स्कोडा ऑटो इंडिया ने “कैमोफ्लेज विद स्कोडा” डिजाइन कॉन्टेस्ट के विजेता की घोषणा की

मुंबई, 11 अक्टूबर 2021: उभरते भारतीय डिजाइनरों से जबरदस्त प्रतिक्रिया मिलने के बाद स्कोडा ऑटो इंडिया ने कैमोफ्लेज डिजाइन कॉन्टेस्ट के विजेता की घोषणा की है। बदलापुर, महाराष्ट्र के श्रेयस करमबेलकर को सम्मानित जूरी द्वारा विजेता के खिताब से नवाजा गया है। श्रेयस, स्कोडा मुख्यालय में, स्कोडा ऑटो ए.एस. के हेड ऑफ द डिजाइन, मि. ओलिवर स्टेफनी से मिलने के लिए प्राग जाएंगे। इसके अलावा, विनिंग डिजाइन को इंडिया 2.0 प्रोजेक्ट के तहत आगामी स्कोडा स्लाविया मिडसाइज प्रीमियम सेडान के टेस्टिंग प्रोटोटाइप पर लागू किया जाएगा।
तमिलनाडु के तिरुनेलवेली के बेन स्टीवर्ट को रनर-अप चुना गया है और उन्होंने एक डिज़ाइन टैबलेट जीता है। अन्य तीन फाइनलिस्ट्स को स्कोडा गिफ्ट बैग्स से सम्मानित किया जाएगा। इस अनूठे डिजाइन कॉन्टेस्ट की घोषणा अगस्त में की गई थी, जिसमें प्रतिभागियों को भारत में स्कोडा ऑटो की अपकमिंग मिड-साइज प्रीमियम सेडान के लिए एक कैमोफ्लेज का डिजाइन प्रस्तुत करने के लिए कहा गया था। 18 अगस्त 2021 तक ओपन कॉन्टेस्ट में पूरे भारत से 200 से अधिक इंट्रीज प्राप्त हुईं। विजेता की घोषणा करने से पहले, शीर्ष पांच शॉर्टलिस्ट किए गए डिजाइनों को प्रॉडक्शन, ड्यूराबिलिटी और एप्लीकेबिलिटी प्रोसेसेज के माध्यम से पास किया गया।
स्कोडा ऑटो इंडिया के ब्रांड डायरेक्टर, मि. ज़ैक हॉलिस ने कहा, “स्कोडा ऑटो इंडिया में कैमोफ्लेज विद स्कोडा” कॉन्टेसेट जीतने के लिए हम श्रेयस करमबेलकर को बधाई देते हैं। उनके डिजाइन में भारतीय और चेक कला संस्कृतियों का एक होमोजीनियस ब्लेंड दिखाई पड़ता है। हम रनर्स-अप को स्वस्थ प्रतिस्पर्धा और उनके द्वारा पेश किए गए डिजाइनों के लिए बधाई देना चाहते हैं, जिससे विजेता चुनने के लिए जूरी को लंबे समय तक सोच-विचार करना पड़ा। हम सभी प्रतिभागियों को आगे आने और प्रतियोगिता को सफल बनाने के लिए धन्यवाद देना चाहते हैं।”
श्रेयस के विनिंग डिजाइन का कॉन्सेप्ट भारतीय रूपांकनों – मोर और कमल, चेक ग्लास आर्ट तथा क्यूबिज़्म का मिश्रण है। डिजाइन में इस्तेमाल किए गए रंग गर्मजोशी से भरपूर हैं और भारतीय संस्कृति को रीप्रेजेंट करते हैं।
बेन की डिजाइन का कॉन्सेप्ट बेसिक रेगुलर आकृतियों की सादगी से प्रेरित है, जो कॉन्ट्रांस्टिंग कलर पैलेट पर आधारित है।
कॉन्टेस्ट के जजेज में एसएवीडब्ल्यूआईपीएल के मैनेजिंग डायरेक्टर, मि. गुरप्रताप बोपाराय, स्कोडा ऑटो इंडिया के ब्रांड डायरेक्टर, स्कोडा ऑटो ए.एस. के हेड ऑफ डिज़ाइन, मि. ज़ैक हॉलिस शामिल थे। मूल्यांकन प्रक्रिया में विभिन्न क्राइटेरिया को शामिल किया गया, जिसमें क्रिएटिव और टेक्निकल एक्सपर्टाइज सबसे अहम थे। प्रत्येक डिजाइन को उसके इनोवेशन, एस्थेटिक्स, फंक्शनालिटी, एर्गोनॉमिक्स, प्रभाव, उपयोगिता और इमोशनल कोशेंट के आधार पर जज किया गया। कॉन्टेस्ट 18 वर्ष से अधिक आयु के किसी भी व्यक्ति के लिए ओपन थी और इसमें डिजाइन स्टूडियोज, कंपनियां, विश्वविद्यालय, डिजाइन स्टूडेंट्स और डिजाइन प्रोफेशनल्स हिस्सा ले सकते थे।

Leave a Comment

This site is protected by reCAPTCHA and the Google Privacy Policy and Terms of Service apply.

error: Content is protected !!