जिसे करोड़ों जमा कर मूर्त रूप देने में युवतियों ने रिकॉर्ड बना दिया

-✍️मोहन थानवी
बीकानेर के समीपस्थ चूहों वाली देवी माता के धाम देशनोक से नोखा की ओर राष्ट्रीय मार्ग पर नोखा गांव में नोखा की बेटियों ने अप्रतिम कार्य योजना को मूर्त रूप देकर रिकॉर्ड कायम कर दिखाया है। यहांं मकर संक्रांति के दिन बेटियों के दम पर मां अन्नपूर्णा प्रसादालय का भूमि पूजन कर मां अन्नपूर्णा प्रसादालय का निर्माण शुरू किया गया है। मौजूद गणमान्यों ने कोतुक तो तब प्रकट किया जब भूमि पूजन समारोह में गुवाहाटी के दानवीर ने एक करोड़ की लागत वाले एक प्रकोष्ठ निर्माण का दायित्व चंद पलों में ले लिया। अलावा इसके बमुश्किल 1 घंटे के अंदर करीब 300 प्रभुजनों के लिए नोखा के भामाशाहों द्वारा बैड भेंट की घोषणा एक के बाद एक होती गई , प्रत्येक बैड 1 लाख लागत का होगा।
आपको बता दें कि आश्रयहीन,असहाय पीडि़तों (प्रभुजनों) की सेवार्थ नोखा में अपना घर आश्रम के 600 आवासीय क्षमता वाले भवन और मां अन्नपूर्णा प्रसादालय का भूमि पूजन 15 जनवरी को विधि विधान से किया गया। भूमि पूजन रामेश्वरानंद महाराज व स्वामी रामानंद जी महाराज के सान्निध्य में सम्पन्न हुआ। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि जिला कलक्टर कुमारपाल गौतम थे। जिला उद्योग केन्द्र की महाप्रबंधक मंजू नैण गोदारा सहित गणमान्य साक्षी बने। करीब दस करोड़ की लागत से बनने वाले अपना घर आश्रम का निर्माण 2021 तक पूरा हो सकेगा। जिसमें अस्पताल व अन्य सुविधाएं भी मुहैया रहेगी। नोखा की देश विदेश में प्रवासी करीब सात सौ बेटियां अपने ससुराल से पीहर नोखा में एक करोड़ तीस लाख रूपये जमा कर अपना घर के आवासीय भवन को बनाने जा रही है। समारोह में अतिथियों सहित डॉ बी एम भारद्वाज, एम पी सिंह, सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग के उपनिदेशक एल डी पंवार, माधुरी भारद्वाज ने भी विचार रखे।
भव्य समारोह में अध्यक्ष किरण झंवर, हनुमान झंवर, डी पी पचीसिया, जुगल राठी, किशन मून्दड़ा,अशोक मून्दड़ा,निर्मल पारख के मार्गदर्शन में बड़ी संख्या में कार्यकर्ताओं ने विभिन्‍न व्यवस्थाओं का बखूबी संचालन किया। कार्यक्रम में नोखा पालिकाध्यक्ष नारायण झंवर, हनुमान झंवर, डी पी पचीसिया, जुगल राठी,दामोदर झंवर, सुभाष मित्तल, डॉ धनपत कोचर, राजाराम धारणिया,विनोद गोयल, नरेश मित्तल, मगन चांडक, रामेश्वरलाल भूतड़ा, कन्हैयालाल लखाणी, बाबूलाल मोहता सहित अनेक लोग साक्षी रहे।
समारोह का सफल संचालन ज्योति प्रकाश रंगा ने किया। आभार ज्ञापन दायित्व ओमप्रकाश मून्दड़ा ने वहन किया।

चित्र – देव थानवी

Leave a Comment

error: Content is protected !!