उपनिवेशन क्षेत्र में 46 को भूमि का आवंटन

शहीद आश्रितों व शौर्य पदक,सेना मेडल प्राप्त को आवंटित हुई भूमि
बीकानेर, 6 मार्च। देश की खातिर अपनी जान कुर्बान करने वाले शहीदों के आश्रितों, आतंकवादियों से लोहा लेने वाले 46 लोगों को बुधवार को उप निवेशन आयुक्त व जिला कलक्टर कुमाल पाल गौतम ने इंदिरा गांधी नहर के उप निवेशन क्षेत्र में लाॅटरी के जरिए मुरब्बे आवंटित किए।
इस अवसर पर उपनिवेशन आयुक्त ने कहा कि वर्षों से शौर्य पदक, सेना मेडल, पुलिस पदक व युद्ध आश्रितों को उप निवेशन क्षेत्र में भूमि आवंटन के प्रकरण लम्बित थे। समर्पण व जज्बे के साथ देश सेवा करने वालों को भूमि का आवंटन कर प्रशासन ने राज्य सरकार के निर्देशानुसार अपने दायित्व का निर्वहन करते हुए उन्हें सम्मान दिया है। उन्होंने बताया कि करीब दस वर्षों से लम्बित आवेदनों में कई लोगों ने अपनी पसंद की भूमि के लिए मुरब्बे का स्थान आवेदन में अंकित किया था। अंकित स्थानों में प्रथम,द्वितीय प्राथमिकता के आधार पर लाॅटरी के जरिए भूमि का आवंटन किया गया है।
समूचे प्रदेश के आवंटी-कुमार पाल गौतम ने बताया कि राज्य सरकार ने मोहनगढ़,जैसलमेर व रामगढ़ में भूमि आरक्षित की थी। जिन वीरों व उनके आश्रितों को भूमि आवंटित की गई है,वे बीकानेर, चूरू, अलवर, झुंझनूं, सीकर, नागौर आदि स्थानों के हैं।
सच्चा सम्मान मिला-लाॅटरी के दौरान जम्मू कश्मीर में वर्ष 2016 में दो पाकिस्तानी आंतकवादियों को मारकर आर्मी के माध्यम से शौर्य पदक धारण करने वाले मकराना के नेमीचंद गोदारा व झारखंड में 7 नक्सलवादियों को मार गिराने वाले राष्ट्रपति से वीरता मेडल प्राप्त केन्द्रीय रिजर्व पुलिस बल के पूर्व सब इंस्पेक्टर झुंझनूं के मोहिभारू गांव के नंद लाल कुमावत ने जिला कलक्टर कुमार पाल गौतम की तारीफ करते हुए कहा कि आज उन्हें सच्चा सम्मान मिला है। बुर्जुग नंद लाल कुमावत ने बताया कि उन्होंने अपने बेटे को भी सी.आर.पी.एफ.में देश सेवा के लिए लगाया है। उन्होंने बताया कि वर्षो से भूमि आवंटन की राह देख रहा था,जो आज पूरी हुई है। एक ही दिन में लाॅटरी के जरिए निष्पक्षता के साथ मुरब्बे का आवंटन सपने में सच जैसा लग रहा है। उन्होंने उपनिवेशन आयुक्त कुमार पाल गौतम का आभार व्यक्त किया तथा राजस्थान सरकार की इस कार्यवाही की तारीफ की।
जन प्रतिनिधियों ने बताया अनुकरणीय-श्रीडूंगरगढ़ के विधायक गिरधारीलाल महिया,जिला प्रमुख सुशीला सींवर,प्रधान राधा देवी ने सरकार द्वारा शौर्य पदक प्राप्त व युद्ध आश्रितों को भूमि आवंटन कर अनुकरणीय कार्य किया है। सरकार व प्रशासन की दृृढ़ इच्छा शक्ति से ही आवंटियों को सम्मान के साथ भूमि का आवंटन हुआ है।
वंचितों के लिए पुनः आवंटन-कुमार पाल गौतम ने बताया कि युद्ध आश्रितों के लिए 15 आवेदन प्राप्त हुए थे,उन सभी को भूमि का आवंटन कर दिया है। इसके अलावा शौर्य पदक, सेना मेडल व पुलिस पदक धारकों के 31 आवेदनों का निस्तारण किया गया। उन्होंने बताया कि आवंटन से शेष रहे विभिन्न पदक धारकों व युद्ध आश्रितों को दूसरे चरण में राज्य सरकार के निर्देशानुसार शीध्र ही उप निवेशन क्षेत्र में भूमि का आवंटन किया जाएगा।
जनप्रतिनिधियों ने भी निकाली लाॅटरी-पूर्ण पारदर्शिता के साथ जन प्रतिनिधियों और शौर्य पदक प्राप्त करने वाले जाबांज जवानों की साक्षी में श्रीडूंगरगढ़ विधायक गिरधारी महिया, जिला प्रमुख सुशीला सींवर, बीकानेर पंचायत समिति प्रधान श्रीमती राधा देवी,जिला सैनिक कल्याण अधिकारी कर्नल पी.एस.राठौड़,उप निवेशन के उपायुक्त यशवंत भाकर,जम्मू कश्मीर में वर्ष 2016 में दो पाकिस्तानी आंतकवादियों का खात्मा करने वाले मकराना (नागौर) के नेमीचंद गोदारा, झारखंड में 7 नक्सलवादियों को नेस्ताबूद कर राष्ट्रपति से 2010 में वीरता मेडल प्राप्त करने वाले केन्द्रीय रिजर्व पुलिस बल के पूर्व सब इंस्पेक्टर झुंझनूं के मोहिभारू गांव के नंद लाल कुमावत ने जिला कलक्टर के आग्रह पर लाॅटरी निकाली।

Leave a Comment