राजकीय पोलिटेक्निक महाविद्यालय में विभिन्न पाठ्यक्रमों के लिए आवेदन आमंत्रित

बीकानेर, 13 जुलाई। राजकीय पाॅलिटेक्निक महाविद्यालय में सत्रा 2018-19 प्रथम वर्ष डिप्लोमा नाॅन इंजिनियरिंग काॅस्ट्यूम डिजाइन, टैक्सटाइल डिजाइन व डिप्लोमा इंजिनियरिंग इलेक्ट्रोनिक्स में प्रवेश के लिए आवेदन मांगे गए हैं।
महाविद्यालय प्रचार्या ने बताया कि इच्छुक विद्यार्थी आॅनलाईन आवेदन कर सकते हैं। इंजिनियरिंग ब्रांच के लिए आवेदन की अंतिम तिथि 19 जुलाई व नाॅन इंजिनियरिंग ब्रांच के लिए 18 जुलाई है। प्रवेश के लिए न्यूनतम योग्यता 10 वीं उतीर्ण होना आवश्यक है। आवेदन ूूूण्ीजमण्तंरेजींदण्हवअण्पद तथा विभागीय वेबसाइट पर किए जा सकते हैं।

——
आधार कार्ड ने मिलवाया परिवार से
बीकानेर, 13 जुलाई। जिला कलक्टर डाॅ.एन.के. गुप्ता ने शुक्रवार को मूक-बधिर बालक सूरजभान को उसके बडे भाई सोनू सिंह को सुपुर्द किया गया। बाल कल्याण समिति अध्यक्ष वाई. के. शर्मा ने बताया कि यह बच्चा बीकानेर रेलवे स्टेशन पर लावारिस घूमता पाया गया था। उन्होंने बताया कि मूक-बधिर बालक की आयु लगभग 12 वर्ष है, चाइल्ड हैल्प लाईन के माध्यम से बच्चे को बाल कल्याण समिति के समक्ष प्रस्तुत किया गया। समिति ने 4 मार्च 2018 को बालक को विमंदित गृह सेवाश्रम द्वितीय में अस्थाई प्रवेश देकर आधार कार्ड बनवाने के आदेश दिये थे।
योगी ने बताया कि बालक का पहचान का नाम ‘शिवम्’ रखा गया। बालक को पी.बी.एम. अस्पताल में दिव्यांग प्रमाण पत्रा प्राप्त करने हेतु भी दिखलाया गया व राजकीय मूकबधिर विद्यालय में प्रवेश की प्रक्रिया जारी थी। बालक से समय-समय पर काउंसलिंग के दौरान लिखवाया जाता था, तो वह ‘गुरूमुखी’ लिपि में अपना नाम सूरजभान लिखता था। बालक ने आधार कार्ड बनवाने हेतु आवेदन किया गया व औपचारिकताएं पूर्ण की गई। दो दिन पूर्व आधार कार्ड के आधार पर ज्ञात हुआ कि ‘शिवम’ का वास्तविक नाम सूरजभान है। वह कोरनावाली, जिला फजिल्का (पंजाब) का रहने वाला है। उसके भाई सोनू सिंह से संपर्क किया गया, जो शुक्रवार को सेवाश्रम पहुंचा। सूरजभान अपने भाई से मिलकर खुशी से झूम उठा। सूरजभन को परिवार से मिलवाने में सेवाश्रम प्रबन्धक मनोज कुमावत के विशेष प्रयास रहे।
सोनू सिंह के साथ आये उसके रिश्तेदार सेवाश्रम में अपने ‘सूरज’ को देखकर भाव विभोर हो उठे। बालक की खुशी का कोई ढिकाना नही था। बालक के परिजनों ने आश्रम के कार्मिकों व समिति के सदस्यों का आभार व्यक्त किया।

Leave a Comment