गौशालाओं का प्रदेश सम्मेलन 13 को बीकानेर में

बीकानेर, 10 जनवरी 2019 । पुरातन जैविक खाद से कृषि कार्यों को बढ़ावा देने व पंचगव्य से गौपालकों को अतिरिक्त आय स्रोत उपलब्ध करवाने की मंशा से बीकानेर में 13 जनवरी को सुबह 11.30 बजे जिला उद्योग संघ सभागार में गौशालाओं का राज्यस्तरीय सम्मेलन आयोजित किया जाएगा। सम्मेलन राजस्थान गौ सेवा परिषद के तत्वावधान में होगा। इस जानकारी सहित परिषद के सचिव अजय कुमार पुरोहित ने पत्रकारों को बताया कि पंजाब, हरियाणा, महाराष्ट्र, बंगाल सहित देश विदेश की नजरें जैविक खाद के लिए हमारे राजस्थान पर टिकी हैं क्योंकि रासायनिक खाद के नुकसान सामने हैं। इसी के मद्देनजर गोशालाओं को घर, गुवाड़, गांवों में ही जैविक खाद उत्पादन केंद्र विकसित करने के प्रयासों के तहत सम्मेलन के माध्यम से पशुपालन को वर्तमान की आवश्यकताओं के अनुरूप कदम उठाने के फायदे बताएं जाएंगे । इसके लिए प्रदेश में पशुपालकों को गोबर व गोमूत्र का पैसा दिलाने की कार्ययोजना बनायी गयी है। साथ ही गोबर-गोमूत्र से जैविक खाद व कीटनाशक का उत्पादन व विपणन का तंत्र विकसित करने और अनुदानित गोशालाओं में जैविक खाद उत्पादन की अनिवार्यता लागू करने की मांग सरकार से की जाएगी। परिषद इस काम में प्रेरक की भूमिका में राजस्थान पशु चिकित्सा और पशु विज्ञान विवि व अन्य संस्थाओं के साथ मिलकर काम और प्रयास करेगी कि सरकार के साथ सहभागिता से ऊर्जा का बढ़ा स्रोत गोबर व गोमूत्र गोपालकों के लिए आय का स्रोत बने। परिषद अध्यक्ष हेम शर्मा की साक्षी में प्रेस वार्ता में पुरोहित ने यह भी बताया कि सम्मेलन कीअध्यक्षता संत रघुनाथदास भारती करेंगे । विशिष्ट अतिथि के रुप में केंद्रीय मंत्री अर्जुनराम, राजस्थान के ऊर्जा मंत्री डा. बी.डी.कल्ला, उच्च शिक्षामंत्री भंवरसिंह भाटी, वेटरनरी विवि के कुलपति प्रो. विष्णु शर्मा होंगे। प्रेस वार्ता में डॉ त्रिभुवन शर्मा, डॉ हेमंत दाधीच, डी पी पचीसिया, सुभाष मित्तल आदि ने भी जानकारी साझा की।

-✍️ मोहन थानवी

Leave a Comment

error: Content is protected !!