महिलाओं ने मनवाया अपनी प्रतिभा का लोहा-जनार्दन कल्ला

सरलादेवी शर्मा स्मृति महिला सम्मान समारोह आयोजित
बीकानेर, 25 मई। समाजसेविका सरला देवी शर्मा की स्मृति में दसवां महिला सम्मान समारोह शनिवार को महाराजा नरेन्द्र सिंह आॅडिटोरियम में आयोजित हुआ। इस अवसर पर छह महिलाओं को ‘सरलादेवी सम्मान’ प्रदान किया गया।
कार्यक्रम के मुख्य अतिथि वरिष्ठ कांग्रेस नेता जनार्दन कल्ला थे। उन्होंने कहा कि आज महिलाओं ने शिक्षा, चिकित्सा, साहित्य सहित समस्त क्षेत्रों में अपनी प्रतिभा का लोहा मनवाया है। महिलाओं ने सिद्ध कर दिया है कि वे किसी से कम नहीं। ऐसी महिलाओं का सम्मान करना अनुकरणीय है। उन्होंने कहा कि संस्था द्वारा किया जा रहा कार्य सरलादेवी शर्मा को सच्ची श्रद्धांजलि है।
सरदार पटेल मेडिकल काॅलेज के प्राचार्य डाॅ. एच. एस. कुमार ने कहा कि संस्था द्वारा अब तक 51 महिलाओं को सम्मानित किया जा चुका है। यह महिला सशक्तीकरण की दिशा में एक कदम है। उन्होंने कहा कि विभिन्न क्षेत्रों में उल्लेखनीय उपलब्धि हासिल करने वाली महिलाएं, दूसरों के लिए प्रेरणा स्त्रोत हैं। युवा पीढ़ी को इनका अनुसरण करना चाहिए।
वरिष्ठ अधिवक्ता सुरेन्द्र शर्मा ने कहा कि सरलादेवी सदैव सामाजिक कार्यों में सक्रिय रही। सादगी, सहजता और सरलता उनकी सबसे बड़ी खूबी थी। उन्होंने सरलादेवी के विभिन्न जीवन प्रसंगों के माध्यम से उनके व्यक्तित्व एवं कृतित्व पर प्रकाश डाला। इससे पहले अतिथियों ने सरलादेवी के चित्र पर पुष्पाजंलि अर्पित कर कार्यक्रम की विधिवत शुरूआत की।
सरला देवी स्मृति संस्थान के संयोजक एडवोकेट हीरालाल हर्ष ने स्वागत उद्बोधन दिया। उन्होंने संस्था के उद्देश्यों एवं अब तक आयोजित गतिविधियों के बारे में बताया। अध्यक्ष अरविंद मिढ्ढा ने कहा कि संस्था ने सदैव सरलादेवी के सिद्धांतों का अनुसरण करने का प्रयास किया है। इसी श्रृंखला में प्रतिवर्ष महिला सम्मान आयोजित किया जाता है।
साहित्यकार डाॅ. रेणुका व्यास ने सम्मानित होने वाली प्रतिभाओं का परिचय प्रस्तुत किया। साजिद सुलेमानी ने भी विचार व्यक्त किए। कार्यक्रम का संचालन ज्योतिप्रकाश रंगा ने किया। पार्षद हजारीमल देवड़ा ने आभार जताया।
मुख्यमंत्री ने भेजा संदेश
मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत ने कार्यक्रम के सफल आयोजन के लिए अपना शुभकामना संदेश प्रेषित किया। वरिष्ठ साहित्यकार राजेन्द्र जोशी ने इसका वाचन किया। मुख्यमंत्री श्री गहलोत ने स्व. सरलादेवी को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए उन्हें सहज, व्यवहारकुशल, मिलनसार तथा सदैव रचनात्मक कार्यों के माध्यम से समाजसेवा के क्षेत्र में सक्रिय रहने वाली महिला बताया।
इनका हुआ सम्मान
कार्यक्रम के दौरान राजस्थानी साहित्यकार-शिक्षाविद् डाॅ. प्रकाश अमरावत, साहित्यकार सीमा भाटी, सूचना तकनीक विशेषज्ञ अंशु भल्ला मेहता, चर्मरोग विशेषज्ञ डाॅ. जया वर्मा, उर्दू साहित्यकार डाॅ. शकीला बानो तथा पैरामेडिकल क्षेत्र में उल्लेखनीय उपलब्धि के लिए बसंती मेघवाल का सम्मान किया गया। सभी को अभिनंदन पत्र तथा शाॅल अर्पित किए गए।
कार्यक्रम में भारती शर्मा, अलका शर्मा, कन्हैयालाल कल्ला, अरुण व्यास, टीकूराम, रूघाराम, थानमल भाटी, नितिन वत्सस, नृसिंह व्यास, चानणमल, एन.डी. रंगा, मुश्ताक भाटी, चंद्रशेखर जोशी, बुलाकी शर्मा, कमल रंगा, राजाराम स्वर्णकार, दाऊलाल सेवग, बृजगोपाल जोशी सहित बड़ी संख्या में गणमान्य नागरिक मौजूद रहे।

Leave a Comment

error: Content is protected !!