खजूर के मूल्य संवर्धन की संभावनाओं पर मंथन, प्रतिभागियों को दिए प्रमाण-पत्र

बीकानेर, 20 जुलाई। स्वामी केशवानंद राजस्थान कृषि विश्वविद्यालय के कृषि व्यवसाय प्रबंधन संस्थान (आइएबीएम) में खजूर का उत्पादन एवं मूल्य संवर्धन विषयक तीन दिवसीय प्रशिक्षण शनिवार को सम्पन्न हुई। समापन समारोह के दौरान प्रतिभागियों को प्रमाण पत्र दिए गए।
आइएबीएम निदेशक ने बताया कि राष्ट्रीय कृषि उच्च शिक्षा परियोजना के तहत आयोजित शिविर के दौरान खजूर के मूल्य संवर्धन की संभावनाओं पर मंथन किया गया। इस दौरान विशेषज्ञों के व्याख्यान हुए। खजूर अनुसंधान केन्द्र का भ्रमण करवाया गया तथा खजूर से छुहारा, शर्बत, अचार, जैम, बिस्किट, कैंडी, जैम, मुरब्बा आदि बनाने का प्रशिक्षण दिया गया। उन्होंने बताया कि प्रशिक्षण में आइएबीएम के अलावा कृषि एवं गृह विज्ञान महाविद्यालय के विद्यार्थियों ने भागीदारी निभाई।
प्रशिक्षण समन्वयक डाॅ. नरेन्द्र पारीक ने कहा कि खजूर में मूल्य संवर्धन की पर्याप्त संभावनाएं हैं। कई लोग इस कार्य में लगे हैं। विद्यार्थी भी खजूर के मूल्य सवंर्धित उत्पाद बनाने, पैकेंजिंग एवं मार्केटिंग की पहल करें। डाॅ. ममता सिंह ने खजूर के उत्पाद बनाने का प्रायोगिक प्रशिक्षण दिया। वरिष्ठ वैज्ञानिक डाॅ. राजेन्द्र सिंह राठौड़ ने विश्वविद्यालय के खजूर अनुसंधान केन्द्र की गतिविधियों के बारे में बताया। इस अवसर पर डाॅ. अदिति माथुर, डाॅ. मंजू राठौड़, डाॅ. विक्रम योगी, डाॅ. सत्यवीर सिंह, डाॅ. अदिति माथुर आदि मौजूद रही। इस दौरान विद्यार्थियों ने प्रशिक्षण से संबंधित अनुभव साझा किए।

एसकेआरएयूः कुलपति प्रो. विष्णु शर्मा की पहल
विश्वविद्यालय के 33वें स्थापना दिवस पर संस्थापक कुलपति प्रो. नाग की स्मृति में होगा व्याख्यान
बीकानेर, 20 जुलाई। स्वामी केशवानंद राजस्थान कृषि विश्वविद्यालय का 33वां स्थापना दिवस समारोह 1 अगस्त को आयोजित होगा। कुलपति प्रो. विष्णु शर्मा की पहल पर इस दिन विश्वविद्यालय के संस्थापक कुलपति प्रो. केदार नारायण नाग की स्मृति में कृषि आधारित व्याख्यान होगा। इसकी तैयारियों को लेकर शनिवार को छात्र कल्याण निदेशक प्रो. वीर सिंह की अध्यक्षता में बैठक हुई।
इस अवसर पर प्रो. सिंह ने बताया कि प्रो. नाग 5 अगस्त 1987 से 5 मई 1990 तक विश्वविद्यालय के पहले कुलपति रहे। गत 25 मई को उनका निधन हो गया। कुलपति प्रो. शर्मा की अध्यक्षता में 17 जून को आयोजित एकेडमिक काउंसिल की बैठक में विश्वविद्यालय के स्थापना दिवस पर प्रो. नाग की स्मृति में व्याख्यानमाला आयोजित करने का निर्णय लिया गया। इसी श्रृंखला में इस बार यह पहल होगी। इसके लिए स्तरीय कृषि विषय विशेषज्ञ को आमंत्रित किया जाएगा। स्थापना दिवस समारोह विश्वविद्यालय के इनडोर हाॅल में प्रातः 11 बजे से आयोजित किया जाएगा। इसमें विश्वविद्यालय के शैक्षणिक-अशैक्षणिक स्टाफ सदस्य, विद्यार्थी, राजुवास तथा आइसीएआर संस्थानों के प्रतिनिधि मौजूद रहेंगे।
तैयारियों की हुई समीक्षा
प्रो. सिंह ने बताया कि स्थापना दिवस समारोह के लिए दस कमेटियां गठित की गई हैं। इन कमेटियों द्वारा मंच व्यवस्था, स्मृति चिह्न, अनुशासन, आमंत्रण, अल्पाहार, फोटोग्राफी, बैठक व्यवस्था, साज-सज्जा एवं वाहन व्यवस्था से संबंधित कार्य किए जाएंगे। बैठक के दौरान प्रत्येक कमेटी के कार्यों की समीक्षा की गई। प्रो. सिंह ने कहा कि स्थापना दिवस समारोह, विश्वविद्यालय का महत्वपूर्ण कार्यक्रम है। इस कारण प्रत्येक कमेटी समन्वयक, समयबद्ध तैयारियां सुनिश्चित करें।
इस अवसर पर प्रो. रामधन जाट, प्रो. योगेश शर्मा, इंजी. विपिन लढ्ढा, डाॅ. राजेन्द्र सिंह राठौड़, डाॅ. पी. के. यादव, डाॅ. विजयशंकर आचार्य, इंजी. एल. के. पगारिया, डाॅ. दाताराम, डाॅ. प्रसन्नलता आर्य, डाॅ. मनमीत कौर, डाॅ. सत्यवीर सिंह आदि मौजूद रहे।

Leave a Comment

error: Content is protected !!