डाॅ.बी.डी.कल्ला ने किया केसर जल से लघु रूद्राभिषेक

बीकानेर,12 अगस्त। जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी एवं ऊर्जा मंत्री डाॅ.बी.डी.कल्ला ने सावन के अंतिम सोमवार को जयनारायण व्यास काॅलोनी के वार्ड 6 के हनुमान मंदिर पार्क में लघु रूद्राभिषेक केसर जल से किया।
सोमवार को रूद्र महायज्ञ व महाअभिषेक सहस्त्रधार अभिषेक पर डाॅ.कल्ला ने लुघ रूद्राभिषेक किया। डाॅ.कल्ला ने सावन माह की महिमा पर प्रकाश डाला और कहा कि सावन के आखिरी सोमवार के दिन प्रदोष व्रत का भी संयोग है। प्रदोष व्रत में भगवान शिव की पूजा की जाती है। यह व्रत हर महीने की त्रयोदशी तिथि के दिन किया जाता है। सावन के आखिर सोमवार पर प्रदोष को व्रत होना अपने आप में एक शुभ संयोग बना रहा है।
डाॅ.कल्ला कहा कि ने शिव को प्रसन्न करने के लिए जरूरी है कि उनकी सच्चे मन से अराधना की जाए। लेकिन फिर भी कुछ ऐसे उपाय है,जिन्हें करके आप शिव कृृपा जल्द पा सकते है। स्कंदपुराण के अनुसार सावन सोमवार व्रत रखने वाले जातक को एक समय भोजन का प्रण लेना चाहिए। इस दिन किसी भी शिव मंदिर में जाकर भगवान के शिवलिंग का जलाभिषक करना चाहिए। उन्होंने बीलपत्र के महत्व पर भी प्रकाश डाला।
कार्यक्रम के संयोजक गौरी शंकर मोदी ने बताया कि पूरे सावन माह में रूद्राभिषेक यज्ञाचार्य कैलाश पुरोहित के सानिध्य में चला। इस दौरान सावन माह में सवा लाख पार्थिव शिवलिंग बनाए गए। इसमें सिरीदेवी अरोड़ा व रामप्यारी मोदी ने सक्रिय सहयोग दिया।

Leave a Comment

error: Content is protected !!