भाजपा नेता विनायका का कद बढ़ा

पार्टी ने दी जिम्मेदारी चुरू क्षेत्र के दो विधानसभाओं का चुनाव प्रभारी बनाया
भाजपा युवा नेता केकड़ी नगरपालिका के पार्षद व विधानसभा चुनाव में भाजपा के प्रत्याशी रहे राजेंद्र विनायका को पार्टी ने उनकी कार्यकुशलता को देखते हुए चुरू लोकसभा क्षेत्र की दो विधानसभा भादरा व हनुमानगढ़ विधानसभा क्षेत्र का चुनाव प्रभारी नियुक्त किया है। इस लोकसभा क्षेत्र के प्रभारी भाजपा के वरिष्ठ कद्दावर नेता धर्मनारायण जोशी व भाजपा के प्रदेश मंत्री छगन माहुर हैं। विनायका आज दोपहर चूरू क्षेत्र में पहुंच चुके हैं, उनके साथ अजमेर भाजपा युवा मोर्चा के जिलाध्यक्ष ज्ञानेश्वर व्यास व युवा नेता प्रियंक दाधीच भी साथ गए हैं। आज विनायका ने चूरू क्षेत्र के कार्यकर्ताओं की बैठक ली तथा आवश्यक दिशा निर्देश दिए वहीं उन्होंने चूरू में कल होने वाले सन्नी देओल के रोड़ शो की तैयारियों का जायजा लिया। इस मौके पर उनके साथ प्रदेश मंत्री छगन माहुर, चूरू जिलाध्यक्ष पंकज गुप्ता, प्रदेश युवा मोर्चा के मंत्री संजय धाकड़ सहित कई नेता मौजूद थे। उल्लेखनीय है कि राजेन्द्र विनायका अजमेर संसदीय चुनाव के लिए केकड़ी विधानसभा क्षेत्र से चुनाव प्रभारी थे। अब उन्हें पार्टी ने चुरू लोकसभा क्षेत्र की दो विधानसभाओं का प्रभारी बनाकर संगठन ने उनकी काबिलियत पर विश्वास जताया है। विनायका को नई जिम्मेदारी सौंपे जाने पर क्षेत्र के कार्यकर्ताओं व समर्थकों ने खुशी जाहिर करते हुए उन्हें बधाई व शुभकामनाएं दी हैं। वहीं उनके उज्ज्वल राजनीतिक भविष्य की मंगल कामना की है। क्षेत्र के भाजपा नेताओं का कहना है कि भले ही हमें गत विधानसभा चुनाव में सफलता नहीं मिली, लेकिन इस लोकसभा चुनाव में अजमेर संसदीय चुनाव में हम विनायका के कुशल नेतृत्व केकड़ी विधानसभा क्षेत्र से अच्छे मतों से बढ़त ले रहे हैं। इस बारे में राजेंद्र विनायका ने कहा कि पार्टी ने उन्हें जो जिम्मेदारी दी है उसे पूरी मेहनत व ईमानदारी से निभाएंगे। उन्होंने संगठन के प्रांतीय नेताओं का आभार व्यक्त करते हुए बड़े आत्मविश्वास के साथ कहा कि लोकसभा चुनाव के दौरान हम अजमेर तो जीत चुके हैं, अब चुरू की बारी है। उन्होंने कहा कि राजस्थान में हम सभी सीटें जीत रहे हैं, वहीं केंद्र में मोदी के नेतृत्व में भारी बहुमत के साथ एनडीए सरकार बनाएगी। गौरतलब है कि राजेन्द्र विनायका बेहद सरल व हंसमुख स्वभाव, मिलनसार, जिम्मेदार, सेवाभावी, कुशल युवा राजनेता होने की वजह से न केवल क्षेत्र के भाजपाइयों की पसन्द है बल्कि इन चार-पांच महीनों में उन्होंने प्रदेश व केन्द्रीय नेताओं के बीच भी अपनी पहचान बना ली है। विनायका पिछले दस सालों से लगातार राजनीति में सक्रिय रहे हैं। उन्होंने वर्ष 2013 में भी विधानसभा चुनाव लड़ने के लिए पार्टी से टिकट मांगा था लेकिन उन दिनों शायद विनायका के सितारे इतने बुलंद नहीं थे। इस बार उन्हें ऐनवक्त पर भाजपा ने केकड़ी विधानसभा क्षेत्र से प्रत्याशी बनाया, लेकिन राज्य में भाजपा सरकार की एंटी इनकम्बेंसी के चलते वे चुनाव हार गए। वहीं राजेन्द्र विनायका राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ से वर्षों से लगातार जुड़े हुए हैं वे संघ की भी पसंद हैं। राजेन्द्र विनायका पहले पार्षद हैं जिन्हें नगरपालिका चुनाव में सभी पार्षदों से अधिक ही नहीं भारी अंतरों से विजय मिली थी। राजेंद्र विनायका का जन्म ही भाजपा से जुड़े परिवार में हुआ, उनकी माता सज्जन कंवर भाजपा की पार्षद रह चुकी हैं, वहीं पिता शांतिलाल विनायका बरसों तक भाजपा के शहर मंडल अध्यक्ष रहे हैं।

तिलक माथुर
*9251022331*

Leave a Comment

error: Content is protected !!