीके से काम करते है।”

अधिक जानकारी के लिए
पीआर 24ग7 नेटवर्क लिमिटेड
breakfastnews@pr24x7.com|9755020247

Leave a Comment