सड़क सुरक्षा हितधारकों की द्वितीय ब्लाॅक स्तरीय बैठक सम्पन

अजमेर। आज दिनांक 17.05.2018 हिन्दुस्तान जिंक लिमिटेड एवं राजस्थान सड़क सुरक्षा सोसायटी के संयुक्त तत्वाधान में चलाये जा रहे राजस्थान सड़क सुरक्षा शिक्षा एवं जागृति के अन्तर्गत सड़क सुरक्षा पर हितधारकों की द्वितीय ब्लाॅक स्तरीय बैठक का आयोजन जिला विधिक सेवा प्राधिकरण अजमेर के विशेष सहयोग से ए,डी.आर सेन्टर, संयोगिता नगर, जयपुर रोड स्थित कार्यालय सभागार में सम्पन्न हुई। सड़क दुर्घटना रहित जोन बनाने के लिए सोसायटी द्वारा अपनाई जा रही स्ट्रेटजी में हितधार विभागों / संस्थाओं के सहयोग के लिए आयोजित की गई। जिसमें पुलिस, परिवहन, यातायात पुलिस, सार्वजनिक निर्माण विभाग, चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग, बार एसोसिऐशन, बस/आॅटा/टैक्सी यूनियन, अजयमेरू सड़क सुरक्षा समिति, ग्राम पंचायत प्रतिनिधि एवं हिन्दुस्तान जिंक सहित भारत सरकार के अधिकारियों ने भाग लिया।
राजस्थान सड़क सुरक्षा सोसायटी की परियोजना समन्वयक तान्या पचौरी ने राजस्थान सड़क सुरक्षा शिक्षा एवं जागृति मिशन का परिचय देते हुए चिन्हित जोन की ग्राम पंचायतें कायड़, घूघरा, गगवाना, गेगल, चाचियावास व लोहागल-माकड़वाली में किये गये सड़क उपयोगकर्ताओं के व्यवहार को जांचने हेतु बेस लाईन सर्वे (3 स्टेªच पर किये गये सर्वे में औसतन 50 प्रतिशत सड़क उपयोगकर्ताओं ने यातायात नियमों का उल्लघंन करते पाये गयें) यातायात सर्वे, पिछले 5 वर्षाे के स्टेेªच वाईज सड़क दुर्घटनाओं एवं मृतकों के आकड़े, विद्यालयों मंे की जा रही सड़क सुरक्षा गतिविधियों आदि पर मिशन की स्ट्रेटजी पर प्रस्तुतीकरण दिया गया तथा एजेण्डा यथा अजमेर जिले में चलाये जा रहे सड़क सुरक्षा मिशन एवं स्ट्रेटजी का परिचय प्रजेन्टेशन द्वारा वाहन चालकों के नेत्र एवं स्वास्थ्य जांच परीक्षण कैम्पन पर चर्चा (क्षेत्रपाल हाॅस्पिटल के सहयोग से), गुड सेमेरिटन के चार्टर का प्रचार प्रसार (सामुदायिक एवं प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र के सहयोग से), क्षेत्र में एजूकेशन ड्राइव (जिला विधिक सेवा प्राधिकरण, पुलिस, परिवहन विभाग व अन्य हितधारकों के सहयोग से), एन्फोर्समेन्ट ड्राइव (पुलिस व परिवहन विभाग के सहयोग से) रिफ्लेक्टिव टेप युक्त क्षेत्र बनाना, यातायात नियमों के उल्लघन पर एजुकेशन के साथ एन्फोर्समेन्ट की कार्यवाही, दुर्घटना पीड़ितों से अपील कराने, सड़क दुर्घटनाओं पर मीडिया रिपोटिंग हेतु कार्यशाला आयोजित करने, मोस्ट सेफ स्कूल अवार्ड कैम्पन (यातायात पुलिस के सहयोग से) सभी हितधारकों के सुझाव पर चर्चा करने एवं हितधारकों से शिक्षा एवं जागृति, स्वास्थ्य एवं चिकित्सा जांच कैम्पन, सड़क अभियांत्रिकी के दोष निवारण, सड़क सुरक्षा प्रर्वतन ड्राईव चलाने में सहयोग की अपील की। स्थानीय लोकेशन सड़क सुरक्षा प्रशिक्षक लोकेश शर्मा द्वारा ग्राम पंचायतों में बनाई गई सड़क सुरक्षा युवा समिति एवं यातायात डेटा के बारे में अवगत करातें हुए आ रही समस्याओं के बारें में बताया।
भारत सरकार के तकनीकी सलाहकार (सड़क सुरक्षा एवं प्रर्वतन), सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय के वीरेन्द्र सिंह राठौड़ ने देश, राज्य व जिले का सड़क सुरक्षा का परिदृश्य अवगत करातें हुए। सभी हितधारकों को सड़क दुर्घटना कम करने की विभागवार कार्य योजना पर विस्तार से बतातें हुए। भारत सरकार एवं राज्य सरकार की सड़क सुरक्षा से सम्बन्धित योजनाओं का उपयोग लेने की अपील की।
बैठक को सम्बोधित करते हुए जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के पूर्णकालिक सचिव राकेश गोरा ने बताया की राज्य में सड़क दुर्घटनाऐं लगातार बढ़ रही है प्रतिदिन औसतन 28 लोग सड़क हादसों में मारे जा रहें हैं। मरने वालों में अधिकांश युवा वर्ग से हैं। इनमें 60 प्रतिशत पैदल यात्री, बस यात्री साईकिल, मोटर साईकिल आदि पर चलने वाले हैं। ऐसे में आमजन को सुरक्षित आवागमन हेतु सड़क सुरक्षा उपायों की जानकारी देना अति आवश्यक हैं। स्वयं के वाहन से यात्रा करने वालों को यातायात के नियमों की पूर्ण जानकारी प्राप्त करने के बाद ही वाहन चलाना चाहिए एवं इन नियमों की पालना करनी चाहिए। हिट एण्ड रन दुर्घटना होने पर मोटर वाहन अधिनियम के तहत दुर्घटना पीड़ितों को 5 लाख तक का मुआवजा जिला विधिक सेवा प्राधिकरण द्वारा दिया जा रहा है। प्राधिकरण सोसायटी द्वारा चलाऐं जा रहे मिशन के साथ मिलकर सड़क सुरक्षा शिक्षा एवं जागृति हेतु कार्य करेगा तथा आमजन को सड़क सुरक्षा से जुडे़ कानूनों / नियमों / विनियमों की जानकारी देगा। उन्होंने सोसायटी एवं हिन्दुस्तान जिंक के संयुक्त प्रयासों से चलायें जा रहें मिशन एवं स्ट्रेटेजी की प्रशन्सा करते हुए उन्होंने बताया कि इसी के आधार पर अगर पूरे राज्य में मिशन चलें तो दुर्घटनाओं में भारी कमी लाई जा सकती है।
पुलिस उप अधीक्षक(यातायात) प्रीति चैधरी ने बैठक में उपस्थित सभी ब्लॉक स्तरीय हितधारक विभागों के अधिकारियों एवं संस्थाओं के पदाधिकारियों को सामूहिक रूप से प्रयास करने का आव्हान किया तथा राजस्थान सड़क सुरक्षा सोसायटी के मोस्ट सेफ स्कूल अवार्ड कैम्पन एवं सड़क सुरक्षा पर मीडिया कार्यशाला के लिए पुलिस की और से सहयोग देने का आश्वासन दिया गया।
पुलिस सोसायटी एवं अन्य संस्थाओं के सौजन्य से 15 जून से 30 जून तक रिफ्लेक्टिव टेप कैम्पन चलाया जाएगा जिसमें थ्री व्हीलर, टैक्सी, बस, ऐसोसिऐशन का भी सहयोग रहेगा। चिन्हित ग्राम पंचायतों में 2 व्हीलर, टैक्टर ट्राली एवं साईकिलों / जानवरों के सिंगों पर लगायें जाऐगें।
अधिशाषी अभियन्ता रितिश जैन सार्वजनिक निर्माण विभाग ने बैठक प्राप्त सुझावों के आधार पर सड़क किनारे झाडियों को हटानें, रोड़ साईन व मार्किग सही करने तथा सोसायटी द्वारा की गई। सड़क सुरक्षा अंकेषण रिपोर्ट के आधार पर शार्ट ट्रम उपाय करने में सहयोग तथा स्कूल के आस-पास इन्जिनियरिंग आॅडिट में अपने टेक्निकल स्टाफ लगानें की सहमति प्रदान की। डाॅ रामलाल चैधरी चिकित्सा विभाग ने अपने अधीनस्थ प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों के माध्यम से गुड सेमिरिटन चार्टर का प्रचार प्रसार करने एवं दुर्घटना पीड़ित परिवारों से अपील हेतु डेटा संग्रहण करने की सहमति प्रदान की तथा सभी डाॅक्टर को फस्र्ट रेस्पोन्डर टेªनर एम्स की टीम से कराने की अपील की। जिला बार एसोसिऐशन के उपाध्यक्ष राजेन्द्र सिंह ने सड़क सुरक्षा कार्यक्रम आयोजित करने एवं इस मिशन में सहयोग करने का आश्वासन दिया। गेगल थानाधिकारी दिनेश कुमार ने अपने क्षेत्राधिकार में मिशन के साथ जुड़कर लेन ड्राईविंग, रिप्लेक्टिव टेप, गुड सेमिरिर्टन आदि पर अपने बीट प्रभारियों के माध्यम से कराने का सहमति प्रदान। मिनाक्षी शर्मा सचिव अजयमेरू सड़क सुरक्षा समिति, नवीन सोगानी अध्यक्ष बस एसोसिऐशन, शक्ति सिंह टेम्पू यूनियन, मुकेश यादव मिनी बस एसोसिऐशन, एडवोकेट हरिसिंह गुर्जर, पूर्व बार एसोसिऐशन सचिव चन्द्रभान, मेयो काॅलेज के व्याख्याता वात्स्यान शर्मा आदि ने महत्वपूर्ण सुझाव दियें। अतिरिक्त जन सम्पर्क अधिकारी सन्तोष प्रजापत ने सड़क दुर्घटनाओं पर होने वाली मीडिया रिपोटिग को बेहतर करने के सोसायटी के प्रस्ताव पर अपने सुझाव देते हुए। इस जल्द आयोजित करने की अपील की तथा पूर्ण सहयोग का आश्वासन दिया।
अन्त में हिन्दुस्तान जिंक लिमिटेड, कायड़ के सी.एस.आर. हेड महेश कुमार माथुर ने इस मिशन की सार्थकता पर विचार रखतें हुए सभी हितधारकों को धन्यवाद ज्ञापित करते हुए। जनता से जुड़े हुए इस मुद्दे पर हिन्दुस्तान जिंक की और से हमेशा सहयोग देने का आश्वासन दिया तथा अपील की आप सब के सहयोग के बिना यह मिशन सफल नही हो सकता।
(लोकेश शर्मा)
सड़क सुरक्षा प्रशिक्षक अजमेर
राजस्थान सड़क सुरक्षा सोसायटी

Leave a Comment