सेमलीफाटक व धतुरिया में नही हुआ निर्माण कार्य

गली मोहल्लों में फैला हुआ है कीचड़
फ़िरोज़ खान
बारां 18 मार्च । शाहबाद ब्लॉक की गणेशपुरा पंचायत के गांव धतुरिया की जाटव बस्ती में फेल रहे कीचड़ से बस्ती के लोग परेशान हो रहे है । बस्ती के हेमराज वर्मा, रूपलाल, चंद्र मोहन, दिनेश वर्मा ने बताया कि इस गांव में करीब 60-65 परिवार निवास करते है । उन्होंने बताया कि बस्ती की किसी भी गली मोहल्ले में ग्राम पंचायत द्वारा इंटरलॉकिंग व नाली निर्माण नही करवाने की वजह घरो का गंदा पानी बीच सड़को पर फैला रहता है। उन्होंने बताया कि बारिश में निकलना मुश्किल होता है । महिलाएं व बच्चो का तो निकलना कीचड़ में निकलना मुश्किल है । जाटव बस्ती में किसी रास्ते मे निर्माण नही हो रहा है । बस्ती के लोगो ने बताया कि कई बार ग्राम पंचायत को अवगत करा दिया गया । उसके बाद भी बस्ती की सुध नही ली गयी है । उन्होंने बताया कि बस्ती के रास्तों में कीचड़ ही कीचड़ नजर आता है । इन रास्तों में पानी भरा रहता है । महिलाओ को किसी भी काम के लिए इन रास्तों में होकर ही निकलना पड़ता है । जबकि इसी गांव की अन्य बस्तियों में निर्माण हो रहा है । छोटे छोटे गांवो में आज भी सुविधाओं का अभाव है । लोग मूलभूत सुविधाओं से वंचित है । गांवो में नाली पटान तक नही है । इस कारण गन्दा पानी घरो के सामने फैला रहता है इस कारण बीमारिया फैलने का अंदेशा बना रहता है । इसी तरह सेमलीफाटक गांव की सहरिया व जाटव बस्ती में भी रास्ते कच्चे है । इन रास्तों पर निर्माण कार्य नही करवाया गया है ।बस्ती के प्रतिम सहरिया ने बताया कि सड़क मार्ग से अस्पताल व स्कूल तक कच्चा मार्ग है । इस कारण इन मार्गो पर कीचड़ रहने से निकलने में परेशानी होती है । सेमलीफाटक निवासी मनीराम सहरिया, बनवारी, श्रवणलाल, परसादीलाल, चंपालाल, मुरारी, श्रीलाल, रामप्रसाद, हेमराज सहरिया ने बताया कि गांव की इन दोनों बस्तियों में कीचड़ के कारण निकलना मुश्किल होता है । बारिश में तो इन रास्तों में पानी भर जाता है इस कारण स्कूल व अस्पताल तक जाना मुश्किल हो जाता है । साथ ही गांव वालो ने बताया कि सेमलीफाटक के नाले पर एक पुरानी पुलिया बनी हुई है । इस पर होकर गांव के अंदर आना जाना रहता है मगर बारिश में इस पर पानी रहने के निकलना मुश्किल होता है । उन्होंने इस पुलिया को ऊंचा बनाने की मांग की है । वही सहरिया बस्ती व जाटव बस्ती में बारिश का पानी भर जाने के स्कूल व अस्पताल तक मुश्किल हो जाता है । उन्होंने बस्तियों में निर्माण करवाने की मांग की है ।

Leave a Comment

error: Content is protected !!