संस्कार शिविर के माध्यम से अनौपचारिक सिन्धी शिक्षा से जुडाव -डॉ. गेहाणी

स्वामी सर्वानन्द विद्यालय में बाल संस्कार शिविर दर्शन
अजमेर 19 मईं 2019। सिन्धी बाल संस्कार शिविर का दर्शन करते हुये जोधपुर से आये डॉ. प्रदीप गेहाणी प्रदेश भाषा एवं साहित्य मंत्री ने कहा कि संस्कार शिविर के माध्यम से अनौपचारिक शिक्षा से जुडाव का एक सशक्त माध्यम बना हुआ है। सभा की ओर से प्रदेश भर में आयोजित इन संस्कार शिविरों में बच्चों द्वारा न केवल सिन्धी भाषा संस्कृति, सभ्यता एवं संस्कारों से रूबरू होते हुये व अपनी मातृभाषा को बोलने सीखने व समझने में भी सक्षम हो रहे है।
संगठन मंत्री मोहन कोटवाणी ने बताया कि ग्रीष्मकालीन अवकाश में विद्यार्थियों के लिये मातृ भाषा गीत संगीत, छेज्, भगत व ज्ञानवर्धक प्रतियोगिता सहित राज्य के प्रथम सिन्धी बाल संस्कार शिविर का स्वामी सर्वानन्द विद्यालय, आशा गंज में दर्शन में सिन्धु संगम संस्था के संरक्षक हरीश हिंगोराणी ने बच्चों से रूबरू होते हुये कहा कि यह शिविर भाषा को बचाने का सफल प्रयास है। सन्धी समाज महासमिति के अध्यक्ष कवंलप्रकाश किशनानी, सभा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष नवलराय बच्चाणी, प्रदेश महामंत्री महेन्द्र कुमार तीर्थाणी, प्रदेश मंत्री (युवा) मनीष ग्वालाणी, संगम के अध्यक्ष दयाल प्रियाणी, रमेश मेंघाणी, जयप्रकाश थावाणी उपस्थित थे।
महानगर मंत्री महेश टेकचंदाणी ने बताया कि विद्यालय की शिक्षिकाये रूकमणी वतवाणी, भारती बच्चाणी, सीमा रामचंदाणी, हेमा चौथवाणी शिक्षण कार्य, संगीत व नाटक विधा घनश्याम ठारवाणी भगत, भावना मेहरा मुकेश शर्मा व मुस्कान कोटवाणी द्वारा करवाया गया। खेलकूद श्याम लालवाणी, मोहन टिलवाणी, खियल मंगलाणी, नरेन्द्र सोनी, दुर्गेश सोनी, जयकिशन हिरवाणी व योगशिक्षा दौलतराम थदाणी द्वारा करवाई गई। महानगर अध्यक्ष नरेन्द्र बसराणी ने सभी का स्वागत व जिलामंत्री मोहन तुलस्यिाणी ने आभार प्रकट किया।,

(रमेश वलीरामाणी)
प्रचार मंत्री,
मो. 9413691477

Leave a Comment

error: Content is protected !!