परीक्षार्थी मोबाइल के माध्यम से अपने परीक्षा दस्तावेज के लिए ऑनलाईन आवेदन कर सकेंगे

अजमेर 13 जनवरी। राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड नये वर्ष में अपने से सम्बद्ध लाखों विद्यार्थियों के सुविधार्थ एक नवाचार करने जा रहा है। गत 40 वर्षों में राजस्थान बोर्ड में पंजीकृत करोड़ों परीक्षार्थी अब घर बैठे अपने मोबाइल के माध्यम से अपने परीक्षा दस्तावेज यथा-मार्कशीट, परीक्षा प्रमाण-पत्र और माईग्रेशन के लिए ऑनलाईन आवेदन कर सकेंगे। इसके लिए उन्हें डेबिड कार्ड, क्रेडिट कार्ड या नेटबैंकिंग के माध्यम से निर्धारित शुल्क अदा करना होगा।
राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड के अध्यक्ष डॉ. डी.पी. जारोली ने बुधवार को बोर्ड सभागार में इस नवीन व्यवस्था की शुरूआत करते हुए कहा कि बोर्ड के इस नवाचार से बोर्ड से सम्बद्ध लाखों परीक्षार्थियों को, जो राजस्थान ही नहीं अपितु देश और विदेश में कार्यरत है, जिन्हें बोर्ड दस्तावेज लेने के लिए बोर्ड के अजमेर मुख्यालय आना पडता था, वे अब घर बैठे अल्प समय में अपने दस्तावेज प्राप्त कर सकेंगे। यह आवेदन 24ग्7 बोर्ड की वेबसाइट www.rajeduboard.rajasthan.gov.in पर उपलब्ध लिंक के माध्यम से किये जा सकेंगे।
डॉ. जारोली ने बताया कि प्रतिलिपि दस्तावेज प्राप्त करने के लिए अभ्यर्थी को डेबिड कार्ड, क्रेडिट कार्ड या नेटबैंकिंग के माध्यम से निर्धारित शुल्क अदा करना होगा। आवेदक को बोर्ड की वेबसाइट पर अपना आधार कार्ड भी अपलोड करना होगा ताकि वास्तविक अभ्यर्थी ही परीक्षा दस्तावेज प्राप्त कर सके। आवेदक द्वारा दिये गये मोबाइल नम्बर पर आवेदन प्रक्रिया पूरी होते ही बोर्ड कार्यालय से आवेदन पंजीयन संख्या ैडै सन्देश के माध्यम से प्राप्त होगी। कार्यालय समय में दोपहर 2.00 बजे तक प्राप्त आवेदनों का निस्तारण उसी दिन किया जाकर आवेदक के परीक्षा दस्तावेज जरिये स्पीड पोस्ट रवाना कर दिये जायेंगे। परीक्षा दस्तावेज तैयार होते ही इसकी सूचना भी ैडै के माध्यम से आवेदक के पंजीकृत मोबाइल नम्बर पर भेज दी जायेगी। दूसरे दिन आवेदक को स्पीड पोस्ट के जरिये भेजे गये परीक्षा दस्तावेज का स्पीड पोस्ट क्रमांक भी उपलब्ध करा दिया जायेगा ताकि वे अपने दस्तावेजों की ऑनलाईन ट्रेकिंग कर सके। बोर्ड का ध्येय है कि आवेदन के तीन कार्यदिवस के अन्दर चाहे गये दस्तावेज आवेदक के निवास स्थान पर पहंुच जाये।
इस अवसर पर बोर्ड सचिव अरविन्द कुमार सेंगवा ने बताया कि जहाँ कोरोना काल में सभी सरकारी और अर्द्ध सरकारी निकायों को अपने रोजमर्रा के कार्य करने में भारी परेशानी का सामना करना पड रहा था, वहीं दूसरी ओर राजस्थान बोर्ड ने प्रदेश के विद्यार्थियों और शिक्षकों के लिए अनेक नवाचार किये। बोर्ड ने अपने से जुडने वाले नये विद्यालयों को सम्बद्धता देने की प्रक्रिया पिछले दिनों ऑनलाईन कर दी थी। इस नई व्यवस्था से सम्बद्धता प्रदान करने की प्रक्रिया पूर्णतयाः पारदर्शी हो गई। इसके साथ ही बोर्ड की उत्तरपुस्तिकाओं का मूल्यांकन करने वाले हजारों परीक्षकों और बोर्ड परीक्षा केन्द्र बनने वाले विद्यालयों की लेखा संबंधी शंकाओं का निस्तारण करने के लिए ऑनलाईन एप लॉन्च किया गया। इस एप पर दर्ज समस्याओं का निस्तारण आगामी कार्य दिवस में आवश्यक रूप से कर दिया जाता है। परीक्षा परिणामों की त्वरित घोषणा की दृष्टि से बोर्ड ने कोरोना काल में वर्ष 2020 के परीक्षाओं के सभी प्राप्तांक परीक्षकों से ऑनलाईन मंगवाये, जिसके कारण राजस्थान बोर्ड ने रिकार्ड न्यून समय एक माह में 20 लाख से भी अधिक परीक्षार्थियों का परीक्षा परिणामों की घोषणा कर देश में इतिहास रच दिया। बोर्ड की सभी पाठ्यपुस्तकें, कोरोना काल में कम किया गया पाठ्यक्रम ऑनलाईन किया जा चुका है और शीघ्र ही बोर्ड की आगामी परीक्षाओं के लिए विद्यार्थियों एवं शिक्षकों के सुविधार्थ मॉडल प्रश्न पत्र भी ऑनलाईन करने जा रहा है।

उप निदेषक (जनसम्पर्क)

Leave a Comment

This site is protected by reCAPTCHA and the Google Privacy Policy and Terms of Service apply.

error: Content is protected !!