स्मार्ट सिटी को मिली कंसल्टेंट कम्पनी

अजमेर, 24 जुलाई। स्मार्ट सिटी अजमेर का कार्य अब तेज गति पकड़ेगा। योजना के तहत एलिवेटेड रोड, पेयजल व्यवस्था, आनासागर झील सौन्दर्यीकरण, स्मार्ट क्लास एवं सीवर लाइन सहित अन्य कार्य कराए जा रहे है। इसके साथ ही साईंस पार्क, रेलवे म्यूजियम, पार्किंग, स्पोर्टस कॉम्पलेक्स, एलईडी लाईट आदि कार्य भी जल्द कराए जाएंगे।
जिला कलक्टर श्री विश्व मोहन शर्मा ने आज कलेक्ट्रेट में आयोजित पत्रकार वार्ता में यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि स्मार्ट सिटी अजमेर को सलाहकार प्रोजेक्ट मैनेजमेंट कंसलटेंस (पीएमसी) 2 वर्ष के पश्चात् अनुबन्धित की जा चुकी है। इसके लिए स्मार्ट सिटी के सीईओ तथा एजीस इंडिया कंसल्टिंग इंजीनियर्स लिमिटेड के बीच एमओयू किया गया है। स्मार्ट सिटी लिमिटेड ने पीएमसी को 12 करोड़ 40 लाख रूपए में स्मार्ट सिटी के प्रोजेक्ट तैयार करने का ठेका दिया है। कम्पनी को 23 जुलाई से काम शुरू करते हुए 22 जनवरी 2021 तक 18 महीने में सम्पूर्ण कार्य पूरा करना होगा। यह कम्पनी स्मार्ट सिटी चंडीगढ़ तथा भुवनश्वर में भी सेवाएं प्रदान कर रही है। कम्पनी के अजमेर मे काम संभालने के बाद अजमेर में स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के कार्यों में गति आएगी।
ऎजिस के प्रतिनिधियों ने बताया कि कम्पनी एक अरब यूरो से अधिक के कुल कारोबार के साथ फ्रांस की इंजीनियरिंग और परियोजना प्रबंधन कम्पनी है। ऎजिस के दुनिया भर के 100 से अधिक देशों मे कार्यालय है। भारत में, ऎजिस लगभग 25 वर्षों से कार्य कर रही है। ऎजिस 8 मेट्रो परियोजनाओं, 3 स्मार्ट सिटी शहरों, 3 हवाई अड्डों, अमृत, पोर्ट्स और कई अन्य प्रमुख इन्फ्रा परियोजनाओं पर काम कर रही है। ऎजिस देश में सबसे अधिक कई प्रतिष्ठित परियोजनाओं के साथ डोमेन में फैला हुआ है।
अजमेर स्मार्ट सिटी लिमिटेड, अजमेर के मुख्य कार्यकारी अधिकारी एवं जिला कलक्टर विश्व मोहन शर्मा ने कहा, हमारे द्वारा ऎजिस कम्पनी का चयन किया गया है। यह एक वैश्विक कंपनी है एवं स्मार्ट सिटी के कार्यों की जानकारी रखती है। अब, हमें पूरा विश्वास है कि सलाहकार की अनुपलब्धता के कारण जो कार्य हुए थे, वे गति पकडे़गे और निष्कर्ष पर पहुँच कर समयबद्ध कार्यों का निष्पादन करना सुनिश्चित किया गया है।
श्री संदीप गुलाटी, मुख्य प्रबन्धक ऎजिस इंडिया कन्संलटींग इंजीनियस प्राइवेट लिमिटेड, गुड़गाँव ने कहा कि, ‘‘हम इस परियोजना के साथ जुड़कर बहुत खुश है। हम चंडीगढ़ और भुवनेश्वर स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट कर रहे है। यह हमारे लिए तीसरी स्मार्ट सिटी परियोजना है और हमें यकीन है कि हम अपने वैश्विक अनुभव और स्थानीय विशेषज्ञता का उपयोग कर अजमेर को एक वैश्विक स्मार्ट सिटी और एक शानदार पर्यटन स्थल बना सकते है।
स्मार्ट सिटी के प्रतिनिधियों ने आगामी वर्षों में पूर्ण होने वाले महत्वपूर्ण कार्यों का विवरण भी दिया उन्होंने बताया कि स्टेशन रोड पर भारी यातायात की समस्या के दूरगामी हल हेतु माट्रिन्डल ब्रिज से आगरा गेट एवं पुरानी आरपीएससी तक प्रस्तावित एलीवेटेड रोड़ (2.6 कि.मी.) लागत 220 करोड़ का कार्य मई 2018 को शुरू हो चुका था। कार्य पूर्ण करने की अवधि दो वर्ष है। इसी तरह शहर की जल विवरण व्यवस्था के सुद्ढीकरण हेतु स्मार्ट सिटी मिशन मद में 49.96 करोड रुपये जलदाय विभाग को दिए गए है एवं कार्य प्रगति पर है। आनासागर के चारों ओर चौपाटी, वॉक-वे आदि का सौन्दर्यीकरण का कार्य स्मार्ट सिटी योजना के अन्तर्गत किया जा रहा है। इसके लिए महावीर कॉलोनी न्यू चौपाटी तक 1.82 कि.मी. के कार्य का कार्यादश 27 दिसम्बर, 2017 को दिया जाकर कार्य प्रगति पर है। बर्ड पार्क बनाने हेतु निविदा जारी कर दी गई है। अन्य कार्य हेतु डीपीआर बनाई जा रही है। इसी प्रकार अजमेर शहर में स्मार्ट सिटी के तहत 42 राजकीय स्कूुलों में एक-एक कमरे को स्मार्ट क्लास के रूप में विकसित कराया जा रहा है। यह कार्य समसा के माध्यम से कराया जा रहा है। अन्य 10 स्कूलोंं के प्रत्येक 5 कमरों में स्मार्ट क्लासेज ओर बनाये जा रहे हैं तथा इस प्रकार 89 कमरों में सिविल एवं स्मार्ट क्लास का कार्य किये जा रहे हैं। कार्य प्रगति पर है। कुछ राजकीय स्कूलों को मोडल स्कूल बनाने हेतु डीपीआर बनाई जा रही है।
उन्होंने बताया कि शहर में शत प्रतिशत सीवर लाइन घरेलू कनेक्शन करने हेतु स्मार्ट सिटी मिशन के अंतर्गत 6 करोड़ के तीन कार्यादश जारी किए जा चुके हैं एंव 12 वार्डों में कार्य प्रगति पर है। शेष स्थानो हेतु कार्यवाही प्रक्रियाधीन है। नगर निगम अजमेर को सफाई एवं फायर फायटिंग कार्यों के सुदृढिकरण के लिए विभिन्न प्रकार के उपकरण एवं मशीनरी के कार्यादेश जारी किये जा चुके हैं एवं निगम को हस्तांतरित करना प्रक्रियाधीन है।
घर-घर ठोस कचरा प्रबन्धन कार्य प्रगति पर है एंव इसके सुदृढिकरण हेतु विभिन्न प्रकार की मशीनरी एवम् गाड़ियां क्रय करने हेतु कार्यवाही प्रक्रियाधीन है। अजमेर शहर के विभिन्न राजकीय हॉस्पीटल जैसे जवाहर लाल नेहरू हॉस्पीटल इत्यादि में विभिन्न प्रकार की आवश्यक सेवाएं उपलब्ध करवाने हेतु कार्यवाही प्रगति पर है।
उन्होंने बताया कि आगामी कार्ययोजना के तहत अरबन फारेस्ट के लिए पौधारोपण, रेलवे म्यूजियम, साईन्स पार्क, म्यूजिकल फाउण्टेन, पार्किंग, स्पोटर्स कॉम्पलेक्स, एलईडी लाईटस्, थीम बेस पार्क, स्मार्ट रोड, साईनेजेज, हैरिटेज सरंक्षण एवम् ई-गर्वनेन्स इत्यादि पर कार्यवाही की जा रही है।

राजस्व अधिकारियों की बैठक 27 को
अजमेर, 24 जुलाई। जिले के समस्त राजस्व अधिकारियों की बैठक आगामी 27 जुलाई शनिवार को प्रातः 11 बजे कलक्ट्रेट सभागार में आयोजित की जायेगी। अतिरिक्त जिला कलक्टर श्री आनंदी लाल वैष्णव ने यह जानकारी दी।

हाथकरघों बुनकरों के निःशुल्क फोटो पहचान पत्र बनाने की तिथि बढ़ाई
अजमेर, 24 जुलाई। हाथकरघा बुनकरों को राज्य / केन्द्र सरकार की योजनाओं में लाभ दिलवाए जाने के लिए बुनकर बाहुल्य क्षेत्रों में फोटो पहचान पत्र बनाने के लिए 8 जुलाई से लगाये जा रहे शिविर की तिथि बढ़ा कर 26 जुलाई कर दी गयी है।
जिला उद्योग केन्द्र के महाप्रबंधक ने बताया कि इस दौरान पहचान पत्र जिला उद्योग केन्द्र, अजमेर के परिसर में प्रातः 10 बजे से सांय 6 बजे तक बनाए जाएंगे। इच्छूक बुनकर कार्यालय में उपस्थित होकर अपना पहचान पत्र बनाने हेतु आवेदन कर सकते हैं।

कांटेदार, चैनलिंक तारबंदी पर अनुदान देय
अजमेर, 24 जुलाई। नीलगाय व आवारा पशुओं द्वारा फसलों को होने वाले नुकसान को रोकने के उद्देश्य से एनएफएसएम तिलहन योजना अन्तर्गत तारबंदी हेतु अनुदान सहायता की पहल की गई है। तारबंदी का कार्य सामुदायिक आधार पर किया जाएगा।
कृषि विभाग के उप निदेशक श्री वी.के. शर्मा ने बताया कि तारबंदी हेतु पेरीफेरी के कृषकों को अधिकतम 400 मी. तारबंदी पर लागत का 50 प्रतिशत अथवा अधिकतम राशि रूपए 40 हजार प्रति कृषक जो भी कम हो अनुदान दिया जाएगा। इससे कम लम्बाई की तारबंदी पर प्रोरेटा बेसिस पर गणना कर अनुदान देय होगा। पेरीफेरी में कम से कम 5 हैक्टेयर क्षेत्रफल शामिल होगा एवं कम से कम 3 कृषक होने चाहिए। योजना का लाभ सभी श्रेणी के कृषकों को दिया जाएगा। कृषक समूह बनाकर सामूहिक रूप से अथवा समूह के आधार पर एक कृषक द्वारा नजदीकी नागरिक सेवा केन्द्र, ई मित्र सेवा केन्द्र पर जाकर ऑनलाइन आवेदन कर सकता है। आवश्यक दस्तावेज के रूप में जमाबंदी की नकल (छः माह से अधिक पुरानी नहीं हो), जाति प्रमाण पत्र, कृषक श्रेणी प्रमाण पत्र, आधार कार्ड, बैंक पासबुक की फोटो प्रति की आवश्यकता होगी।

20 सूत्री कार्यक्रम की बैठक 29 को
अजमेर, 24 जुलाई। 20 सूत्री कार्यक्रम की द्वितीय स्तर समिति की बैठक जिला कलक्टर श्री विश्व मोहन शर्मा की अध्यक्षता में 29 जुलाई को प्रातः 10.30 बजे जिला कलेक्ट्रेट के सभागार में आयोजित की जाएगी। यह जानकारी मुख्य आयोजना अधिकारी ने दी।

कारगिल दिवस पर शहीदों को श्रृद्धांजलि समारोह 26 को
अजमेर, 24 जुलाई। कारगिल दिवस की बीसवीं सालगिरह पर शहीदों को श्रृद्धांजलि समारोह 26 जुलाई को दोपहर 12 बजे शहीद स्मारक, रेल्वे स्टेशन के सामने आयोजित किया जायेगा।

अतिरिक्त जिला मजिस्ट्रेट शहर श्री अरविन्द कुमार सेंगवा ने बताया कि कारगिल शहीद दिवस पर आयोजित होने वाले समस्त कार्यक्रमों के लिए जिला सैनिक अधिकारी को नोडल अधिकारी नियुक्त किया गया है।

Leave a Comment

error: Content is protected !!