दुनिया की सबसे तेजी से बढ़ती डिजिटल सेवा कंपनी, जियो ने भारत को डेटा शाइनिंग बनाया

जियोफाइबर 5 सितंबर से व्यावसायिक रूप से उपलब्ध होगा

मुंबई, 12 अगस्त 2019: 340 मिलियन से अधिक ग्राहकों के साथ, जियो दुनिया की सबसे तेजी से बढ़ती डिजिटल सेवा कंपनी बनी हुई है। जियो ग्राहकों, राजस्व और मुनाफे के मामले में भारत का सबसे बड़ा टेलीकॉम इंटरप्राइज है। हर महीने जियो के साथ 10 मिलियन नए ग्राहक डिजिटल हो रहे हैं,जियो न केवल भारत में सबसे बड़ा ऑपरेटर बन गया है, बल्कि दुनिया में दूसरा सबसे बड़ा कंट्री ऑपरेटर भी है।
रिलायंस इंडस्ट्रीज की वार्षिक आम बैठक को संबोधित करते हुए, श्री मुकेश अंबानी, चेयरमैन और प्रबंध निदेशक ने कहा कि जियो अब नई सेवाओं की पेशकश करने के लिए तैयार है, जिनमें इंटरनेट ऑफ थिंग्स; होम ब्रॉडबैंड; एंटरप्राइज ब्रॉडबैंड; और छोटे और मध्यम व्यवसायों के लिए ब्रॉडबैंड शामिल है। इनमें से प्रत्येक सर्विस से राजस्व इस वित्तीय वर्ष के भीतर ही शुरू हो जाएगा।
जियो ने अपने पैन-इंडिया 4जी नेटवर्क पर एक इनोवेटिव सर्विस विकसित की है जिसे नैरोबैंड इंटरनेट-ऑफ-थिंग्स कहा जाता है। कई बिलियन स्मार्ट सेंसर से एनबीआईओटी डेटा का उपयोग करते हुए क्या भारत में आवासीय, औद्योगिक या सार्वजनिक उच्चतम विश्वसनीयता और न्यूनतम लागत के साथ एकत्र किया जा सकता है। जियो का लक्ष्य जियो के आईओटी प्लेटफॉर्म पर इनमें से कम से कम एक बिलियन को जोड़ना है। यह जियो के लिए प्रति वर्ष 20,000 करोड़ रुपए के राजस्व अवसर को पैदा करता है। जियो का आईओटी प्लेटफॉर्म 1 जनवरी, 2020 से व्यावसायिक रूप से उपलब्ध होगा।
जियोफाइबर, पिछले साल के 15 अगस्त से शुरू होकर, लगभग 1,600 शहरों से 15 मिलियन से अधिक रजिस्ट्रेशन प्राप्त करने में सफल रहा है।
इन रजिस्ट्रेशन के आधार पर, जियो की योजना इन1,600 शहरों में 20 मिलियन निवास और 15मिलियन व्यावसायिक प्रतिष्ठानों तक पहुंचने की है। जियोफाइबर का लक्ष्य अगले 12 महीनों के भीतर नेटवर्क रोलआउट पूरा करना है। जियोफाइबर को लगभग आधा मिलियन घरों में टेस्टिंग के आधार पर स्थापित किया गया है। औसतन ये परीक्षण घर प्रति माह 100 जीबी से अधिक की खपत कर रहे हैं और यह उपयोग प्रत्येक गुजरते दिन के साथ बढ़ रहा है।
जियोफाइबर के साथ यूजर्स 1 जीबीपीएस तक की तेज तेज स्पीड का अनुभव कर रहे हैं। उपयोगकर्ताओं को बिना किसी अतिरिक्त लागत के लैंडलाइन फोन कनेक्शन मिलेगा। उपयोगकर्ताओं को एक डिजिटल सेट-टॉप-बॉक्स भी मिलेगा जो उपयोगकर्ताओं के घर के भीतर अद्वितीय डिजिटल अनुभव खोलता है।
जियोफाइबर अल्ट्रा-हाई डेफिनिशन एंटरटेनमेंट,वर्चुअल रियलिटी कंटेंट, मल्टी-पार्टी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग, वॉयस-एनेबल वर्चुअल असिस्टेंट,इंटरएक्टिव गेमिंग, होम सिक्योरिटी और कई अन्य स्मार्ट-होम सॉल्यूशंस जैसी अनंत डिजिटल संभावनाएं प्रदान करता है।
जियोफाइबर सर्विसेज का कमर्शियल शुभारंभ 5सितंबर को किया जाएगा जो कि जियो के लॉन्च की तीसरी वर्षगांठ है। जियोफाइबर प्लान्स 100एमबीपीएस स्पीड से शुरू होती हैं और 1 जीबीपीएस या 1000 एमबीपीएस तक जाती हैं। जियोफाइबर की योजना हर बजट और हर ज़रूरत के हिसाब से 700से 10,000 रुपए के बीच होगी।
जियोफाइबर की योजनाएं सबसे अग्रणी प्रीमियम ओटीटी एप्लीकेशंस के लिए सदस्यता के साथ बंडल की जाएंगी। प्रीमियम जियोफाइबर ग्राहक उसी दिन अपने लिविंग रूम में फिल्में देख सकेंगे, जब ये फिल्में सिनेमाघरों में रिलीज होंगी। यह सर्विस 2020 के मध्य में शुरू होने की उम्मीद है।
चेयरमैन ने यह भी घोषणा की कि जियोफाइबर ग्राहक जो हमारी वार्षिक जियो-फॉरएवर प्लान्स का विकल्प चुनते हैं, उन्हें एक एचडी या 4के एलईडी टेलीविज़न और एक 4के सेट-टॉप-बॉक्स बिल्कुल मुफ्त मिलेगा।
जियो के डिजिटल प्लेटफ़ॉर्म और सॉल्यूशंस को मजबूत करते हुए, कंपनी की ब्लॉकचेन तकनीक पर काम करने की योजना है जिसमें एज कंप्यूटिंग और वर्चुअल और मिक्सड रियल्टी कंटेंट और क्लाउड इन्फ्रास्ट्रक्चर शामिल हैं। चेयरमैन ने घोषणा की कि जियो और माइक्रोसॉफ्ट ने विश्व स्तर पर अद्वितीय और लंबी अवधि के करार में प्रवेश किया है।
देश में डिजिटल परिवर्तन में तेजी लाएं। इस गठजोड़ के हिस्से के रूप में, जियो भारत भर में बड़े विश्व-स्तरीय डेटाटेकटरों का एक नेटवर्क स्थापित करेगा,माइक्रोसॉफ्ट अपने एज्यूमर क्लाउड प्लेटफ़ॉर्म को जियो के डेटासेंटर में लाएगा।

Leave a Comment

error: Content is protected !!