स्वाधीनता दिवस समारोह पटेल मैदान में आयोजित होगा

अजमेर 15 जुलाई। स्वाधीनता दिवस का जिला स्तरीय समारोह 15 अगस्त को पटेल स्टेडियम में मनाया जाएगा। जहां मुख्य अतिथि राष्ट्रीय ध्वज फहराएंगे। स्वाधीनता दिवस मनाएं जाने के संबंध में सोमवार को जिला कलक्टर श्री विश्व मोहन शर्मा की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट सभागार में बैठक का आयोजन किया गया। बैठक में कार्यक्रम आयोजन के संबंध में समस्त विभागों से विस्तृत चर्चा कर जिम्मेदारियां सौंपी गई।

जिला कलक्टर ने बताया कि स्वाधीनता दिवस का मुख्य समारोह पटेल स्टेडियम में प्रातः 9 बजकर 5 मिनट पर प्रारम्भ होगा। जहां मुख्य अतिथि द्वारा झण्डारोहण कर परेड का निरीक्षण करेंगे तथा मार्चपास्ट की सलामी लेंगे। कार्यक्रम में स्कूली छात्र-छात्राओं द्वारा सामूहिक नृत्य तथा व्यायाम के मनमोहक कार्यक्रम प्रस्तुत किए जाएंगे। इस मौके पर स्वतंत्रता सैनानियों का सम्मान किया जाएगा तथा उत्कृष्ट कार्य करने वाले लोगों को पारितोषिक वितरण किया जाएगा।

बैठक में निर्णय लिया गया कि स्टेडियम में लाईनिंग की व्यवस्था, माईक व अस्थायी शौचालयों की व्यवस्था नगर निगम द्वारा, छात्र – छात्राओं को बसो में लाने के लिए जिला परिवहन अधिकारी द्वारा, बच्चों को फल व मिठाई वितरण नगर निगम द्वारा जिला रसद अधिकारी के समन्वय से, बैठने की व्यवस्था के लिए उपखण्ड अधिकारी एवं तहसीलदार द्वारा, बैरिकेटिंग व्यवस्था के लिए सार्वजनिक निर्माण विभाग, विद्युत व्यवस्था के लिए अजमेर डिस्कॉम को जिम्मेदारी सौंपी गई। कार्यक्रमों की अन्तिम व्यवस्था का निरीक्षण 13 अगस्त को होगा।

सांस्कृतिक कार्यक्रम 14 को

स्वाधीनता दिवस के अवसर पर 14 अगस्त को सायं 7 बजे जवाहर रंगमंच पर शिक्षा विभाग द्वारा देश भक्ति गीतों से ओत प्रोत रंगारंग कार्यक्रम विभिन्न विद्यालयों के छात्र-छात्राओं द्वारा प्रस्तुत किया जाएगा।

बैठक में अतिरिक्त जिला कलक्टर श्री आनंदी लाल वैष्णव एवं श्री कैलाश चंद लखारा, जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी श्री गजेन्द्र सिंह राठौड़, उपखण्ड अधिकारी श्रीमती अर्तिका शुक्ता, आईएएस प्रशिक्षु नित्या के, जिला रसद अधिकारी श्री संजय माथुर सहित समस्त जिला स्तरीय अधिकारीगण, विभिन्न विद्यालयों के प्रभारी, पुलिस, एनसीसी, स्काउट सहित संबंधित अधिकारीगण उपस्थित थे।

स्वाधीनता दिवस समारोह ःः पुरूस्कार के लिए आवेदन 5 अगस्त तक

अजमेर, 15 जुलार्ई। स्वाधीनता दिवस समारोह पर समस्त संस्थाओं/ कार्यालयों के छात्र/छात्राओं व कर्मचारियों द्वारा स्वाधीनता दिवस के अवसर पर जिला स्तर पर पुरस्कार के प्रस्ताव 5 अगस्त तक अनिवार्य रूप से संबंधित विभाग के माध्यम से कलक्ट्रेट कार्यालय को भिजवाये जा सकते है। इसके पश्चात प्राप्त होने वाले प्रस्तावों पर कोई विचार नहीं किया जाएगा।

अतिरिक्त जिला कलक्टर श्री आनंदी लाल वैष्णव ने बताया कि अधिकारी/कर्मचारी के प्रस्ताव में इस आशय का स्पष्ट अंकन कर भिजवावें कि इनके विरूद्ध किसी प्रकार की विभागीय कार्यवाही प्रस्तावित/विचाराधीन नहीं है तथा इनके विरूद्ध किसी प्रकार की आपराधिक जांच विचाराधीन नहीं है। इनके अतिरिक्त गत पांच वर्षों में जिला स्तर पर उन्हें सम्मानित नहीं किया गया है। प्रत्येक विभाग यह सुनिश्चित कर केवल एक अधिकारी/कर्मचारी का प्रस्ताव ही भिजवावें एक से अधिक नहीं। कोई भी विभाग स्वयंसेवी संस्थाओं के प्रस्ताव भिजवाने से पूर्व उस संस्था के संबंध में पूर्ण जांच करने के पश्चात ही प्रस्ताव भिजवावें।

सडकों की़ कटिंग की मरम्मत एक सप्ताह में पूर्ण करें – जिला कलक्टर

अजमेर, 08 जुलाई। किसी भी क्षेत्र में रोड कटिंग नहीं हो और कहीं वर्षा के कारण पानी भराव की स्थिति भी नहीं बनें। यह सुनिश्चित करें। जहां भराव की स्थिति बनती है वहां पर्याप्त मात्रा में नगर निगम पम्प की व्यवस्था रखें। शहर में जिन सड़कों की कटिंग की गई है उनकी मरम्मत एक सप्ताह में पूर्ण करें।

जिला कलक्टर श्री विश्व मोहन शर्मा ने सोमवार को विभिन्न विभागों की साप्ताहिक समीक्षा बैठक की अध्यक्षता करते हुए उक्त निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि मौसम के परिवर्तन के चलते अनेक बीमारियों के फैलने की संभावना रहती है, ऎसे में चिकित्सा विभाग अलर्ट रहे तथा सभी जगह पर्याप्त दवाईयां उपलब्ध रहे। नगर निगम भी शहर में जगह जगह फोगिंग कराने की व्यवस्था सुनिश्चित करें।

उन्होंने खसरा रूबेला अभियान की आम जन को विस्तार से जानकारी देने के निर्देश दिये तथा कहा कि अभियान का जमीनी स्तर पर व्यापक प्रचार प्रसार किया जायें ताकि लोगों को अभियान के संबंध में जानकारी हो सकें। उन्होंने निजी विद्यालयों के संस्था प्रधानों की एक और कार्यशाला और रखने के भी निर्देश दिये। जिन्होंने पूर्व कार्यशाला में भाग नहीं लिया है, वे ही इस कार्यशाला में भाग लेंगे। उन्होंने पेंशन प्रकरणों के भौतिक सत्यापन कार्य शीघ्र सम्पादित करने के निर्देश भी दिए। नगर निगम बकाया सत्यापन को एक सप्ताह में निस्तारित करें।

जिला कलक्टर ने पशुपालन विभाग को पशु चिकित्सालयों में पर्याप्त मात्रा में दवाईयों की उपलब्धता सुनिश्चित करने के निर्देश दिए गए। श्रम विभाग को भी निर्देश दिए कि वे श्रमिकों के पंजीयन कार्य में गति लाए तथा विभिन्न योजनाओं सहित समयबद्धता के साथ कार्य सुनिश्चित करें। उन्होंने जलदाय विभाग को निर्देशित किया कि वे कन्टीजेन्सी प्लान पर शीघ्र कार्यवाही करें। भैंसरोड़गढ से पानी लिफ्टिंग कार्य के भी प्रस्ताव तैयार किये जायें। उन्होंने जिला परिषद को नरेगा कार्याे में औसत मजदूरी दर बढ़ाने के प्रयास करने तथा मेटों को प्रशिक्षण देकर उनकी परीक्षा ली जाये, तत्पश्चात उतीर्ण मेटों को ही लगाने के निर्देश दिये। उन्होंने डीएमएफटी के बकाया कार्यो की तकनीकी स्वीकृतियां शीघ्र जारी करने के लिए भी संबंधित विभागों को निर्देशित किया।

बैठक में उन्होंने कहा कि सभी विभाग अपने यहां आने वाले मुख्यमंत्री कार्यालय, मंत्रीगण एवं जनप्रतिनिधियों से प्राप्त पत्रों का पृथक से पंजिका संधारित कर उनका तत्काल निस्तारण करने की व्यवस्था भी करें। उन्होंने राजस्थान सम्पर्क एवं मुख्यमंत्री हैल्पलाइन पर बकाया चल रहे प्रकरणों की भी समीक्षा करते हुए तत्काल निस्तारण के भी निर्देश दिए।

बैठक में अतिरिक्त जिला कलक्टर श्री आनन्दी लाल वैष्णव ने अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि वे कलेक्ट्रेट कार्यालय में प्रतिदिन आमजन एवं राजकीय विभागों द्वारा प्राप्त परिवादों / पत्राों जिन्हें स्टार मार्किंग किया गया है, को निर्धारित समय सीमा में निस्तारित करें। उन्होंने बकाया चल रहे पत्रों के संबंध में संबंधित विभाग को शीघ्र निस्तारण के निर्देश भी दिये।

इस मौके पर आईएएस प्रशिक्षु नित्या के, अतिरिक्त जिला कलक्टर श्री आनन्दी लाल वैष्णव, जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी श्री गजेन्द्र सिंह राठौड़, अतिरिक्त जिला कलक्टर श्री कैलाश चन्द्र लखारा, जिला रसद अधिकारी श्री संजय माथुर, महिला एवं बाल विकास विभाग की उप निदेशक श्रीमती अनुपमा टेलर सहित समस्त विभागों के जिला स्तरीय अधिकारीगण उपस्थित थे।

केन्द्रीय सहायक सचिव ने किया जल शक्ति अभियान कार्यों का अवलोकन

अजमेर, 15 जुलाई। जल शक्ति अभियान के तहत केन्द्र से आये सहायक सचिव श्री श्रीनिधि ने पिछले दो दिनों में जिले की चार पंचायत समितियों यथा मसूदा, भिनाय, सरवाड़ एवं जवाजा के गाँवों का भ्रमण कर कृषि एवं उद्यान विभाग के द्वारा अभियान अन्तर्गत कराये जा रहे कार्यों का अवलोकन किया।

मसूदा में ग्राम शिखरानी में ग्रामीणों को संबोधित करते हुये अभियान की जानकारी प्रदान की एवं जल की प्रत्येक बूंद को सहेज ने की प्रतिज्ञा दिलाते हुये इसे जन आंदोलन बनाने का आवहान किया। मौके पर निर्मित फार्मपौण्ड़ एवं उसमे एकतिर््त जल का सदुपयोग करने की आवश्यकता बताई। श्री श्रीनिधि ने कृषक के खेत पर पौधारोपण भी किया इसके साथ ही उपस्थित कृषकों को मृदा स्वास्थय कार्ड भी वितरित किये। श्रीनिधि द्वारा कृषकों से वार्ता कर भारत सरकार द्वारा जल शक्ति अभियान के तहत वर्तमान में अपनायी जा रही कृर्षण क्रियाओं, जल उपयोग संबिधित प्र6न भी पूछे एंव रिर्पोट तैयार की। इस अवसर पर मसूदा पं. स. प्रधान एवं सरपंच शिखरानी तथा बड़ी संख्या में ग्रामीण मौजूद थे।

ग्राम बड़ली में सामुदायिक फार्मपौण्ड़ तथा ग्राम भैरूखेड़ा में निर्मित फार्मपौण्ड तथा बूंद- बूंद सिंचाई तकनिक से की जा रही खेती का अवलोकन किया। सरवाड़ पंचायत समिति के ग्राम बड़ला में 18 बीघा में बूंद-बूंद सिंचाई के माध्यम से कपास की खेती को देखा। मौके पर मौजूद कृषक ने अवगत कराया की इस सिंचाई पद्धति को अपनाने से पहले वह उपलब्ध पानी से केवल 4 बीघा में खेती कर पाता था तथा उसके साथ ही कपास की कतारो के मध्य विछाई गई पोलिथीन के माध्यम से पानी का वाष्पीकरण रोक कर पानी की अतिरिक्त बचत करने के साथ ही खरपतवार की रोकथाम संभव हुई है, परिणामस्वरूप खेती की लागत कम हुई है।

केकड़ी पंचायत समिति के ग्राम देवगांव में ग्रामीणों से संवाद करते हुये सहायक सचिव ने लोगो को जल बचाने, वृक्षारोपण करने तथा कम पानी वाली फसले उगाने आदि के लिये प्रेरित किया। इस अवसर पर कृषि विभाग के उपनिदेशक श्री वी के शर्मा ने अवगत कराया की कृषकों की जागरूकता, विभागीय कार्मिक की सक्रियता से देवगांव में अभियान के तहत विगत कुछ वर्षो में करीबन 1000 फार्मपौण्ड़ खोदे गये हैं। एक फार्मपौण्ड में वर्षा का अमृत रूपी 1500000 लाख लीटर जल संग्रहित होता है। इस प्रकार निर्मित फार्मपौण्ड़ से भूजल स्तर उपर आया है तथा ग्रामीणों के जीवन स्तर में अप्रत्यासित परीवर्तन हुआ है।

इस अवसर पर सहायक सचिव ने खोदे गये फार्मपौण्ड़ एवं उनमें एकत्रित वर्षा जल का फव्वारे के माध्यम से उपयोग होते देख कार्यो की सराहना की एवं ग्रामीणाें की समस्याओं को सुना।

भ्रमण के दौरान प्रशिक्षु आई.ए.एस. नित्या, उप निदेशक कृषि वी के शर्मा, सहायक निदेशक कृषि श्री संजय तनेजा, श्री विनोद कुमार छाजेड़, श्री मदनलाल, सहायक निदेशक उधान डॉ के. पी. सिंह कृषि अनुसंधान अधिकारी डॉ. दिनेश चन्द, श्री राजेश भोगावत आदि मौजूद रहे।

Leave a Comment

error: Content is protected !!