मोटापा दिखने में तो बुरा है ही स्वस्थ जीवन के लिए भी अच्छा नहीं

जी आई एंड बेरियाट्रिक सर्जन डॉ एस पी जिंदल ने दिया परामर्श
अजमेर, 26 सितम्बर( )। मित्तल हॉस्पिटल एंड रिसर्च सेंटर अजमेर में रविवार, 26 सितम्बर 2021 को सुबह 10 से 1 बजे तक आयोजित निःशुल्क मोटापा (ओबेसिटी) जांच एवं परामर्श शिविर में अनेक लोगों ने लाभ उठाया। शिविर में मित्तल हॉस्पिटल के गैस्ट्रो-लेप्रोस्कोपिक एंड बेरियाट्रिक सर्जन डॉ एस पी जिंदल ने पंजीकृत लोगों से खुला संवाद करते हुए कहा कि मोटापा दिखने में तो बुरा लगता ही है स्वस्थ जीवन के लिए भी अच्छा नहीं होता। मोटापा अपने आप में दुनिया की सबसे खतरनाक बीमारी है जो अकेले नहीं आती अपने साथ अन्य कई बीमारियों को भी लाती है। इस पर गंभीर चिंतन की जरूरत है अधिक चिंता की नहीं क्यों कि वतर्मान चिकित्सा विज्ञान ने इसके निदान के मेडिसिन और सर्जरी दोनों की मार्ग उपलब्ध करा दिए हैं। बेरियाट्रिक सर्जरी मोटापे से निजात के लिए आज की सबसे कारगर तकनीक है।
शिविर में फिजियोथैरेपिस्ट डॉ बी एल गुर्जर ने कहा कि विगत दो वर्षों में कोरोना पेंडेमिक के चलते युवा उम्र लोगों ने अपना वनज काफी बड़ा लिया है। इसका मुख्य कारण युवाओं का घरों में रहकर ही ऑफिस का काम करना, फिजिकल एक्सरसाइज का कम होना, खान-पान में जंक फूड का चलन बढ़ जाना, दिन भर टीवी व मोबाइल पर ही समय बिताना मुख्य कारण रहे हैं। उन्होंने बताया कि उनकी राय में प्रत्येक व्यक्ति को मोटापा से बचने के लिए 24 घंटों में से कम से कम 3 घंटे खुद के शरीर को देने चाहिए। इसमें वे तकरीबन तीन से चार किलोमीटर पैदल चले, हल्का फुल्का व्यायाम, योगा और मेडिटेशन करे। जहां तक संभव हो तला भुना और जंक फूड से परहेज करें।
डायटीशियन श्रीमती संगीता सक्सेना ने सलाह दी कि आहार और व्यायाम के सही संतुलन से ही मोटापे से बचा जा सकता है। उन्होंने कहा कि कोरोना काल ने लोगों को नियमित व्यायाम करना चाहिए। कोशिश रहे कि भोजन में प्रोटीन, विटामिन, हरी सब्जी और सलाद व फ्रूट को नियमित भोजन में शामिल करें।
निदेशक मनोज मित्तल ने बताया कि शिविर में पंजीकृत लोगों को बॉडी मास इंडेक्स जांच, रक्तचाप की जांच, बॉडी फेट एनालिसिस निःशुल्क किया गया। उन्होंने बताया कि इसके अतिरिक्त चिकित्सक द्वारा निर्देशित जांचों पर 25 प्रतिशत तक तथा ऑपरेशन व प्रोसीजर्स पर 10 प्रतिशत तक की छूट अगले 7 दिवस तक दी गई है।। निदेशक मित्तल ने बताया कि पंजीकृत रोगियों सहित सभी के लिए 26 सितम्बर से 2 अक्टूबर तक ओबेसिटी हैल्थ चैक-अप पैकेज विशेष रियायती दरों पर उपलब्ध कराया गया हैं। करीब 4 हजार 340 रुपए की जांचें रियायती दरों पर 1 हजार 950 रुपए में ही उपलब्ध हैं।
मित्तल ने बताया कि हॉस्पिटल में कोरोना गाइडलाइन की शत प्रतिशत पालना की जा रही है। हॉस्पिटल में प्रवेश से पूर्व स्क्रीनिंग सुविधा, सोशल डिस्टेंसिंग की पालना, मास्क की अनिवार्यता तथा सैनिटाईजेशन नियमों को पूरी शिद्दत से अपनाया जा रहा है।

Leave a Comment

This site is protected by reCAPTCHA and the Google Privacy Policy and Terms of Service apply.

error: Content is protected !!