राजस्थान के बजट की विशेष बातें

—राज्य में नई सौर ऊर्जा और पवन ऊर्जा नीति लाने की घोषणा की
—शांति-अहिंसा के बनेगा प्रकोष्ठ
—ईज ऑफ डुइंग फार्मिंग की पहल की जाएगी
—1000 करोड़ के कृषक कल्याण कोष के गठन की घोषणा
—किसानों को यथोचित भुगतान दिलाने के काम आएगा कोष
—कृषि- भूमि का उपजाऊपन, सिंचाई, फसल की सुरक्षा, विपणन मंडी, भंडारण बड़ी चुनौती
—किसान कल्याण की योजनाओं से की शुरुआत
—एक हजार करोड़ का किसान कल्याण कोष
—किसानों को उचित मूल्य देने में कोष का उपयोग होगा
—कृषि ज्ञानधारा कार्यक्रम शुरू होगा। दो करोड़ रुपए इस पर खर्च होंगे
—किसान मेले,गोष्ठियों पर दो करोड रूपए खर्च होंगे
—उवर्करों के लिए 1 लाख मेट्रिक टन डीएपी का भंडारण करवाया जाएगा
—निर्यात प्रोत्साहन नीति बनाई जाएगी
—बूंद बूंद सिचाई के साथ पोषक तत्व प्रदान करने के लिए सिचाई के लिए
—आधुनिक तकनीकों के लिए नई नीति बनेंगी
—16 हजार करोड़ के अल्प कालीन ऋण मिलेगा किसानों को
—आवारा पशु सड़क पर नहीं दिखे।
—20—20 में सीसीबी बैंकों से 16 हजार करोड के फसली ़ण मिलेंगे
—योजना को यथावत रखते हुए ब्याज मुक्त फसली रिण के लिए सरकार द्वारा 150 करोड की राशि मिलेगी
—जीएएसस चरण बद रूप से गोदाम बनेंगे। इस वर्ष 100 गोदाम बनेंगे
—जोधपुर में नया पशु चिकित्सा महाविद्यालय खुलेगा
—आवारा पशुओं की समस्या से निजात पाने के लिए हर पंचायत समिति पर होगी नंदी शाला
—400 नए पशु चिकित्सा उप केन्द्र खोले जाएंगे
—कोई भी आवारा पशु सड़क पर न दिखे- गहलोत
—700 से ज्यादा जीएसएस
—सड़क के लिए 6 हजार 37 करोड़ का प्रावधान प्रस्तावित
—मिसिंग लिंक,धार्मिक स्थलों तक पहुंच,दुर्घटना में कमी लाने का लक्ष्य
—सड़कों के सुदृढ़ीकरण के लिए नाबार्ड योजना के तहत करवाए जाएंगे कार्य
—435 किलोमीटर के 927 करोड की लागत से राज्य मार्ग विकसित करेंगे
—जनजाति और रेगिस्तान इलाको में नाबार्ड से 333 करोड़ लाग से सड़क निर्माण
—जनजाति और रेगिस्तान इलाको में नाबार्ड से 333 करोड़ लाग से सड़क निर्माण
—6 हजार मेगावॉट विद्युत उत्पादन अतिरिक्त करेंगे पारंपरिक स्त्रोत से
—बिजली उत्पादन को लेकर 10 वर्षीय बनाई योजना
—राज्य में नई सौर ऊर्जा और पवन ऊर्जा नीति लाने की घोषणा की
—प्रदेश के सभी घरों पर सोलर पैनल लगे, यह सपना है-गहलोत
—2021-22 के बाद बिजली की मांग उत्पादन से ज्यादा हो जाएगी
—जयपुर, चुरू, गंगानगर, नागौर, सीकर, हनुमानगढ़ में 627 करोड़ की लागत से राजमार्ग विकसित करेंगे
—ऊर्जा क्षेत्र में 30126 करोड़ का प्रावधान
—100000 कृषि कनेक्शन देने का काम इस साल पूरा कर लिया जाएगा
—जोधपुर में 765 केवी का ग्रिड सब स्टेशन बनेगा
—गौरव पथ का जवाब अब विकास पथ से, ग्राम पंचायत स्तर पर बनेंगे विकास पथ। पूर्ववर्ती सरकार में गौरव पथ योजनाथी ।
—प्रदेश में 220 केवी के 3, 132 के 13 ग्रिड सब स्टेशन बनेंगे
—किसानोें को कुसुम योजना के तहत सौलर पंप सेट मिलेंगे
—सौर उर्जा को जन आंदोलन बनाए। सभी घरों पर सौलर पैनल लगे।
—33 केवी सब स्टेशन पर 6 हजार सौलर सेंसर लगेंगे
—बाडमेर जोधपुर जैसलमेर में ग्रिड सब स्टेशन स्थापित किया जाएगा
—2 हजार 381 करोड खर्च होंगे
—1 लाख नवीन कृषि कनेक्शन
—नाथद्वारा, पुष्कर विद्युत लाइन भूमिगत होंगी
—कृषि कनेक्शन के लिए अलग से फीडर बनेगा, 5200 करोड़ की योजना बनेगी
—3 सालों में 33 केवी सब स्टेशन्स में 600 नए ट्रांसफोर्मर लगेंगे,500 करोड खर्च होगा
—जल संसाधन के लिए 4675 करोड़ का प्रावधान
—211 बड़े बांधों के जीर्णोद्धार के लिए 935 करोड़ रुपए के प्रस्ताव
—पंजाब और भारत सरकार के साथ इंदिरा नहर के जीर्णोधार के लिए एमओयू किया है। अंतिम छोर तक किसानों को पानी मिलेगा
—1 हजार 900 करोड का प्रावधान किया। इस साल 200 करोड खर्च होंगे
—राज्य में सिंचाई सुविधाओं के विकास के लिए 21 जिले में 570 करोड रुपए के काम होंगे
—29 सिंचाई परियोजनाओं के लिए 262 करोड़ से अधिक राशि आवंटित
—पाकिस्तान जाने वाले पानी को रोकने की योजना
—भरतपुर धोलपुर पाली सिरोही बारां भीलवाडा उदयपुर हनुमानगढ में 29 सिचाई परिजयोजना में 262 करोड खर्च होंगे
—बांधों के लिए 965 करोड रुपए खर्च होंगे
—राज्य में सिचाई सुविधाओं के लिए 21 जिलों में करोली, सीकर सवाईमाधोपुर धोलपुर में 517 करोड के काम किए जाएंगे।
—चार हजार से अधिक जनसंख्या वाले 390 गांवो को पाइपलाइन से जोड़ा जाएगा
—3490 गांवों को पेयजल योजनाओं से जोड़ा जाएगा, इस पर 950 करोड़ रुपए खर्च होंगे
—फ्लोराइड प्रभावित 1 हजार से ज्यादा क्षेत्रों में सौलर ऊर्जा तकनीक का इस्तेमाल
—सौर उर्जा चलित टैंक,ट्यूबवेल स्थापित किए जाएंगे
— 390 वंचित गांवों को पाइप लाइन से पानी की व्यवस्था
—2 हजार 918 करोड़ की लागत की पांच परियोजना
—बाडमेर की चोहटन के गुढामालाीन नर्मदा नहर से 490 करोड की योजना बनाई थी अब हम पुन हाथ में लेते हुए इस आगामी वर्षों में 2918 करोउ की लागत से पांच परियोजनाएं शुरू करेंगे उदयपुर वाटी और झुन्झुनु के गाव ढाणियां लाभान्वित होंगें
—उदयपुरवाटी, सूरजगढ़ क्षेत्र के 571 गांव-ढ़ाणियों के लिए योजना
—फूड प्रोसेसिंग यूनिट लगाई जाएंगी
—पूर्वी राजस्थान कैनाल परियोजना को नेशनल परियोजना का दर्जा देने के लिए केंद्र सरकार से आग्रह किया गया है
—ईस्टरन राजस्थान केनाल परियोजना के लिए नेशनल दर्जे की अपील
—ईस्टर्न कैनाल 37 हजार करोड की है लागत, केन्द्र सरकार से किया है आग्रह
—37000 करोड़ की ईस्टर्न कैनाल योजना। केंद्र से मंजूरी देने की अपील की जाएगी। राज्य सरकार पूर्ण सहयोग देगी
—शिवगंज को जवाई बांध से जलापूर्ति के लिए बनेगी डीपीआर
—नया एमएसएमई कानून बन चुका है
—लघु उद्यम प्रोत्साहन योजना की घोषणा
—पचपदरा रिफाइनरी को 2022 तक पूरा करने के निर्देश
—सहायक उद्योगों की स्थापना के लिए नया जोन विकसित होगा। इससे बाड़मेर-जोधपुर के हजारों लोगों को रोजगार मिलेगा
— खादी संस्थाओं को 10 साल के लिए 10 करोड़ का फंड का एलान
—बजरी रोकने का काम नही किया पिछली सरकार ने, किसने ये गंगा बहाई, जांच का विषय
—अवैध बजरी खनन से भ्रष्टाचार की गंगा बह निकली
—बजरी खनन के लिए नई नीति लाई जाएगी
—अवैध खनन रोकने के लिए सतर्कता शाखा का पुनर्गठन होगा
—प्लास्टिक, रबर, फाइबर, ल्यूब्रिकेंट समेत कई उद्योगों के लिए रीको एरिया विकसित होंगे
—वाहन प्रदूषण में कमी लाने के लिए इलेक्ट्रिक वाहनों के उपयोग को प्राथमिकता दी जाएगी
—वाहन प्रदूषण में कमी लाने के लिए इलेक्ट्रॉक वाहन नीति लाई जाएगी
—सड़क हादसों में हर साल 10 हजार से ज्यादा मौतें
—सड़क दुर्घटनाओं में बढ़ोतरी को रोकने के लिए रोड सेफ्टी के लिए जागरूकता की जरूरत है, इसके लिए मंत्रियों का एक समूह बनाया जाएगा जो सुझाव देगा
—आवासन मंडल के मकानों पर 50 प्रतिशत की छूट मिलेगी
—जयपुर की मेट्रो का काम जल्द ही पूरा हेागा। वाल् सिटी में मेट्रो सेवा प्रारंभ होगी
—मेट्रो नेटवर्क के सेकंड फेज 13 हजार करोउ की संशोधित डीपीआर बनेगी
—जोधपुर में एलिवेटेड रोड बनेगी। महामंदिर से आखलिया तक बनेगी एलिवेटेड रोड
—गली-मोहल्लो में जनता क्लिनिक खोले जाएंगे
—जयपुर शहर में इंडिया इंटरनेशनल सेंटर केन्द्र बनेगा, 20 करोड रूपए का प्रावधान
—जयपुर में देहलवाला एसटीपी का अपग्रेडेशन होगा
—किडनी हार्ट केन्सर सहित अन्य की 400 नई दवाओं अब मिलेगी
—104 नई दवाएं शामिल होगी निशुल्क दवा योजना में। 70 की बजाय 90 तरह की जांचे भी होंगी मुफ्त
—एसएमएस हॉस्पिटल में वरिष्ठ लोगो को सिटी जांच फ्री, ऐसा ही अन्य हॉस्पिटलों में भी होगा
—प्रदेश भर में वरिष्ठ नागरिकों व बीपीएल के लिए निशुल्क एमआरआई व सीटी स्कैन
—पांच नए ट्रोमा सेंटर व 50 नए प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र खुलेंगे
—पान-मसाले, गुटखे पर पूर्ण प्रतिबंध की योजना बनेगी
—जोधपुर के एमडीएम अस्पतला में मल्टीलेवल आईसीयू का निर्माण
—श्रीगंगानगर में मेडिकल कॉलेज निर्माण का काम वापस शुरू होगा
—2 अक्टूबर को पुूरे प्रदेश में अहिंसा दिवस मनेगा
—जयपुर में महात्मा गांधी संस्थान की स्थापना
—गांधी दर्शन के लिए : 50 करोड़ की लागत से महात्मा गांधी संस्थान, इसमें गांधी दर्शन म्यूजियम बनाया जाएगा
—राजीव गांधी जल संचय योजना का एलान
—गांवों के मास्टर प्लान बनाए जाएंगे
—पंचायत समिति मुख्यालयों पर अम्बेडकर भवन बनेंगे
—आवासीय पालनहार छात्रावास बनेगा
—मूक बधिर को मिलेंगे दुभाषिये
—विशेष योग्यजनों की समस्याओं का समाधान के लिए हैल्प लाइन बनेगी
पहला ट्रेनिंग सेंटर जामडोली में
—मानसिक रूगणता वाले जो ठीक हो गए हैं उनके पुर्नवास के लिए जयपुर और जोधपुर में हॉफ डे होम में उनकी देखभाल की जाएगी।
—विशेष योग्यजनों के लिए पहला ट्रेनिंग सेंटर जामडोली जयपुर में खोला जाएगा
— सिलिकोसिस के लिए नीति बनाई जाएगी
—खान श्रमिकों के कल्याण के लिए कानून लाने का प्रस्ताव
—भिक्षावति सामाजिक अभिशाप हैं सबसे पहले जयपुर को भिखारी मुक्त बनाऐंगें
—प्रदेश में मुख्यमंत्री कन्यादान योजना शुरू होगी, जिसके तहत पात्र कन्याओं को 21 हजार की सहायता हथलेवा के तौर पर प्रदान की जाएगीं 8वीं पास कन्या पात्र होगी
—हथलेवे में सरकार 21 हजार की सहायता प्रदान करेगी
—अलवर में अल्पसंख्यक बालिका छात्रावास खुलेगा
—मदरसों में स्मार्ट क्लास के लिए 10 करोड़ की योजना
—जयपुर में 10 करोड़ की लागत से कैरियर काउंसलिंग सेंटर बनेगा
—सागवाड़ा व उदयपुर में दो उत्कृष्ट कोचिंग सेंटर खुलेंगे
—बेणेश्वरधाम में पुल निर्माण के लिए बनेगी डीपीआर
— इंदिरा गांधी महिला शक्ति नीति का ऐलान
— 1000 करोड़ की प्रियदर्शनी इंदिरा निधि की घोषणा
—आंगन्बाडी कार्यकर्ताओं का मानदेय 6 हजार से 7500 रुपए
—राज्य के लिए बनाई जाएगी नवीन शिक्षा नीति
—शाला विकास के लिए 1581 करोड़ खर्च होंगे
—50 नए प्राथमिक विद्यालय खुलेंगे
—14 हजार से ज्यादा कक्षाएं,प्रयोगशालाएं बनेंगे,नवीनीकरण होगा- 1 हजार 581 करोड़ खर्च
—500 सैकंड्री स्कूल हायर सैंकड्री में क्रमोन्नत होंगे
—शराब बंदी के लिए प्राण त्याग करने वाले गुरुचरण छाबड़ा की स्मृति में कॉलेज का नाम
—सभी वंचित उपखंड मुख्यालयों पर चरणपबद्ध ढंग से कॉलेज खोलेंगे
—सूरतगढ़ कॉलेज का नाम गुरुचरण छाबड़ा की स्मृति में रखा जाएगा।

Leave a Comment