जिले के लेबर रूम और ओटी कसे जाएंगे राष्ट्रीय मानदंडों पर

गुणवत्ता आश्वासन पर जिला स्तरीय प्रशिक्षण आयोजित
**********
बीकानेर। जिले की सरकारी अस्पतालों के लेबर रूम व ऑपरेशन थिएटर राष्ट्रीय स्तर के मानदंडों पर कसे जाएंगे। ना सिर्फ जरूरी साजो-सामान की व्यवस्था होगी बल्कि उनके रखरखाव के तरीकों में भी अमूल-चूल सुधार होंगे। सोमवार को गुणवत्ता आश्वासन कार्यक्रम के तहत 3 दिवसीय जिला स्तरीय प्रशिक्षण के अंतिम दिन गुणवत्तापूर्ण प्रसव व शल्य चिकित्सा सेवा के लिए प्रशिक्षण दिया गया। सीएमएचओ डॉ. देवेन्द्र चौधरी ने कहा कि जिले के लेबर रूम निश्चय ही अच्छे हैं लेकिन राष्ट्रीय मानदंडों पर खरा उतरने में अभी भी बहुत काम किया जाना बाकी है। उपचार के लिए आए मरीज को यदि दूसरे मरीज का इन्फेक्शन मिले तो इससे बुरी स्थिति नहीं हो सकती। जिले के अस्पतालों में ना तो साजो-सामन की कमी है ना बजट की। कमी है तो गुणवत्तापूर्ण प्रबंधन की जो इस प्रशिक्षण के बाद नहीं रहेगी। जिस स्टाफ के पास लेबर रूम व ओटी का प्रभार है उनके पास काफी समय बचता है जिसका उपयोग उपकरणों, साजो-सामान व फिक्सचर्स के विसंक्रमण व रखरखाव पर होना चाहिए। उन्होंने प्रतिमाह 21 तारीख को गुणवत्ता आश्वासन समितियों की बैठक आयोजित कर कार्यक्रम को सम्पूर्ण रूप से लागू करने के निर्देश दिए। प्रशिक्षण में डीपीएम सुशील कुमार व एनयूएचएम सलाहकार नेहा शेखावत ने पीपीटी व विडियो के माध्यम से लेबर रूम व ऑपरेशन थिएटर के रख-रखाव व मानदंडो की जानकरी दी। प्रशिक्षण में क्लोरीनेशन, विसंक्रमण, स्टरलाइजेशन व ऑटोक्लव जैसे हाई लेवल डिसइन्फेक्शन के तरीकों की विस्तार से चर्चा की गई। आवश्यक लेबर रूम प्रोटोकॉल, साइनेज व आईईसी की जानकारी दी गई। प्रशिक्षण में डिप्टी सीएमएचओ डॉ. राधेश्याम वर्मा, बीसीएमओ डॉ. सुरेन्द्र चैधरी व आईईसी समन्वयक मालकोश आचार्य सहित सीएचसी-पीएचसी प्रभारी व स्टाफ मौजूद रहे।

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी
बीकानेर

Leave a Comment