सरकारी चिकित्सको के समर्थन में आये निजी चिकित्सक

21 से 9 से 11 निजी चिकित्सल्य बन्द रखने का निर्णय

badmer newsबाड़मेर राज्य सरकार की दमनकारी नीति का शिकार हो रहे सरकारी चिकित्सको के समर्थन में बाड़मेर के निजी चिकित्सल्य के चिकित्सक आगे आये। आज मानक चिकित्सल्य में निजी चिकित्सालयों के चिकित्सकों की अहम बैठक का आयोजन कर सर्व सम्मति से निर्णय लिया कि अगर सरकार द्विपक्षीय वार्ता कर सम्मानजनक समझौता नही करती है तो निजी चिकित्सल्य के चिकित्सक सरकारी चिकित्सको के समर्थन में इक्कीस दिसम्बर से प्रातः नो बजे से ग्यारह बजे तक निजी चिकित्सल्य बन्द रखेंगे।यदि फिर भी समझौता नही होता तो निजी चिकित्सल्य पूर्णत बन्द रखे जाएंगे।।

मानक हॉस्पिटल में आयोजित बैठक में निजी चिकित्सक डॉ आर के माहेश्वरी, डॉ पंकज अग्रवाल, डॉ स्नेहल कटुडिया,डॉ विकास चौधरी, डॉ राहुल बामनिया,डॉ किशन कुमावत,डॉ आर आर चौधरी, डॉ विमल वडेरा,डॉ भानु प्रकाश बंसल डॉ हरीश जांगिड़ सहित कई चिकित्सक उपस्थित थे।चिकित्सको ने सरकार के रवैये की निंदा करते हुए कहा कि जब हड़ताल दो पक्षीय समझौते पर समय हो गई थी।उसके बाद सरकार द्वारा चिकित्सको के तबादले करना,उन्हें प्रताड़ित करना, समझौता लागू नही कर हठधर्मिता का परिचय दिया।उन्होंने बताया कि चिकित्सको की रात में धरपकड़ पूर्णतः गलत है।चिकित्सको को ऑन ड्यूटी पुलिस द्वारा उठाना दमनकारी था।चिकित्सको की छवि आमजन के सामने खलनायक वाली जानबूझ कर पेश की जा रही है।जबकि सरकार खुद द्विपक्षीय समझौते को लागू नही करना चाहती।चिकित्सको को प्रताड़ित किया जा रहा है जो बर्दास्त नही किया जयेगा।।निजी चिकित्सको ने आमजन और विभिन संगठनों से चिकित्सको के लिए समर्थन मांगा।।सरकार को द्विपक्षीय वार्ता कर असमंज की स्थिति समाप्त करने की अपील की।।अंत मे निर्णय लिया कि सरकार सम्मानजनक वार्ता नही करती तो निजी चिकित्सल्य सरकारी चिकित्सको के समर्थन में निजी चिकित्सल्य बन्द रखेंगे ।।

Leave a Comment

error: Content is protected !!