अमृता हाट एसएचजी की महिलाओं के आर्थिक सम्बलन का बेहतरीन मंच

जनस्वास्थ्य एवं अभियांत्रिकी मंत्री डॉ बी डी कल्ला ने किया अमृता हाट का अवलोकन
बीकानेर, 5 फरवरी। ऊर्जा, जनस्वास्थ्य एवं अभियांत्रिकी मंत्री डॉ बी डी कल्ला ने कहा कि अमृता हाट जैसे आयोजनों के जरिए स्वयं सहायता समूहों की महिलाओं के आर्थिक सशक्तीकरण को नया बल मिल सकेगा। डॉ कल्ला ने जयनारायण व्यास कॉलोनी में चल रहे अमृता हाट मेले का मंगलवार को अवलोकन करते हुए यह बात कही। डॉ कल्ला ने कहा कि संभाग स्तरीय अमृता हाट मेले में प्रदेश भर से स्वयं सहायता समूहों की महिलाएं पहुंची है। इस मेले के माध्यम से इन महिलाओं को अपने उत्पादों को बेचने के लिया एक बेहतर प्लेटफार्म मिला है। डॉ कल्ला ने मेले में लगी विभिन्न स्टॉल्स का अवलोकन कर उत्पादों की सराहना की।
खरीदा बैग, की कशीदाकारी की तारीफ
डॉ कल्ला रूक-रूक कर स्टॉलों पर सजे सामानों को छू कर देख रहे थे। मिट्टी के खिलौने और सजावटी सामान देख कर कल्ला ने पूछा कि इन खिलौनों को कैसे बनाते हो, सांचों से या अन्य किसी तरीके से। कशीदाकारी के कपड़ों से सजी एक दुकान पर रूक कर डॉ कल्ला ने वहां रखे तरह-तरह के बैग देखे। उन्होंने पूछा कि आप लोग कहां से आए हो और कशीदाकारी का तैयार सामान बिक्री के लिए कहां-कहां भेजते हो। जय संतोषी स्वयं सहायता समूह में बैठी महिला ने बताया कि वे स्वयं सहायता समूह बनाकर कशीदाकारी का काम करते हैं। कशीदाकारी के काम के जरिए वे अपना गुजारा अच्छे से कर पा रही है और उनके परिवार की अन्य महिलाएं भी इस कार्य से जुड़ी है। इस डॉ कल्ला ने उनकी कशीदाकारी की सराहना करते हुए बैग की रेट पूछी और कई रंगों के पर्स, बैग देखने के बाद एक बैग खरीदा। डॉ कल्ला इसके बाद भुजिया, पापड़, आचार, बड़ी की दुकान पर रूके तथा क्वालिटी के बारे में भी जानकारी ली। उन्होंने पूछा कि बड़ी मोठ की दाल की बनाते हो क्या। डॉ कल्ला ने एक स्टॉल पर रूक कर सांगरी भी खरीदी। गौरी स्वयं सहायता समूह में सजी गवर ईसर प्रतिमाओं की सराहना भी की।
सांगरी खरीदी, बैडशीट भी पैक करवाई
अमृता हाट में सजी दुकानों का भ्रमण करते हुए उर्जा मंत्री एक स्टॉल में सजी हाथ के प्रिंट वाली बैडशीट देखकर रूके और महिला दुकानदार से और बैडशीट दिखाने को कहा। महिला दुकानदार ने कई बैडशीट की डिजाइन दिखाई और बताया कि बगरू और सांगानेरी प्रिंट का प्रयोग कर इन्हें तैयार किया गया है। डॉ कल्ला ने कहा कि यह प्रिंट बहुत सुंदर है। इसे पैक कर दो। महिला दुकानदार ने खुश होकर बैडशीट पैक की। डॉ कल्ला ने मेले में सजी दुकानों के अलावा हाट में हिस्सा लेने पहुंची महिलाओं के खाने-पीने की व्यवस्थाओं का भी जायजा लिया। उन्होंने केक काटकर एसएचजी महिलाओं को इस आयोजन के लिए शुभकामनाएं दी।
आयुर्वेद विभाग की स्टॉल पर पिया काढ़ा
मंत्री ने आयुर्वेद विभाग की स्टॉल पर रूक कर जानकारी ली। इसी दौरान आयोजकों द्वारा स्वाइन फ्लू को रोकने के लिए वितरित किया जा रहा काढ़ा डॉ कल्ला को भी सर्व किया गया। मंत्री ने काढे़ को चखा और इसे तैयार करने के बारे में विस्तार से जानकारी ली। डॉ बी डी कल्ला ने यूनानी, हौम्योपैथी सहित अन्य विभागों की स्टॉल का निरीक्षण भी किया। मेले के अवलोकन के बाद डॉ कल्ला ने अतिथि विचार पुस्तिका में अपनी शुभकामनाएं लिखी। उन्होंने लिखा कि अमृता हाट में उत्तम स्तर पर वस्तुओं की बिक्री हो रही है। इस आयोजन के माध्यम से हस्तशिल्प व हथकरघा वस्तुओं को बिक्री का नया मंच मिल सकेगा, साथ ही महिलाओं के आर्थिक सम्बलन में मदद मिल सकेगी। इस अवसर उपनिदेशक महिला एवं बाल विकास शक्ति सिंह कच्छावा, महिला अधिकारिता के सहायक निदेशक राजेन्द्र चौधरी, डॉ नेरन्द्र शर्मा उपस्थित थे। सहायक निदेशक महिला अधिकारिता राजेन्द्र चौधरी ने बताया कि 3 फरवरी से प्रारम्भ हुआ यह मेला 9 फरवरी तक चलेगा। अब तक तीन लाख रूपए से अधिक की बिक्री की जा चुकी है। मेले में स्वयं सहायता समूहों द्वारा तैयार उत्पादों की बिक्री के अतिरिक्त अन्य कई गतिविधियां भी आयोजित की जा रही है। उन्होंने बताया कि मेले में एक शाम बेटियों के नाम से कवि सम्मेलन का आयोजन किया गया। मेले में खाने-पीने के लजीज व्यंजनों की स्टॉल लगाई गई है। साथ ही हैंडीक्राफ्ट का सामान, बड़ी पापड़ आचार, गर्म कपडे़, दरी, साडि़यां, कशीदाकारी का सामान, कैर, सांगरी, बैग, टेरीकोटा, जूतियां, फैन्सी ज्वैलरी, सोफा-कुशन कवर आदि सामान उचित दरों पर बिक्री के लिए उपलब्ध है। उन्होंने शहर के आमजनों से अधिकाधिक संख्या में अमृता हाट मेले में पहंुच कर खरीददारी करने की अपील की।
———–
जिला यातायात प्रबंधन समिति की बैठक 7 फरवरी को
बीकानेर, 5 फरवरी। जिला यातायात प्रबंधन समिति की बैठक 7 फरवरी को दोपहर तीन बजे कलेक्ट्रेट सभागार में जिला कलक्टर कुमार पाल गौतम की अध्यक्षता में आयोजित की जाएगी।
————
तीन दिवसीय विद्यालय प्रदर्शनी का आयोजित
बीकानेर, 5 फरवरी। मेलबोर्न सैकण्डरी स्कूल तीन दिवस की विद्यालय प्रदर्शनी आयोजित की गई। प्रदर्शनी में विज्ञान, सामाजिक विज्ञान, कला, साहित्य, गणित एवं सभी विषयों से संबंधित मॉडल, चार्ट एवं वर्किग मॉडल प्रदर्शित किए गए। विद्यालय प्रदर्शनी का मूल उद्देश्य बालकों में किताबी ज्ञान के अलावा, विज्ञान, तकनीकी, समसामायिकी, सृजनात्मकता, कला एवं रचनात्मकता, आपदा प्रबंधन, एवं क्रियाशीलता का विकास करना एवं वैज्ञानिक दृष्टिकोण प्रदान करना रहा। प्रदर्शनी के विशिष्ट अतिथि संजय कक्कड़, कमलकांत स्वामी, भंवर पारीक, दीपक मिश्रा एवं दीपक शर्मा ने विद्यार्थियों के प्रयासो की सराहना की। विद्यालय के प्रबंधक एवं हैडमास्टर अनिल भार्गव एवं प्रधानाचार्य आर.एस.सांघी के नेतृत्व एवं सभी संकायो के अध्यापक अध्यापिकाओं के निर्देशन में यह आयोजन किया गया।

Leave a Comment