टेक महिन्द्रा ने अपनी तरह का पहला ग्लोबल चेस लीग शुरू किया

नयी दिल्ली, 22 फरवरी, 2021- सबसे तेजी से बढ़ती वैश्विक आईटी कंपनियों में से एक और डिजिटल परिवर्तन, परामर्श और बिजनेस री-इंजीनियरिगं सेवाएं उपलब्ध कराने वाली अग्रणी कंपनी टेक महिन्द्रा ने अपनी तरह की पहली फिजिटल (फिजिकल एवं डिजिटल) ग्लोबल चेस लीग शुरू करने की आज घोषणा की। कंपनी ने यह भी घोषणा की कि पांच बार विश्व शतरंज चैंपियन रहे और भारतीय चेस ग्रैंडमास्टर विश्वनाथन आनंद इस लीग को आकार देने, मार्गदर्शन करने, साझीदारी एवं परामर्श में मदद करेंगे। दुनियाभर में अपने प्रेरणादायी छवि के साथ आनंद शतरंज के विकास को गति देंगे और इस खेल को वह स्थान दिलाएंगे जिसने उनके पूरे जीवन को परिभाषित किया है। आनंद ने टेक महिन्द्रा ग्लोबल चेस लीग के साथ हाथ मिलाया और वैश्विक दर्शकों और अपने प्रशंसकों के लिए इस लीग का चेहरा होंगे।
इस लीग की शुरूआत एक ऐतिहासिक क्षण की गवाह बनेगी क्योंकि इसका लक्ष्य शतरंज के प्रोफाइल को बढ़ाना, चेस चैंपियन की नयी पीढ़ी को खोजना, इस खेल के प्रशंसकों की संख्या बढ़ाना और इस खेल को व्यवसाय की नई ऊंचाइयों पर ले जाना है। नये युग की प्रौद्योगिकियों जैसे 5जी, आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस और वर्चुअल रीयल्टी इसके केंद्र में होंगी और वैश्विक दर्शकों को शामिल करने के लिए संवादात्मक मंचों के जरिये इस खेल को प्रोत्साहित करने के नए रास्ते तलाशे जाएंगे। टेक महिन्द्रा इस अवधारणा के पीछे शिल्पकार की तरह काम करेगी और अपने विज़न को साकार करने के लिए आवश्यक परिचालन एवं तकनीकी सहयोग उपलब्ध कराएगी।
महिन्द्रा समूह के चेयरमैन आनंद महिन्द्रा ने कहा, शतरंज में अब भी दुनियाभर में जबरदस्त गुंजाइश है। हाल ही में ऑनलाइन चेस ओलंपियाड के बाद लोगों की रूचि काफी बढ़ी है और इस गेम पर आधारित टीवी सीरीज जबरदस्त लोकप्रिय हुए हैं। हमें उम्मीद है कि इस लीग के सृजन से शतरंज की दुनिया में पुनर्जागरण होगा और लोगों की इस खेल के प्रति दिलचस्पी फिर बढ़ेगी। मैं प्रो कबड्डी लीग की स्थापना से मिले अपने अनुभवों को इस टीम के साथ साझा करने को लेकर उत्साहित हूं जिससे वे उस सफलता को कहीं अधिक व्यापक स्तर और वैश्विक मंच पर दोहरा सकें।
पांच बार विश्व शतरंज चैंपियन रहे विश्वनाथन आनंद ने कहा, शतरंज एक ऐसा खेल है जिसे दुनियाभर में लाखों लोगों द्वारा खेला जाता है। इस समय, इसे और लोकप्रिय बनाने के लिए एक अनूठा अवसर मौजूद है और प्रौद्योगिकी के बल पर एक वैश्विक लीग के जरिये इसकी दृश्यता जबरदस्त ढंग से बढ़ेगी। मैं टेक महिन्द्रा जैसी प्रौद्योगिकी प्रदाता के साथ साझीदारी को लेकर बहुत खुश हूं और इनके प्रोत्साहन से निश्चित तौर पर यह खेल एक नई ऊंचाई पर पहुंचेगा और दुनियाभर में इसे लोकप्रिय बनाने में सही मंच मिलेगा। शतरंज के खेल में लोगों की नए सिरे से दिलचस्पी बढ़ी है और इसे अनूठे वैश्विक लीग प्रारूप के जरिये हम शतरंज खेल की भावना को अटूट बनाए रख सकेंगे और यह सुनिश्चित कर सकेंगे कि आगामी प्रतिभाओं को सही मंच मिले।
वर्तमान योजना के अंतर्गत यह लीग सभी स्तरों से खिलाडि़यों को लगाएगी जिनमें पेशेवर हों या दूसरे खिलाड़ी। इस लीग के 8 फ्रैंचाइजी के स्वामित्व वाली टीमें दुनियाभर से होंगी। इन टीमों में महिला और पुरूष खिलाडि़यों के साथ ही जूनियर और वाइल्डकार्ड प्रवेशकर्ता होंगे जो एक दूसरे से राउंड रॉबिन फार्मेट में खेलेंगे। ये टीमें सेमीफाइनल के लिए क्वाइलीफाई करेंगी और चैंपियनशिप के नॉकआउट चरण में प्रवेश करेंगी। हम अनूठी स्कोरिंग, बोर्ड चयन पद्धतियों और फैंटेसी लीग पेश करने की संभावना तलाश रहे हैं जिससे दर्शकों का आनंद बढ़ सके। फाइनल लीग का ढांचा और टीमों का विवरण उचित समय पर घोषित किया जाएगा।
टेक महिन्द्रा के प्रबंध निदेशक एवं सीईओ सीपी गुरनानी ने कहा, चेस कई मायनों में कारोबार की दुनिया के साथ एकरूपता लिए हुए है जिसमें बौद्धिक क्षमता, रणनीति आदि पर इसका जोर प्रमुख है। 5जी और वर्चुअल रीयल्टी जैसी नए युग की प्रौद्योगिकियों में टेक महिन्द्रा की विशेषज्ञता का उपयोग कर प्रशंसकों की तल्लीनता और वैश्विक स्तर पर दर्शक संख्या बढ़ाकर हम सही मायने में शतरंज को एक ई खेल में परिवर्तित कर सकते हैं। इसके अलावा, इस वैश्विक चेस लीग से हमें इस खेल को घरों से वैश्विक प्रशंसकों के बीच ले जाकर एक असाधारण एवं प्रेरणादायी अनुभव का सृजन करने में मदद मिलेगी।

Leave a Comment

This site is protected by reCAPTCHA and the Google Privacy Policy and Terms of Service apply.

error: Content is protected !!