सकारात्मक विचारों से विद्धार्थीओं में बढ़ती है ऊर्जा और स्मरण षक्ति

छतरपुर- 22 फरवरी 2019- मध्य प्रदेष बोर्ड परीक्षा के पूर्व विद्धाथिओं में सकारात्मकता के विचारों से उन्हे समृध्दषली और ऊर्जावान बनाने केलिए मानसिक स्वच्छता और अच्छे विचारों से ष्षक्ति प्रदान करने के लिए बुन्देलखण्ड के समाजसेवी संतोष गंगेले कर्मयोगी लगातार जिला के विभिन्न षिक्षण संस्थाओं में निजी वाहन से पहुॅच कर अपने अनुभव और नैतिक षिक्षा और संस्कारों के माध्यम से बच्चों में षिक्षा और संस्कारों के प्रति जन जागरूकता कर उन्हे परीक्षा की तैयार के लिए अनेक सुझाव और संकल्प दिलाकर तैयार करने में लगे है ।
समाजसेवी संतोष गंगेले कर्मयोगी ने ष्षा0 नहेरू उ0मा0वि0 महाराजपुर षिक्षण संस्था के बच्चों परीक्षा और संस्कार विषय पर आयोजन गोष्ठी में कहा कि सकारात्मक विचारों से विद्धार्थीओं में बढ़ती है ऊर्जा और स्मरण षक्ति आती है तथा नकारात्मक विचारों का पतन होता है इसलिए प्रत्येक विद्धार्थी को परीक्षा के समय अपनी तैयार सावधानी और आत्म विष्वास के साथ करना चाहिए । इस अवसर पर संस्था के प्राधानाध्यपक श्री एम एल कुषवाहा ने बच्चों समाजसेवी संतोष गंगेले के विचारों को जीवन में अपनाने पर बल दिया । इसके पूर्व महाराजपुर क्षेत्र के ग्राम नेगॅूवा प्राथमिक पाठषाला एवं ष्ष नेगूॅूवा गुंदारा में प्रधान अध्यापक श्री के एल सोनी तथा ष्षाला प्रबंधन समिति के अध्यक्ष श्री संजय अहिरवार की उपस्थित में बच्चों को षिक्षा और संस्कारों के बारे में विस्तार से समझाया गया । इस संस्था की व्यवस्था महाराजपुर विधान सभा से सबसे उत्तम देखी गई यहां के षिक्षा की के एल सौनी लगातार बच्चों को उत्साहित और सम्मानित षिक्षा ग्रहण कराने में लगे है । ष्षा0मा0षा नेगॅूवा के प्रधान अध्यापक श्रीमती साधना चौरसिया षिक्षक श्री अरविन्द्र कुमार चौरसिया ने इस जन जागरण अभियान को समाज हित में बताते हुए बच्चों में उत्तम षिक्षा पर वल दिया ।
ष्षा0उ0मा0वि0झमटुली बमीठा, ष्षा0मा0षाला औटा पुरवा जैसे ग्रामीण क्षेत्रो में संचालित षिक्षण संस्थाओं में भी षिक्षा को षिखर पर पहुॅचाने केलिए निजी बाहन और अपने धन को खर्च कर हजारों बच्चों को विभिन्ना बिषयों को लेकर जन जाग्रति करने में लगे संतोष गंगेले कर्मयोगी के इस सराहनीय कमद का प्रत्येक षिक्षण संस्था के बच्चों और षिक्षक करने में लगे है । इस प्रकार के समाजिक समरसता के कार्य करने केलिए यदि समाज में 5 लोगें ही आगे आ जावे तो ग्रामीण एवं पिछडे इलाकों की षिक्षण व्प्यवस्था में अत्याधिक सुधार हो सकता है । प्रषासन और जन प्रतिनिधिओं को चाहिए कि बच्चों के षिक्षा के लिए आवष्यकत सामग्री और प्रत्येक स्कूलों मे पानी की व्यवस्था आवष्यक करे ।

Leave a Comment