परिवहन विभाग सेवानिवृत कर्मचारियों को दें पेंशन व परिलाभ-देवनानी

प्रो. वासुदेव देवनानी
जयपुर, 15 सितम्बर।
विधानसभा में बधुवार को ‘राज.पथ परिवहन सेवा बिना टिकट यात्रा निवारण संशोधन बिल 2021’ पर बोलते हुए भाजपा के वरिष्ठ नेता, पूर्व शिक्षा मंत्री एवं अजमेर उत्तर विधायक वासुदेव देवनानी ने कहा कि सरकार परिवहन विभाग से सेवानिवृत कर्मचारियों को पेंशन व परिलाभ देने की दिशा में गहनता से विचार करें। सरकार द्वारा पेंशन एवं परिलाभ नहीं देने पर विभागीय कर्मचारियेां में अनिश्चितता का वातवरण पैदा हो रहा है जिसके चलते सरकार कितने भी हाथ पाॅव मार लें विभाग को कोई फायदा नहीं होने वाला है।

देवनानी ने कहा कि बिना टिकट यात्रा करने के बदले पहले से कई गुणा अधिक पैलंटी वसूलने का प्रस्ताव लाना राज्य सरकार की अकलता के दिवालियापन का उदाहरण है। बिना टिकट यात्रा करते पकडे जाने पर 250 रू.की बजाए 2000 रू. पैलंटी के रूप में वसूलने का प्रस्ताव अव्यवहारिक है। ऐसा प्रस्ताव लाना मुर्खतापूर्ण है। वास्तव में सरकार को संशोधन प्रस्ताव ही लाना था तो रोडवेज किस प्रकार बेहतर चलें, रोडवेज की माली हालत कैसे सुधरे और भ्रष्टाचार खत्म होकर घाटा कैसे पूरा हो इत्यादि पर चर्चा करनी चाहिए।
उन्होंने कहा कि परिवहन विभाग भ्रष्टाचार में आकण्ठ तक डूबा हुआ है। भ्रष्टचार उॅपर से नीचे तक जडे जमाए हुए है। चालक-परिचालक से लेकर उच्चपदों पर बैठे अधिकारी भ्रष्टाचार में डूबे हुए है जबकि इस पर लगाम लगाने के लिए सरकार द्वारा अब तक कोई प्रयास नहीं हुआ है। अधिकारियों की ओर से आज भी सरेआम भ्रष्टचार को अंजाम दिया जा रहा है फिर भी सरकार इस दिशा में कोई कारगार प्रयास नहीं कर रही है।
उन्होंने कहा कि प्रदेश में बडा गिरोह है जो बसों का अवैध संचालन कर रहा है। अजमेर सहित प्रदेश के तमाम जिलों में बस डिपो के बाहर सरेआम निजी बसें अड्डा जमाए हुए हैं। रोडवेज बस डिपो के बाहर खडी निजी बसों द्वारा सारी सवारियाॅ भरकर रवाना होने के बाद रोडबेज बसें डिपो से रवाना होती है। यह कहीं ना कहीं बस डिपो पर तैनात विभागीय अधिकारियों की मिलीभगत से ही संभव हो रहा है। निश्चित रूप से यह विचारणीय प्रश्न है कि रोडवेज में बैठने वाली यात्रियों की संख्या प्रतिदिन बढने और निजी बसों की तुलना में रोडवेज बसों का किराया भी अधिक होने के बाद भी रोडवेज विभाग घाटे में है जबकि निजी बस गिरोह रोडवेज बसों की तुलना में किराया कम लेने के बाद भी कमा रहे हैं। अंत में देवनानी ने संशोधन बिल को पारित करने के बजाए 6 माह के लिए जनमत के लिए प्रसारित करने की मांग भी की।

हाॅर्न के अलावा रोडबेज बस में सब बजता है
बसों की हालत पर प्रकाश डालते हुए उन्होंने कहा कि रोडवेज बसें गंदगी से अटी हुई है। बसांे से बदबू आती रहती है। यात्री रोडवेज बसों में सफर करने से कन्नी काटते हैं। सच्चाई तो यह है रोडवेज बसों की हालत इतनी खस्ता है कि बसों में हाॅर्न के अलावा सब बजता है।

रिक्त पदों को भरें सरकार
उन्होंने कहा कि 2014 के बाद विभाग में नियुक्ति नहीं हुई है। सारे पद खाली पडे. है। विभाग को प्रभावी रूप से चलाने के लिए तत्काल प्रभाव से रिक्त पडे पदों पर नियुक्ति करना आवश्यक है।

Leave a Comment

This site is protected by reCAPTCHA and the Google Privacy Policy and Terms of Service apply.

error: Content is protected !!