बहुभाषी कॉल सेंटर और हेल्पडेस्क की सुविधाएं

( डिजिटल रोजगार कार्यालय )
mohan thanviदेश के युवाओं को भविष्य संवारने के लिए मार्गदर्शन की दरकार रहती है। इस अहम विषय पर युवा भी गंभीर है तो श्रम व रोजगार मंत्रालय भी युवाओं की सेवाओं को उनकी क्षमताओं के अनुसार राष्ट्र-विकास की राह प्रशस्त करने के उद्देश्य से अवसर प्रदान करवाने के उपाय अमल में लाता है। हम इसी सोच की क्रियान्विति एनसीएस में देख सकते हैं ।

राष्ट्रीय कैरियर सेवा (एनसीएस), श्रम व रोजगार मंत्रालय का एक मिशन है जो राष्ट्रीय रोजगार सेवा में बदलाव करना चाहता है ताकि यह कैरियर सलाह, तकनीकी सलाह, कौशल विकास पाठयक्रमों की जानकारी आदि के संदर्भ में वेब आधारित पोर्टल के माध्यम से विभिन्न रोजगार संबंधी सेवाएं प्रदान कर सके। राष्ट्रीय कैरियर सेवा के पोर्टल (www.ncs.gov.in ) पर एनसीएस की सेवाएं उपलब्ध हैं। इसमें बहुभाषी कॉल सेंटर और हेल्पडेस्क की सुविधाएं भी शामिल हैं। कोई भी व्यक्ति इस सुविधा का लाभ उठा सकता है। एनसीएस की सेवाएं रोजगार कार्यालयों, कैरियर सेवा केन्द्रों, सामान्य सेवा केन्द्रों आदि में भी उपलब्ध हैं। इसके अतिरिक्त यह व्यवस्था भी की गई है कि रोजगार से संबंधित विज्ञप्तियां एनसीएस पोर्टल पर अनिवार्य रूप से उपलब्ध हों। इस पोर्टल को विकसित करने का लक्ष्य युवाओं की अभिलाषाओं और उपलब्ध रोजगार के अवसरों के मध्य सामंजस्य स्थापित करना है।
कर्मचारी चयन आयोग, रेलवे भर्ती बोर्ड आदि केंद्रीय भर्ती एजेंसियां विभिन्न परीक्षाओं का संचालन इस प्रकार करती हैं कि इनकी तिथियां एक दूसरे से भिन्न हों। यह जानकारी लोकसभा में डॉ. वूरा नरसैया गौड द्वारा उठाए गए प्रश्न के लिखित उत्तर में केंद्रीय कार्मिक, लोक शिकायत व पेंशन राज्य मंत्री तथा प्रधानमंत्री कार्यालय में राज्य मंत्री जितेन्द्र सिंह द्वारा दी गई।

प्रस्तुति
– मोहन थानवी

Leave a Comment