हुनर की शक्ति से ही बेरोजगारी से मुक्ति मिल सकती है

बीकानेर। जन शिक्षण संस्थान, बीकानेर कौशल विकास एवं उद्यमिता मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा संचालित मेकअप प्रशिक्षण कार्यक्रम का रामपुरा स्थित गली नंबर 2 में समापन किया गया। महिला स्वरोजगार को बढ़ावा देने के उद्देश्य के साथ इस 75 दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम में प्रशिक्षणर्थियों को मेकअप से संबंधित सभी जानकारियां दी गई। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि पूर्व वार्ड पार्षद दीपक अरोड़ा ने प्रशिक्षणर्थियों का उत्साह बढ़ाते हुए कहा कि वे प्रशिक्षण के बाद स्वरोजगार के लिए स्वयं का ब्यूटी पार्लर शुरू कर सकती है।
इस मौके पर बीकानेर प्रौढ़ शिक्षण समिति के व्यवस्था सचिव अविनाश भार्गव ने कहा कि हमारा देश विश्व में सबसे अधिक युवाशक्ति वाला देश है। इसी के साथ यह भी सत्य है कि हमारे देश में युवाओं के सामने सबसे बड़ी समस्या आर्थिक रूप से आत्मनिर्भर बनने की है। बेरोजगारी के इस विकट दौर में युवाओं के सामने आत्मनिर्भरता प्राप्त करना बहुत मुश्किल हो रहा है। ऐसी स्थिति में युवाओं को मात्र सरकारी नौकरी पाने की ललक में नहीं रहकर अपना रूझान व्यावसायिक कौशल प्राप्त कर रोजगार और स्वरोजगार के माध्यम से आत्मनिर्भर बनने की ओर करना चाहिए। क्योंकि हुनर की शक्ति से ही बेरोजगारी से मुक्ति मिल सकती है।
इस अवसर पर जन शिक्षण संस्थान की अध्यक्ष डॉ. विभा बंसल ने कहा कि युवाशक्ति व्यावसायिक कौशल का महत्व समझें और अपनी रूचि का काम सीखें साथ ही दुसरे युवाओं को भी प्रेरित करें।
संस्थान के सहायक कार्यक्रम अधिकारी ने बताया कि संस्थान 2001 से आर्थिक, सामाजिक व शैक्षणिक दृष्टि से कमजोर एवं जरूरतमंद लोगों को उनकी रूचि एवं स्थानीय परिवेश की आवश्यकतानुसार व्यावसायिक कौशल का प्रशिक्षण देकर उन्हें स्वरोजगार के लिए प्रेरित कर रहा है।
संस्थान के उमाशंकर आचार्य ने कहा कि प्रशिक्षण केन्द्र 1 नवम्बर से शुरू किया गया था। 75 दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम में मेकअप संबंधी सभी जानकारियां पाठ्यक्रम के अनुसार प्रतिभागियों को दी गई। संस्थान के तलत रियाज ने कहा कि प्रशिक्षण में समय समय पर जीवन कौशल शिक्षा के बारे में जानकारी दी गई। जिससे इनका व्यक्तिगत विकास भी हो सके। अनुदेशिका श्रीमती सूरजमुखी खडग़ावत ने प्रशिक्षण का प्रतिवेदन प्रस्तुत कर सभी प्रशिक्षणार्थियों को भविष्य में इस कार्य में और अधिक गति देने के लिए प्रोत्साहित किया। इस अवसर पर वर्षा लूणा, रेखा नायक, सुष्मिता, रजिया, लक्ष्मी, अशोका, संजना गिरी, निधि खडग़ावत, साक्षी आदि ने अपने हुनर को भविष्य में आजीविका बनाने की बात कही। इससे पूर्व कार्यक्रम के प्रारंभ में मां सरस्वती की पूजा अर्चना की गई। कार्यक्रम में अंत में सभी आगन्तुकों का आभार अनुदेशिका सूरजमुखी खडग़ावत ने प्रकट किया।

Leave a Comment

error: Content is protected !!