एमएसएमई हेतु ऋण जागरूकता शिविर सम्पन्न

अजमेर, 11 जनवरी। किशनगढ़ मार्बल एसोसियेशन भवन के सभागार में एमएसएमई हेतु ऋण जागरूकता शिविर का आयोजन किया गया। इस शिविर का आयोजन अग्रणी जिला प्रबंधक बैंक ऑफ बड़ौदा अजमेर द्वारा किया गया। इस शिविर में किशनगढ़ एवं समीपवर्ती क्षेत्रों के उद्यमी, नव उद्यमी, दस्तकार, हस्तशिल्पी एवं ऎसे बेरोजगार युवक, युवतियां जो अपना एमएसएमई उद्यम स्थापित करना चाहते है, भाग लिया गया।

शिविर के प्रारम्भ में श्री माधु सिंह रावत, अग्रणी जिला प्रबंधक द्वारा एमएसएमई के लिए 59 मिनट में ऋण स्वीकृत योजना सहित मुद्रा योजना एवं बैंको द्वारा संचालित विभिन्न योजनाओं के बारे में विस्तार से जानकारी दी गई तथा ऋण स्वीकृति एवं वितरण हेतु समस्त औपचारिकताएं की जानकारी प्राप्त कर सकते है तथा 10 लाख रू. तक का ऋण बिना किसी सांपश्विक प्रतिभूति की व्यवस्था है तथा शिविर में श्री हरिकेश मीना, सहायक निदेशक उद्योग विभाग द्वारा राज्य सरकार द्वारा एमएसएमई इकाईयों के हितार्थ एवं कल्याणार्थ संचालित राजस्थान निवेश प्रोत्साहन योजना 2014, भामाशाह रोजगार सृजन योजना, प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम, हस्तशिल्पियों हेतु बाजार सहायता योजना आदि के बारे में विस्तारपूर्वक जानकारी दी गई तथा यह अवगत कराया गया कि जिला उद्योग केन्द्र अजमेर में स्थापित एमएसएमई फेसिलिटेशन सेंटर में कोई भी उद्यमी किसी भी कार्य दिवस में आकर न केवल आर्थिक रूप से व्यवहारिक उद्यम की जानकारी प्राप्त कर सकते है अपितू उद्योग स्थापना से पूर्व समस्त आवश्यक रजिस्ट्रेशन, लाइसेंस, स्वीकृतियां, अनापत्तियां सहित प्रोजेक्ट रिपोर्ट तैयार करने एवं ऋण प्राप्त करने की प्रक्रिया के बारे में भी जानकारी प्राप्त कर सकते है, उनके द्वारा यह भी बताया गया कि जिला उद्योग केन्द्र, कार्यालय भवन में 200 से अधिक उत्पादों की प्रोजेक्ट रिपोर्ट उपलब्ध है, जिसका आमजन लाभ उठा सकते है। इसके साथ ही उनके द्वारा एमएसएमई डवलपमेंट एक्ट – 2006 के अन्तर्गत सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम एद्यम की परिभाषा पर प्रकाश डालते हुए यह अवगत कराया गया कि एमएसएमई द्वारा बिक्री किए गए माल की वसूली के संबध में आयुक्त, उद्योग की अध्यक्षता में एमएसएमई काउंसिल भ्ज्ञी कार्यरत है, जो बकाया लेनदारी का निपटारा किया जाता है। श्रीमती सीमा खन्ना निदेशक आरसेटी बड़ौदा स्वरोजगार विकास संस्थान अजमेर द्वारा आयोजित विभिन्न प्रकार के प्रशिक्षण कार्यक्रमों की विस्तृत जानकारी प्रदान करते हुए आह्वान किया गया कि अधिक से अधिक आमजन लाभ उठाएं। श्री पालीराम उप प्रबंधक राजस्थान वित्त निगम ने शिविर में युवा उद्यमिता योजना के संबंध में जानकारी देते हुए यह अवगत कराया कि 1.50 करोड़ रू के ऋण पर 6 प्रतिशत ब्याज अनुदान की व्यवस्था है, जिसमें युवा उद्यमियों को मात्र 7 प्रतिशत की दर पर ही वित्त निगम से ऋण प्राप्त कर सकते है। मौके पर ही गुड बोरोवर योजना के अन्तर्गत 132 करोड़ रूपए का ऋण आवेदन पत्र तैयार कराया गया।

इस शिविर में बैंक ऑफ बड़ौदा, भारतीय स्टेट बैंक, आईसीआईसीआई, यूको बैंक, यूनियन बैेंक, बैंक ऑफ इंडिया, विजया बैंक, बड़ौदा क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक, आंध्रा बैंक, ऑरियंटल बैंक ऑफ कॉमर्स, एयू स्मॉल फाइनेंस बैंक, पंजाब नेशनल बैंक, एसकेस फाइनेंस द्वारा एमएसएमई इकाई के हितार्थ संचालित विभ्जि्ञन्न ऋण योजनाओं एवं बेरोजगारों के बारे में विस्तृत जानकारी दी गई। इस शिविर में 125 से अधिक उद्यमियों द्वारा भाग लिया गया।

Leave a Comment