प्रमुख नाले की सफाई में बाधक सभी अतिक्रमण हटेंगे

बीकानेर, 25 मई। बरसात के मौसम में गिन्नाणी, जूनागढ़ के पास, जिला कलक्ट्रेट सहित कोटगेट के आसपास, रेलवे स्टेशन के पास, सूचना जनसंपर्क कार्यालय, डाक बंगले के बरसाती पानी के जमाव को रोकने के लिए प्रमुख नाले की अंतिम निकासी तक सभी अवरुद्ध हटाकर नाले की पूरी सफाई का कार्य अगले 20 दिन में किया जाएगा। शनिवार को जिला कलक्टर कुमार पाल गौतम ने रानी बाजार पुलिया, डुप्लेक्स कॉलोनी, शास्त्रीनगर व रथखाना, बारदाना गली का निरीक्षण कर आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि आमजन के हित में अगर नाले की सफाई के दौरान अतिक्रमण हटाने की जरूरत पड़ी तो इन्हें हटाया जाएगा और नाले की साफ-सफाई अन्तिम छोर तक की जाएगी।
जिला कलक्टर कुमार पाल गौतम ने शनिवार को रानी बाजार पुलिया के पास से जो नाला डुप्लेक्स कॉलोनी की तरफ जा रहा है उसका निरीक्षण किया। यहां दो प्रोक्लेन मशीन 60 फीट, 30 फीट की तथा दो जेसीबी मशीन और ट्रैक्टर के माध्यम से नाले की सफाई का कार्य चल रहा है। निरीक्षण के दौरान पाया गया कि नाले तक इन सभी मशीनों को ले जाना बहुत मुश्किल हो रहा है तथा कुछ स्थानों पर तो मशीन पहुंच नहीं सकती है, ऐसे में नाले की सफाई करना बेहद कठिन और मुश्किल है। जिला कलक्टर ने कहा कि नगर निगम व नगर विकास न्यास अपने अधिकारियों के साथ इस पूरे क्षेत्र का भ्रमण करें और जो भी अतिक्रमण हो रहे हैं उनकी तथ्यात्मक रिपोर्ट लेकर तत्काल अतिक्रमण तोड़ दिये जाए। उन्होंने कहा कि जनहित के इन कार्यों में अगर किसी तरह की परेशानी आ रही है तो उसे दूर किया जाएगा चाहे इसके लिए चाहे अवैध रूप से बने भवन तोड़ने पडं़े। उन्होंने कहा कि जिन लोगों ने राजकीय भूमि पर अतिक्रमण कर रखा है वे सभी स्वतः ही हटा लें, अन्यथा प्रशासन द्वारा इन्हें हटाकर संबंधित के विरूद्ध कार्यवाही भी अमल में लाई जाएगी।
रानी बाजार पुलिया के पास बने अवैध मकानों में रहने वाले को हटाकर जिला कलेक्टर ने मौके पर बुलाकर समझाइश की। इन अवैध निर्माण से मशीनों के माध्यम से नाले की सफाई का कार्य नहीं हो रहा है, इसके चलते शहर के विभिन्न क्षेत्रों में बरसात के समय पानी एकत्रित हो जाता है। गौतम ने कहा कि आप लोग अपनी अंतर्रात्मा की आवाज से यह महसूस करें कि और गलत कार्य छोड़ दें और स्वेच्छा से ही अपने अवैध मकान आदि हटा लें। उन्होंने कहा कि नालों के अवरुद्ध हो जाने से पानी शहर के बाहर नहीं जा पाता है इसके कारण विभिन्न स्थानों पर पानी एकत्रित हो जाता है और जूनागढ़ के आसपास, पुरानी गिन्नाणी में पानी के एकत्रित होने से जान-माल की हानि होने की भी संभावना रहती है। ऐसे में नाले को अंतिम छोर तक साफ कर सभी अवरोध हटाने के कार्य में सभी लोग सकारात्मक सहयोग करें ताकि प्रशासन इस वृहद् कार्य को समय पर पूर्ण कर ले और बरसात के समय होने वाली समस्या से निजात मिल सके।
रथखाना, बारदाना गली में बनी सड़क को हटाकर नाले की सफाई होगी-
जिला कलक्टर ने रथ खाना, बारदाना गली में जो नाला बना हुआ है उसका निरीक्षण किया। वहां देखा कि नाले के ऊपर आरसीसी और डामर की सड़क बनी हुई है इसके कारण नाले को साफ करना असंभव है। जिला कलक्टर ने मौके पर ही निर्देश दिए कि बारदाना गली में बनी सड़क को तत्काल तोड़ा जाए और सड़क के नीचे जो नाला है उसकी सफाई का कार्य किया जाए। उन्होंने कहा कि नाले की सफाई में किसी भी प्रकार की रुकावट को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। सीसी रोड और डामर रोड को तोड़ते हुए पूरे नाले की सफाई की जाए तथा चैंबर निकालने का कार्य किया जाए। इस पूरे नाले की सफाई करते हुए सर्किट हाउस के पीछे जो नाला बना है जहां तक जरूरत हो उसके मुताबिक सड़क को बीच बीच में पक्चर किया जाए किया जाए ताकि नाला बिल्कुल साफ हो सके।
हाथ से उखड़ी सड़क, कार्य की जांच के आदेश-
जिला कलक्टर ने खतूरिया कॉलोनी, सूर्या कॉलोनी और शिव बाड़ी में नगर निगम द्वारा अमृत योजना के तहत करवाए जा रहे कार्यों का निरीक्षण किया। एक स्थान पर तो जिला कलक्टर ने जब नई बनी सड़क को हाथ से कुरेदा तो 2 से 5 फीट सड़क टूट गई। सड़क को देखते लग रहा था की बिना कंक्रीट जमाए धूल से भरी सड़क पर ही नई सड़क की एक पतली परत बिछा दी गई है। जिला कलक्टर ने एक दो जगह सड़क के बीचांे-बीच नई बनी सड़क उखाड़ने का प्रयास किया तो वहां भी सड़क उखड़ गई। यह देखकर उपस्थित अभियंता ठेकेदार और निगम के अधिकारी अचभिंत हो गए।
एफ आई आर दर्ज हो अधिकारी के विरुद्ध –
खतूरिया कॉलोनी में अमृत योजना के तहत हो रहे सड़क कार्य के निर्माण कार्य को देखकर इतनी घटिया सामग्री पर जिला कलक्टर ने आयुक्त नगर निगम प्रदीप के गवांडे से कहा कि जिस कंपनी द्वारा यह कार्य करवाया जा रहा है वह इस संपूर्ण कार्य को दोबारा पूर्ण गुणवत्ता के साथ करें अन्यथा कंपनी को ब्लैक लिस्टेड कर दिया जाए और संबंधित के विरूद्ध एफ आई आर दर्ज कराई जाए। साथ ही नगर निगम के अधिकारियों के विरुद्ध भी कार्यवाही की जाए। यहां इस क्षेत्र में 2 करोड रुपए की लागत से सड़क निर्माण का कार्य हो रहा है। सड़क निरीक्षण के दौरान स्थानीय लोग भी जिला कलक्टर के पास पहुंच गए। इस पर गौतम ने उपस्थित सभी लोगों से कहा कि यह सारा कार्य आम जनता के हित के लिए हो रहा है। ऐसे में कार्य पूर्ण गुणवत्ता के साथ हो इसमें आप सब भी अपना सकारात्मक सहयोग दें और इस तरह के कार्य हो तो निगम अथवा जिला प्रशासन को बताएं।
7 दर्जन से अधिक इमारतों को सीज किया जाएगा-
जिला कलक्टर ने कहा कि शहर के विभिन्न क्षेत्रों में बनी ऐसी इमारतें जिनमें अग्निशमन यंत्र सहित आग बुझाने के अन्य उपकरण आदि नहीं है तथा जिन भवनों में ज्वलनशील पदार्थों को रखा गया है अथवा अधिक ऊंचाई में बने हैं उनमें सुरक्षा के पूरे बंदोबस्त नहीं है ऐसी 7 दर्जन से अधिक इमारतों को चिन्हित किया गया है। इन इमारतों को सीज करने का कार्य आयुक्त नगर निगम प्रदीप के गवांडे अगले 2 दिनों में करें। विभिन्न स्थानों का भ्रमण कर आयुक्त यह भी देखेंगे की अन्य बने भवन भी सुरक्षा के हिसाब से सभी बंदोबस्त सही हैं ।

Leave a Comment

error: Content is protected !!