राज्य स्तरीय सिन्धी नाट्य समारोह 25 फरवरी को उदयपुर में

जयपुर, 8 फरवरी (वि.)। राजस्थान सिन्धी अकादमी द्वारा झूलेलाल सेवा समिति, उदयपुर के सहयोग से सुखाड़िया रंगमंच, उदयपुर में 25 फरवरी को ‘‘राज्य स्तरीय सिन्धी नाट्य समारोह’’ का आयोजन किया जायेगा।
अकादमी अध्यक्ष श्री हरीश राजानी ने बताया कि विलुप्त हो रही प्राचीन सिन्धी कला एवं संस्कृति के संरक्षण एवं संवर्द्धन के उद्देष्य से तथा राज्य में सिन्धी रंगमंच को बढ़ावा देने के लिए यह आवश्यक है कि अधिक से अधिक सिन्धी सांस्कृतिक कार्यक्रम तथा सिन्धी नाट्य समारोह आयोजित किये जावें। इसी कड़ी में अकादमी द्वारा सिन्धी रंगमंच को प्रोत्साहन के लिये राज्य स्तरीय सिन्धी नाट्य समारोह का आयोजन किया जा रहा है।
अकादमी सचिव श्री ईश्वर लाल मोरवानी ने बताया कि नाट्य समारोह में राजस्थान के विभिन्न शहरों की नाट्य मण्डलियों द्वारा अपने नाटकों का मंचन किया जायेगा। जिसमें सिन्धु साहित्य ऐं कल्चरल सोसाइटी, अजमेर द्वारा डा0 सुरेष बबलानी के निर्देषन में ’’पीउ डह नंबरी त पुटु सौ नंबरी’’, नवयुवक कला मण्डल, बीकानेर द्वारा श्री सुरेष हिन्दुस्तानी के निर्देषन में ’’मसखरे जी दिल’’, सिन्धी कल्चरल सोसायटी, बाड़मेर द्वारा श्री गोपीकिषन शर्मा के निर्देषन में ’’दिसो भगत जा हाल’’ एवं ज्योति कला संस्थान, जयपुर द्वारा श्री सुरेष सिन्धु के निर्देषन में ’’ख़ीसे में नाहे मालु, ज़ाल करे थी तालु’’ का मंचन किया जायेगा।
(ईश्वर लाल मोरवानी)
सचिव

Leave a Comment

error: Content is protected !!