केन्द्रीय टीम ने छबड़ा में जल संरक्षण के कार्यों का किया अवलोकन

फिरोज़ खान
बारां, 12 जुलाई। केंद्र सरकार की ओर से जल शक्ति अभियान के लिए नियुक्त नोडल अधिकारी मुकेश चौधरी एवं सहयोगी हाईड्रोलोजिस्ट पैसनी पटेल ने शुक्रवार को जिले के उपखंड छबड़ा मंे जल चौपाल कार्यक्रम, मॉडल तालाब का निरीक्षण, पौधारोपण, बैथली डेम का अवलोकन करते हुए क्षेत्र में जल संरक्षण एवं भूजल स्तर के संबंध में हुए कार्यों की जानकारी ली और निर्देश दिए।
सीईओ जिला परिषद बृजमोहन बैरवा ने बताया कि केन्द्रीय नोडल अधिकारी मुकेश चौधरी एवं हाईड्रोलोजिस्ट पैसनी पटेल ने पंचायत समिति छबड़ा के सभागार में आयोजित जल चौपाल कार्यक्रम में भाग लिया और उपस्थित लोगों से क्षेत्र को जल स्वावलम्बी बनाने हेतु सुझाव आमंत्रित किए। कार्यक्रम में नोडल अधिकारी चौधरी ने कहा कि जल की बूंद-बूंद का संरक्षण जरूरी है क्योंकि जल है तो कल है। साथ ही उन्होंने कहा कि सभी लोगों को पौधारोपण करना चाहिए और अपनी छतों से आने वाले वर्षा जल को पाईप के जरिये कच्चे स्थान पर उतारे ताकि वह पानी पुनः भूमि में समाहित हो और भूजल स्तर में वृद्धि हो सके। हाईड्रोलोजिस्ट पटेल ने कहा कि सभी जलशक्ति अभियान के तहत वर्षा जल का संचय कर अपने गांव को जल आत्मनिर्भर बनाने, अभियान में तन, मन, धन से अपना पूरा सहयोग देने, लोगों को अभियान के प्रति जागरूक करने, स्वयं श्रमदान करने, जल संचय के कार्याे की देखरेख करने के लिए प्रतिबद्ध होकर कार्य करेंगे तभी अपेक्षित लक्ष्य को प्राप्त किया जा सकेगा।
इस मौके पर जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी बृजमोहन बैरवा ने कहा कि सभी अधिकाधिक पौधे लगाये तथा जल का संरक्षण करें। ग्रामीण जन स्वेच्छा से आगे आकर जल शक्ति के पुनीत कार्य में भागीदारी निभाते हुए अपने गांव के तालाब, एनीकट को गहरा करने में श्रमदान करेंगे तो समन्वित प्रयास से जिले को जल स्वावलम्बी बनाने में सफलता प्राप्त होगी। इस अवसर पर प्रधान, विकास अधिकारी राहुल बैरवा नगर पालिका चेयरमेन, सरपंच, स्थानीय जनप्रतिनिधि, प्रबुद्ध नागरिक आदि मौजूद थे।
मॉडल तालाब के कार्यों को देखा
जल शक्ति अभियान के केन्द्रीय दल ने जिला अधिकारियों के साथ छबड़ा के ग्राम हनुमतखेड़ा में निर्माणाधीन मॉडल तालाब के कार्य का निरीक्षण किया और तालाब के चारों और किए जा रहे पौधारोपण के कार्य में शामिल होकर पौधारोपण भी किया। इसी क्रम में पास ही वन विभाग द्वारा 50 हैक्टेयर क्षेत्र में 25 हजार पौधे लगाने के कार्य का भी निरीक्षण किया। केन्द्रीय टीम द्वारा बैथली डेम का निरीक्षण करते हुए इस डेम के बारे में विस्तृत जानकारी ली गई। इसके बाद ग्राम कोटड़ापार में जलग्रहण विकास विभाग के एमपीटी, चेकडेम, मिनी चेकडेम, एनिकट आदि के कार्यों का भी निरीक्षण किया। टीम द्वारा पार्वती नदी पर एनिकट का भी अवलोकन किया गया। इस अवसर पर सीईओ जिला परिषद बृजमोहन बैरवा, विकास अधिकारी राहुल बैरवा, एक्सईएन सुनील गुप्ता, मनोज पूरबगोला आदि अधिकारी भी मौजूद थे।

Leave a Comment

error: Content is protected !!