बेहतर विधुत आपूर्ति उपलब्ध कराने के लिये दिये गये निर्देश

वीडियों कॉन्फ्रेंस के द्वारा डिस्कॉम के सभी कनिष्ठ अभियंताओं को आमजन को बेहतर विधुत आपूर्ति उपलब्ध कराने के लिये दिये गये निर्देश।
कुसुम योजना से कृषकों को किया जाये लाभांवित

अजमेर 01 अगस्त । अजमेर विधुत वितरण निगम लिमिटेड के प्रबंध निदेशक श्री वी.एस भाटी ने अजमेर डिस्कॉम के क्षेत्राधीन सभी कनिष्ठ अभियंताओं को वीडियों कॉन्फ्रेंस के द्वारा शहरी एवं ग्रामीण उपभोक्ताओं को 24 घण्टे एवं कृषि उपभोक्ताओं को 6-7 घण्टे निर्बाध आपूर्ति उपलब्ध कराई जाये।
प्रबंध निदेशक ने कन्जूमर टेगिंग, फीडर वार 11 के.वी एनर्जी ऑडिट, ए.टी.एण्ड.सी लोसेज का प्रतिदिन आंकलन कर विधुत छीजत में कमी लाना एवं राजस्व में बढौतरी करना सुनिश्चित करें।
जिस 11 के.वी फीडर पर 15 प्रतिशत से अधिक छीजत है उस फीडर को मॉडल के रूप में चुनकर छीजत कम करने का कार्य शुरू करें। विधुत तंत्र पर कार्य करते समय सुरक्षा उपकरणों का इस्तेमाल करें जिससे किसी भी प्रकार की घातक/अघातक दुर्घटना घटित न हों।
उन्होंनें कहां कि विधुत तंत्र में सुधार कर/अतिरिक्त ट्रांसफार्मर लगाकर कृषि उपभोक्ताओं को दो ब्लॉक में सप्लाई दिया जाना सुनिश्चित किया जाये। उन्होंने अभियंताओं को निर्देश देते हुये बताया कि जहां ट्रांसफार्मर पर अधिक लोड है वहां पर ट्रांसफार्मर की क्षमता में वृद्धि कर लोड विभाजन कर ट्रांसफार्मर जलने की समस्या में कमी लाई जाना सुनिश्चित करें साथ ही कुसुम योजना के अन्तर्गत कृषकों को सोलर प्लांट लगाने हेतु भूमि चिन्हित की जाये एवं उपभोक्ता को सोलर प्लांट लगाने के लिये उनका नाम, खाता संख्या लेकर आवेदन करने के लिये प्रेरित करे। प्रमाणीकरण करने के पश्चात् कुसुम योजना के तहत कनेक्शन देने की अग्रिम कार्यवाही की जाये। उक्त योजना से उत्पन्न होने वाली बिजली से किसान दिन में भी बिजली का उपयोग कर सिचाई कर सकेंगे साथ ही बची हुई बिजली किसान डिस्कॉम को बेच सकेंगे।

Leave a Comment

error: Content is protected !!