टॉक शो ‘अपराजिता’ में महिलाओं ने सुनाई अपने जीवन-संघर्ष की कहानियां

जयपुर // कला मंज़र संस्था और शिल्पायन प्रशिक्षण संस्थान के संयुक्त तत्वाधान में कैफे 225 वेस्ट में महिला टॉक शॉ की मासिक श्रंखला शुरू की गई जिसमें अदम्य साहसी महिलाओं को विशिष्ट अतिथि के रूप में आमंत्रित किया जाएगा।
लक्ष्मी अशोक ने स्वागत वक्तव्य देते हुए टॉक शॉ के उद्देश्यों पर प्रकाश डाला उन्होंने बताया कि इस टॉक शॉ में उन प्रतिभाशाली महिलाओं को आमंत्रित किया जाएगा जिनका जीवन संघर्ष समाज को मार्गदर्शन और सम्बल प्रदान करता है। कला मंज़र की महासचिव मीनाक्षी माथुर ने बताया कि प्रथम शॉ में सामाजिक कार्यकर्ता व व्यवसायी ज्योति कासलीवाल को आमंत्रित किया गया जो स्वयं दिव्यांग श्रेणी से आती हैं। ज्योति कासलीवाल ने कहा कि हर महिला के भीतर एक अपराजिता रहती है और हर इंसान को अपनी लड़ाई स्वयं ही लड़नी होती है जीतता वही है जिसे स्वयं पर भरोसा होता है।
शॉ में जहां महिलाओं ने अपने अपने मन की बात रखी वही सबने दिव्यांगों के जीवन से सम्बंधित समस्याओं पर भी चर्चा की , इस बात पर अधिक प्रकाश डाला गया कि सार्वजनिक स्थलों के निर्माण में दिव्यांगों के अनुकूल वास्तु का अवश्य ध्यान रखा जाना चाहिए। वर्तमान में महिलाओं और दिव्यांगजनों की आर्थिक आत्मनिर्भरता भी अतिआवश्यक है इस संदर्भ में स्वरोजगार विषय पर भी चर्चा की गई।
शॉ में वरिष्ठ नृत्य गुरु उषा श्री , वरिष्ठ आर.पी.एस अधिकारी सीमा हिंगोनिया , डॉ अलका राव , वीना चौहान , पूर्णिमा कॉल रुचि भार्गवा , शिवानी जयपुर , नूतन गुप्ता , शकुन्तला शर्मा , सुनीता बिशनोला , इवादीप, अन्नू सोगानी , लवलीना माथुर , सोनू छाबड़ा , पारुल माथुर , ज्योतना माथुर , शिप्रा माथुर राशिका शर्मा , सहित विभिन्न क्षेत्रों से अनेक महिलाएं उपस्थित रहीं।

Leave a Comment

This site is protected by reCAPTCHA and the Google Privacy Policy and Terms of Service apply.

error: Content is protected !!