युवा सांस्कृतिक प्रतिभा खोज महोत्सव 20 फरवरी से

ब्लाॅक/जिला/संभाग स्तर पर होगी शास्त्रीय एवं सांस्कृतिक प्रतियोगिताएॅ
प्रतिभाशाली युवा कलाकारों को करें प्रोत्साहित – डा. शेलेन्द्र देवड़ा

बीकानेर,11 फरवरी। राजस्थान युवा बोर्ड एवं प्रमुुख शासन सचिव युवा मामले एवं खेल विभाग राजस्थान सरकार जयपुर के निर्देशानुसार युवा सांस्कृतिक प्रतिभा खोज महोत्सव का आयोजन राजस्थान राज्य भारत स्काउट व गाइड के माध्यम से बीकानेर जिले में किया जायेगा। इस संबध में कलेक्ट्रट सभागार में अतिरिक्त जिला कलक्टर (नगर) शेलेन्द्र देवडा की अध्यक्षता में बैठक का आयोजन किया। जिसमें जिले के विभिन्न विभागों के अधिकारी, संगीत व कला से संबधित संगठनों ने भाग लिया।
शेलेन्द्र देवडा ने कहा कि युवा सांस्कृतिक प्रतिभा खोज महोत्सव का उद्धेश्य ‘‘राज्य के प्रतिभाशाली युवा कलाकारों की खोज करके, उन्हें प्रशिक्षण एवं छात्रवृति की सुविधा देकर ब्लाॅक से जिला, संभाग व राज्य स्तर से होते हुए राष्ट्रीय स्तर पर उत्कृष्ट प्रदर्शन हेतु तैयार करना है। इस हेतु भाग लेने वाले प्रतिभागियों को 18 फरवरी तक राजस्थान युवा बोर्ड की वेबसाइड पर अथवा संबधित आयोजन स्थल व स्काउट गाइड मण्डल मुख्यालय बीकानेर पर सम्पर्क कर आॅनलाईन आवेदन किया जाना अनिवार्य होगा। सभी अधिकारी एवं नोडल पर्याप्त प्रचार प्रसार करते हुए योग्य एवं प्रतिभाशाली युवाओं की सहभागिता करवाया जाना सुनिश्चित करावें।
जिले की ब्लाॅक स्तरीय प्रतियोगिताओं के लिये 20 फरवरी तिथि तय की गई एवं ब्लाॅक नोखा, कोलायत, श्रीडूंगरगढ, खाजूवाला, लूनकरनसर, पांचू के लिये संबधित राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय को आयोजन स्थल एवं संबधित संस्था प्रधान को नोडल अधिकारी नियुक्त किया गया। बीकानेर ब्लाॅक की प्रतियोगिता टाउन हाॅल में आयेजित होगी। जिला स्तरीय प्रतियोगिता 24 फरवरी को एवं संभाग स्तरीय प्रतियोगिताएं 26 फरवरी को रविन्द्र रंगमच में आयोजित होगी।
बीकानेर मण्डल के सहायक राज्य संगठन आयुक्त स्काउट दिलीप कुमार माथुर ने बताया कि इस महोत्सव में विभिन्न 20 सांस्कृतिक प्रतियोगिताएंे ‘‘ फाॅक डान्स (लोक नृत्य), फाॅक सांग (लोक गायन), एकल गायन (हिन्दुस्तानी गायन), क्लासिकल डान्स – कथक, भारतनाट्यम, ओड़िसी, चित्रकला, नाटक, आशु भाषण, क्लासिकल इन्सटूमेन्टल सोलो – सितार, बासूरी, तबला, मृदंग, वीणा, हारमोनियम, गिटार आदि आयोजित की जाएगी। इसके साथ ही राजस्थान में लुप्त हो रही कलाएं फड़, रम्मत, रावण हत्था, अलगोजा की प्रतियोगिताओं का भी आयोजन किया जा रहा है। 15 से 25 वर्ष के युवा इस महोत्सव में भाग ले सकेगें।
बैठक में सी.ओ. स्काउट जसवन्तसिंह राजपुरोहित को आयोजन सचिव नियुक्त किया।

Leave a Comment